Top

UP महिला आयोग मेंबर का बेतुका बयान, लड़कियों को मोबाइल देना अपराध बढ़ने की है वजह

UP Women's Commission की सदस्य मीना कुमार का कहना है कि महिलाओं को मोबाइल नहीं देना चाहिए, यही अपराध बढ़ाने की वजह है।

Network

NetworkNewstrack NetworkShreyaPublished By Shreya

Published on 10 Jun 2021 12:44 PM GMT

UP महिला आयोग मेंबर का बेतुका बयान, लड़कियों को मोबाइल देना अपराध बढ़ने की है वजह
X

UP महिला आयोग मेंबर मीना कुमारी (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

UP Women Commission Member Meena Kumari: आज के समय में जहां लोग महिलाओं के हक की बात कर रहे हैं और उनके खिलाफ हो रहे अपराधों के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद कर रहे हैं तो वहीं कुछ लोग ऐसे ही हैं जो औरतों को चार कदम पीछे खींचने की बाते करते हैं। ये बातें तब और हैरान करती हैं जब महिलाओं के हक में आवाज उठाने वाली संस्था का ही कोई सदस्य महिलाओं के खिलाफ बातें करे।

ऐसा ही कुच किया है उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग की सदस्य मीना कुमारी ने। UP महिला आयोग की सदस्य ने लड़कियों पर बेतुकी बयानबाजी करते हुए कहा कि महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ने की वजह उनका मोबाइल फोन इस्तेमाल करना है। यही नहीं उन्होंने यहां तक कह डाला कि लड़कियां फोन पर बात करते करते लड़कों संग भाग जाती हैं। अब उनके इस बयान को लेकर हर जगह उनकी निंदा शुरू हो गई है।

लड़कियों को न दें मोबाइल

मीना कुमारी का कहना है कि लड़कियों को मोबाइल ना दें, बढ़ते अपराध की सबसे बड़ी वजह यही है। ऐसा करने से लड़कियां लड़कों से बात करते करते भाग जाती हैं। यही नहीं उन्होंने कहा कि समाज में इस तरह के मामले रुक नहीं रहे हैं। हम लोगों के साथ साथ समाज को भी इसमें पैरवी करनी होगी। महिला आयोग की सदस्य यहीं नहीं रूकीं, उन्होंने कहा कि अपनी बेटियों को देखना होगा, कहां जा रही हैं और किस लड़के के साथ बैठ रही हैं।

इसके साथ ही मोबाइल भी चेक करना होगा। लड़कियां मोबाइल पर बातें करती रहती हैं और बात यहां तक पहुंच जाती है कि वो भाग जाती हैं। उन्होंने कहा कि घरवाले बेटियों को मोबाइल न दें और अगर दें तो फिर उनपर निगरानी रखें। मैं सबसे पहले माताओं से कहती हूं कि अपनी बेटियों का ध्यान रखें। मां की लापरवाही की वजह से बेटियों का हश्र होता है। मीना कुमारी ने यह बयान अलीगढ़ में दिया। वहीं बयान पर बवाल मचने के बाद भी मीना कुमारी अपने बयान पर अड़ी हुई हैं।

बयान को लेकर कही ये बात

वहीं जब उनके बयान की हर जगह निंदा शुरू हुई तो उन्होंने कहा कि मैंने विवादित बयान नहीं दिया है। मैंने ये कहा कि जो नाबालिग लड़के लड़कियां होते हैं उन्हें फोन ना दिया जाए। उन्होंने कहा कि मैं उनकी सुरक्षा के लिए ही ये बात कह रही हूं। मेरे पास इस तरह के केस आते हैं जब लड़कियां मोबाइल के जरिए घर से चली गई हैं। उन्होंने मां बात से अपील करते हुए कहा कि वो उनका मोबाइल चेक करें कि वे किससे बात कर रही है। परिवार को समय-समय पर यह करना चाहिए।

दिल्ली महिला आयोग अध्यक्ष ने साधा निशाना

वहीं, इस बयान पर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने मीना कुमारी पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया कि नहीं मैडम, लड़की के हाथ में फोन बलात्कार का कारण नहीं है। बलात्कार का कारण है ऐसी घटिया मानसिकता जो अपराधियों के हौसले और बढ़ाती है। प्रधानमंत्री जी से निवेदन है सभी महिला आयोगों को जरा सेंसिटाइज करवाइए। एक दिन दिल्ली महिला आयोग की कार्यशैली देखने भेजिए, हम सिखाते हैं इन्हें!

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story