×

UPTET Paper Leak: UPTET पेपर लीक का मुख्य आरोपी निर्दोष चौधरी ने किया आत्मसमर्पण

UPTET Paper Leak: UPTET पेपर लीक मामले का मुख्य आरोपी निर्दोष चौधरी (Nirdosh Chaudhary) ने कैराना कोर्ट में आत्मसमर्पण (surrender) किया है।

Network
Updated on: 14 Dec 2021 6:06 AM GMT
uptet exam cancelled
X

पेपर लीक (फोटो : सोशल मीडिया )

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

UPTET Paper Leak: उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (Uttar Pradesh Teacher Eligibility Test) के पेपर लीक मामले का मुख्य आरोपी निर्दोष चौधरी (Nirdosh Chaudhary) ने कैराना कोर्ट में आत्मसमर्पण (surrender) किया है। इस मामले में अब तक 30 से अधिक लोग गिरफ्तार (uptet paper leak arrest) हो चुके हैं, वहीं एक आरोपी अभी भी फरार चल रहा है।

जानकारी के मुताबिक, आरोपी निर्दोष चौधरी पेशे से एक सरकारी अध्यापक है और वह अलीगढ़ के प्राइमरी स्कूल में पढ़ता है। यूपीटीईटी पेपर लीक (UPTET paper leak) मामले को लेकर पुलिस लगातार छानबीन कर रही है। इसी छानबीन के मुख्य आरोपी निर्दोष चौधरी आत्म समर्पण करने के लिए सुबह ही कोर्ट पहुंच गया। इसी दौरान एसटीएफ टीम (STF Team) भी शामली पहुंची। जब तक एसटीएफ टीम उसे गिरफ्तार करती, उससे पहले ही आरोपी आत्मसमर्पण कर दिया। फिलहाल एसटीएफ आरोपी को रिमांड पर लेकर उससे पूछताछ करेगी।

निर्दोष चौधरी पर आरोप है कि उसने शामली में मेरठ सॉल्वर गैंग का कांधला निवासी विकास को पांच लाख में यूपीटीईटी (UPTET) का पेपर बेचा था। इसकी जानकारी मिलते ही यूपीटीईटी का पेपर रद्द कर दिया गया। इस मामले को लेकर एसटीएफ टीम निर्दोष चौधरी और विकास को ढूंढ रही थी। निर्दोष चौधरी के सरेंडर करने के बाद पुलिस विकास को ढूंढने में लगी हुई है।

मालूम हो कि 28 नवंबर को उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (Uttar Pradesh Teacher Eligibility Test (UPTET)) का आयोजन किया गया था, लेकिन पेपर लीक होने के कारण परीक्षा को रद्द कर दिया गया। मामले में अब तक 30 से अधिक लोग पकड़े गए है। इस मामले में एसटीएफ टीम ने लखनऊ के टीईटी परीक्षा कराने वाले अधिकारी संजय उपाध्याय (Sanjay Upadhyay) को गिरफ्तार किया है, साथ ही पेपर छापने वाली कंपनी के मालिक को भी एसटीएफ टीम ने धरदबूचा है। बता दें कि संजय उपाध्याय को परीक्षा नियामक प्राधिकारी नियुक्त किया गया था। पेपर लीक होने की सबसे बड़ी चूक संजय की ही मानी जा रही है। इस मामले में सीएम योगी ने संजय उपाध्याय को सस्पेंड कर दिया है।

Chitra Singh

Chitra Singh

Next Story