×

यूपी: कोरोना वायरस से बचाव के लिए प्रदेश स्तर पर सतर्कता के निर्देश

प्रमुख सचिव चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण देवेश चतुर्वेदी ने पूरी दुनिया को भयभीत करने वाले ‘नोवल कोरोना वायरस’ के संक्रमण से बचाव, उपचार और रोकथाम के लिए प्रदेश में संवेदनशील देशों की सीमा से सटे जनपदों, प्रमुख पर्यटन स्थलों तथा एयरपोर्ट पर सभी तैयारियां रखने के निर्देश दिए हैं।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 27 Jan 2020 4:22 PM GMT

यूपी: कोरोना वायरस से बचाव के लिए प्रदेश स्तर पर सतर्कता के निर्देश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: प्रमुख सचिव चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण देवेश चतुर्वेदी ने पूरी दुनिया को भयभीत करने वाले ‘नोवल कोरोना वायरस’ के संक्रमण से बचाव, उपचार और रोकथाम के लिए प्रदेश में संवेदनशील देशों की सीमा से सटे जनपदों, प्रमुख पर्यटन स्थलों तथा एयरपोर्ट पर सभी तैयारियां रखने के निर्देश दिए हैं।

‘नोवल कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए की जा रही विभिन्न विभागों की तैयारियों की समीक्षा बैठक में सोमवार को प्रमुख सचिव ने निर्देश दिए कि सीमावर्ती जिलों में मरीजों के लिए अलग से आइसोलेशन वार्ड, दवाओं और चिकित्सकों के प्रयोग में आने वाली सामग्री की पूर्ण व्यवस्था कर ली जाये।

वाराणसी और लखनऊ के एयरपोर्ट पर स्थापित चिकित्सा शिविर की सूचना को प्रदर्शित रखा जाये। नेपाल, चीन, थाइलैण्ड और वियतनाम से आने वाले पर्यटकों की जानकारी जिला प्रशासन को उपलब्ध कराने के साथ-साथ उनके अस्वस्थ होने पर सरकारी चिकित्सालयों में ही भर्ती कराया जाए।

ये भी पढ़ें...कोरोना वायरस की दस्तक भारत में: 20 हजार यात्रियों की हुई जांच, अलर्ट

पर्यटन विभाग को पर्यटकों का ब्यौरा रखने का निर्देश

उन्होंने पर्यटन विभाग को भी से इस वायरस के प्रकोप से बचाव के लिए संवेदनशील देशों से आये पर्यटकों का ब्यौरा रखने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा इस बात का ध्यान रखा जाये कि चीन की यात्रा से लौटे अथवा वहां से आये पर्यटक को नजला, सांस लेने में दिक्कत, फ्लू जैसे लक्षण दिखते हैं, तो उसका प्राइवेट चिकित्सा न कराकर सरकारी अस्पताल में ही भर्ती कराया जाए।

उन्होंने प्रदेश के सातों एयरपोर्टों पर थर्मल स्कैनिंग की व्यवस्था रखने, बुखार नापने के लिए ओरल थर्मामीटर का प्रयोग न करने, चिकित्सालयों की ओपीडी में संवेदनशील देशों से आये नागरिकों का ब्योरा रखने के भी निर्देश दिए।

प्रमुख सचिव ने पंचायती राज विभाग के अधिकारियों को संवेदनशील जनपदों के गांवों में बैठक कराकर कोरोना वायरस की जानकारी और बचाव के प्रति जागरूक करने का निर्देश दिया। उन्होंने इस बैठक के साथ-साथ नेपाल की सीमा से सटे सभी जिलों के जिला अधिकारियों तथा चिकित्सा अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग करके कोरोना वायरस से बचाव के लिए दिशा-निर्देश दिए।

ये भी पढ़ें...कोरोना वायरसः चीन में भारतीय दूतावास पर नहीं होगा गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story