UP के अस्पतालों में तैनात होंगे 2,065 नए डॉक्टर, सरकार ला रही ऑर्डिनेंस

Published by aman Published: September 14, 2017 | 7:26 am
Modified: September 14, 2017 | 7:31 am
UP के अस्पतालों में तैनात होंगे 2,065 नए डॉक्टर, सरकार ला रही ऑर्डिनेंस

लखनऊ: प्रदेश में योगी सरकार आते ही स्वास्थ्य क्षेत्र में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए हैं। स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह की अगुवाई में नित नए कार्य किए जा रहे हैं जिससे प्रदेश के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिल सके। हालिया फैसले के बारे में सिद्धार्थ नाथ सिंह ने बताया कि सरकार जल्द ही एक ऑर्डिनेंस लाने जा रही है, जिसके जरिए डॉक्टरों के रिक्त पदों को भरा जाएगा। उसके बाद यूपी लोक सेवा आयोग (UPPSC) के जरिए 2,065 डॉक्टरों का चयन कर प्रदेश के अस्पतालों में भेजा जाएगा। ताकि स्वास्थ्य व्यवस्था को दुरुस्त किया जा सके।

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया, कि सभी 2,065 नए डॉक्टरों की तैनाती के बाद प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में आने वाले मरीजों को बेहतर इलाज मिल सकेगा। बता दें, कि इस समय विधानसभा सत्र नहीं चलने के कारण डॉक्टरों के रिक्त पदों को ऑर्डिनेंस के जरिए भरा जाएगा।

ये भी पढ़ें …बिग एक्शन ! योगी सरकार ने दिया झटका, 46 मदरसों का रोका अनुदान

बातें तो पहले भी हुईं, काम अब हो रहा
उल्लेखनीय है, कि आए दिन प्रदेश के विभिन्न जिलों से इस प्रकार की ख़बरें आती रहती हैं कि डॉक्टरों की कमी की या उनकी अनुपस्थिति की वजह से स्वास्थ्य सेवाएं प्रभावित होती हैं। मरीजों को समय पर समुचित इलाज नहीं मिला पाता जिनसे उनकी मौत तक हो जाती है। इसी समस्या को देखते हुए स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने इस दिशा में ठोस कदम बढ़ाया है। हालांकि, इस तरह की बातें पूर्व सीएम मायावती के समय में भी हुई थीं लेकिन वह मूर्त रूप नहीं ले सकी। बाद में समाजवादी पार्टी की सरकार भी इस दिशा में कोई बड़ा कदम नहीं उठा पाई थी।

ये भी पढ़ें …HC की शुगर मिल को चेतावनी, गन्ना किसानों का बकाया नहीं चुकाया तो…

…ताकि लोगों को मिल सके बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं
सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा, कि किसी भी अस्पताल में डॉक्टरों की कमी नहीं होने दी जाएगी। डॉक्टरों की नियुक्ति में प्राथमिकता को आधार बनाया गया है, ताकि लोगों को अस्पतालों में बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मिल सकें। विशेषज्ञ डॉक्टरों की कमी ना रहे इसके भी प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि यूपी लोक सेवा आयोग से कहा गया है कि वह चिकित्सा विभाग के अनुरोध को प्राथमिकता दें, ताकि डॉक्टरों के लंबित खाली पदों के भरने में तेजी लाई जा सके।

ये भी पढ़ें …UP: बाराबंकी के जेल अधीक्षक पर कारागार मंत्री को घूस देने का केस दर्ज

कुल 5,640 रिक्त पदों पर होगी भर्ती!
सिंह ने बताया, कि ‘स्वास्थ्य विभाग द्वारा वर्ष 2014-15 में 2,220 तथा वर्ष 2015-16 में 1,066 कुल 3,286 डॉक्टरों के रिक्त पदों को भरने के लिए आयोग को पत्र भेजा गया था, जिसमें से आयोग द्वारा 2,065 चिकित्सकों की नियुक्ति के आदेश अब जारी किए गए हैं। वर्ष 2016-17 में 1,181 तथा वर्ष 2017-18 में 1,173 कुल 2,354 चिकित्सकों की भर्ती के लिए भी आयोग को लिखा जा चुका है। इस प्रकार कुल 5,640 पदों पर नियुक्ति के लिए लोक सेवा आयोग को पत्र भेजा गया है।’

ये भी पढ़ें …Good News: ट्रेन में सफर के दौरान ID के रूप में m-Aadhaar भी होगा मान्य

भर्ती की प्रक्रिया पूरी तरह बंद थी
मंत्री ने बताया कि ‘लंबे समय से 7,328 डॉक्टरों के पद रिक्त थे। इन पदों पर भर्ती की प्रक्रिया पूरी तरह बंद थी, जिसके कारण बहुत से अस्पतालों में चिकित्सकों की भारी कमी हो गई। आने वाले समय में पीएचसी में करीब 1,000 बीएचएमएस डॉक्टरों की तैनाती होगी।’ जानकारी के मुताबिक, सूबे में 7,000 डॉक्टर और 18 हजार पैरामेडिकल स्टाफ की जरूरत है। सीएचसी में करीब 83 फीसदी चिकित्सा पेशेवरों और विशेषज्ञों की कमी है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App