Top

उत्तर प्रदेशः जानिए किस किस क्षेत्र में हैं हम नंबर वन

हाल में कोविड-19 की खबरें लाशें गंगा में तैरने की खबरें छायी रहीं लेकिन क्या इन सबके इतर किसी ने यह दिखाने की कोशिश की है कि अपना प्रदेश किस मामले में देश में पहले नंबर पर है।

Development in Uttar Pradesh
X

इन मामलों में देश में पहले नंबर पर उत्तर प्रदेश: फोटो-सोशल मीडिया 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Uttar Pradesh: उत्तर प्रदेश के बारे में आप लोग बहुत ही खबरें पढ़ते होंगे। चाहे वह राजनीतिक हलचल हो या कानून व्यवस्था से जुड़ी खबरें। हाल में कोविड-19 की खबरें लाशें गंगा में तैरने की खबरें छायी रहीं लेकिन क्या इन सबके इतर किसी ने यह दिखाने की कोशिश की है कि अपना प्रदेश किस मामले में देश में पहले नंबर पर है। आज हम आपको बताते हैं कि वह कौन से क्षेत्र हैं जिनमें प्रदेश देश के सभी राज्यों से आगे है। और यह किसी नकारात्मक मामले में नहीं बल्कि सकारात्मक और उपलब्धि के क्षेत्र में आगे है।

अगर बात करें केंद्र सरकार की योजनाओं की तो 2016 तक अत्यंत पीछे रहने वाला अपना प्रदेश आज प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना, स्वच्छ भारत मिशन, प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना, उज्जवला योजना, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना जैसी विभिन्न योजनाओं को लागू कर जन-जन तक लाभ पहुंचाने में देश में पहले पायदान पर है।

धार्मिक पर्यटन के मामले में उत्तर प्रदेश देश में पहले नंबर पर

सबसे खास बात यह है कि पर्यटन व संस्कृति के क्षेत्र में कुछ समय पहले तक जहां सूबे की कोई पहचान नहीं थी। 2016-17 में देश में तीसरे स्थान पर था। आज उत्तर प्रदेश धार्मिक पर्यटन के मामले में देश में पहले नंबर पर काबिज हो चुका है।

दस राज्यों में लागू किये गए ई-प्रासीक्यूशन प्रणाली के उपयोग में भी प्रदेश का पहला स्थान है। जिसके तहत अपराधों पर नियंत्रण हेतु 75 विद्युत थाने, 4 महिला थाना और 4 आर्थिक अपराध इकाई पुलिस थाने स्थापित किए गए हैं।

उत्तर प्रदेश के धार्मिक स्थल: फोटो-सोशल मीडिया

पुलिस में महिलाओं की भागीदार बढ़ाने के लिए 3 महिला पीएसी वाहिनी की स्थापना की गई है। पुलिस लाइन में 44 ट्रांजिट हॉस्टल का निर्माण कराया गया है। पीएसी के लिए 200 व्यक्तियों की क्षमता वाले 31 बैरक का निर्माण कराया गया है। प्रदेश भर में 22 नवीन पुलिस चौकियों, 2 जल चौकियों एवं 66 नये अग्निशमन केंद्र स्थापित किए गए हैं।

गन्ना एवं चीनी उत्पादन में उत्तर प्रदेश का देश में प्रथम स्थान

इसके अलावा गन्ना एवं चीनी उत्पादन में भी उत्तर प्रदेश का देश में प्रथम स्थान है। मुंडेरवा, पिपराइच और रमाला चीनी मिलों का विस्तार एवं पेराई क्षमता में वृद्धि और 11 चीनी मिलों की क्षमता में विस्तार दिया गया है। जिसमें 9 निजी, 1 सहकारी एवं एक निगम की है। 25 सालों में पहली बार 105 नई खांडसारी इकाइयों के लाइसेंस स्वीकृत किए गए, जिससे 27850 टीसीडी की अतिरिक्त पेराई क्षमता सृजित हुई है।

उत्तर प्रदेश देश का सबसे बड़ा एथेनॉल आपूर्तिकर्ता बना है। जिसमें उत्पादन क्षमता- 126.10 करोड़ लीटर वार्षिक है। प्रदेश सरकार ने 46 सालों से लंबित बाण सागर परियोजना सहित पहाड़ी बांध परियोजना, पथरई बांध परियोजना, जमरार बांध परियोजना, मौदहा बांध परियोजना, पहुंज बांध परियोजना, लहचुरा बांध और गुंटा बांध सहित 8 परियोजनाओं को पूरा किया है। इन परियोजनाओं के पूर्ण होने से 2 लाख 16 हजार हेक्टेयर सिंचन क्षमता में वृद्धि हुई है।

पूरे देश में सबसे अधिक दूध का उत्पादन करने वाला राज्य भी उत्तर प्रदेश है। देश के कुल दुग्ध उत्पादन में इस प्रदेश की हिस्सेदारी लगभग 16.83 प्रतिशत है। वित्त वर्ष 2016-17 के दौरान, राज्य का दूध उत्पादन लगभग 27.77 मिलियन टन था।

यूपी देश में उच्च शिक्षा में नम्बर वन: फोटो-सोशल मीडिया

यूपी देश में उच्च शिक्षा में नम्बर वन

सूबे ने शिक्षा के क्षेत्र में भी एक नया कीर्तिमान गढ़ा है। यूपी देश में उच्च शिक्षा में नम्बर वन राज्य बन गया है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ताजा रिपोर्ट ने यूपी में शिक्षा की बुलंद तस्वीर को सामने रखा है। देश भर में केंद्र सरकार द्वारा कराए गए सर्वे में उच्च शिक्षा के संस्थानों के मामले में यूपी नंबर वन है।

सर्वे के मुताबिक, देश में उच्च शिक्षा के सबसे ज्यादा 7,078 कॉलेज उत्तर प्रदेश में हैं। केंद्र सरकार के अनुसार, देश में उच्च शिक्षा के कालेजों का 18.54 फीसदी हिस्सा अकेले उप्र का है। उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाले छात्रों की संख्या के मामले में भी यह आगे है। सर्वे के मुताबिक राज्य के कालेजों में देश के 47.92 लाख छात्र पंजीकृत हैं।

नौकरी और रोजगार देने के मामले में भी उत्तर प्रदेश ने रिकॉर्ड बनाया है। यूपी सरकार ने चार साल में सबसे ज्यादा नौकरी और रोजगार दिया है। चार साल में लगभग चार लाख लोगों को रोजगार दिया गया है। इस तरह से यूपी सबसे ज्यादा नौकरी और रोजगार देने वाला राज्य बन गया है। सरकार का लक्ष्य इस वित्तीय वर्ष की समाप्ति तक 50 लाख प्रशिक्षित युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराना है।

रोजगार सृजन में देश के अन्य राज्यों से सबसे आगे

एमएसएमई सेक्टर में भी रोजगार सृजन में देश की राजधानी दिल्ली के साथ ही राजस्थान, कर्नाटक, पंजाब जैसे राज्य उत्तर प्रदेश से पीछे छूट गए हैं। रिजर्व बैंक की रैंकिंग में महाराष्ट्र, तमिलनाडु, गुजरात और मध्य प्रदेश ही यूपी से आगे हैं।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story