Top

योगी के मंत्री ने सड़क किनारे लगाई चौपाल, अधूरे निर्माण पर लगाई क्लास

अधूरे पड़े विकास कार्यों को देख रविंद्र जायसवाल भड़क उठे. सड़क किनारे कटरे में ही स्थानीय जनता और अधिकारियों को बुलाया और बैठक शुरु कर दी.

Monika

MonikaBy Monika

Published on 1 April 2021 3:29 PM GMT

योगी के मंत्री ने सड़क किनारे लगाई चौपाल, अधूरे निर्माण पर लगाई क्लास
X

योगी के मंत्री ने सड़क किनारे लगाई चौपाल (फाइल फोटो )

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में अधूरे पड़े विकास कार्यों को देख योगी के मंत्री रविंद्र जायसवाल भड़क उठे. सड़क किनारे कटरे में ही स्थानीय जनता और अधिकारियों को बुलाया और बैठक शुरु कर दी. निर्माण कार्यों में लापरवाही उजागर होने के बाद मंत्री ने संबंधित अधिकारियों की जमकर क्लास लगाई तो ठेकेदारों के खिलाफ सख्त एक्शन का फरमान सुनाया.

चौपाल लगाकर सुनी लोगों की समस्या

स्टाम्प और पंजीयन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रवीन्द्र जायसवाल ने गुरुवार को श्रीराम कटरा तेलियाबाग में जलकल, जलनिगम, नगर निगम, IPDS, बिजली विभाग के अधिकारियों व स्थानीय जनता के साथ चौपाल लगाकर समस्याएं सुनी और मौके पर अधिकारियों को जन समस्याओं का तत्काल निस्तारण सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया. इस दौरान स्थानीय जनता ने भूमिगत केबलिंग के लिए खोदी गई सड़कों का मुद्दा उठाया. मंत्री रविंद्र जायसवाल ने कार्यदायी संस्था को फटकार लगाते हुए नगर निगम से एक महीने के अंदर सड़कों को दुरुस्त करने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि 4.29 करोड़ रुपए की धनराशि प्राप्त होने के बाद भी नगर निगम के अधिकारी लापरवाही कर रहे हैं.

खराब पड़े ओवरहेड टैंकों को लेकर ठेकेदारों को चेताया

शहर में पेयजल की समस्या को लेकर भी उन्होंने सख्ती दिखाई. खराब पड़े ओवरहेड टैंकों को जल्द से जल्द ठीक कराने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा कि नाटी इमली स्थित लेबर कॉलोनी खराब मोटर को ठीक करने के लिए विभागीय अधिकारियों को कहा, इस पर विभागीय अधिकारियों द्वारा बताया गया कि पूरे शीर्ष वरूणा क्षेत्र में खराब पड़े 45 ट्यूबवेल के ठीक करने के लिए 15 वें वित्त से 80 लाख की धनराशि का प्रस्ताव भेजा गया है. एक अन्य नदेसर स्थित अहिराना गली में पेयजल लाइन अनंता कालोनी स्थित ओवरहेड टैंक से जोड़ने को कहा, और ढेलवरिया में साल 2019 में स्थापित ट्यूबवेल जो मात्र 25 दिन में ही खराब हो गया इसके लिए जलनिगम के अधिकारियों को ठेकेदार के खिलाफ कार्यवाही करने का निर्देश भी दिया.

रिपोर्ट- आशुतोष सिंह

Monika

Monika

Next Story