×

Kashi Tamil Sangamam: केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा- काशी और तमिलनाडु के बीच में पुराना संबंध

Kashi Tamil Sangamam: केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने काशी तमिल संगमम के तहत आयोजित एकेडमिक कार्यक्रम में कहा कि काशी और तमिलनाडु के बीच में पुराना संबंध है।

Network
Newstrack Network
Published on: 5 Dec 2022 12:40 AM GMT
Union Finance Minister Nirmala Sitharaman at Kashi Tamil Sangamam
X

काशी तमिल संगमम में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Kashi Tamil Sangamam: केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी एक भारत श्रेष्ठ भारत की परिकल्पना को साकार कर रहे हैं। केंद्रीय वित्त मंत्री रविवार को काशी तमिल संगमम के तहत आयोजित एकेडमिक कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर कहा कि काशी और तमिलनाडु के बीच में पुराना संबंध है और आज इस आयोजन के माध्यम से उन संबंधों को साकार किया जा रहा है।

काशी और तमिलनाडु के बीच सदियों पुराना संबंध: केंद्रीय वित्त मंत्री

केंद्रीय वित्त मंत्री ने कहा कि जो काशी में होता है, वो कांची में भी होता है, उसे देखकर महसूस किया जा सकता है कि काशी और तमिलनाडु के बीच सदियों पुराना संबंध है। निर्मला सीतारमण ने कहा कि काशी तमिल संगमम का मुख्य उद्देश्य प्रधानमंत्री के नारे 'ओरे भारतम उन्नत भारतम' को साकार करना है। उन्होंने कहा कि हम सब भारत के लोग हैं, हम में से प्रत्येक एक भाषा बोलते हैं। घरों में अपनाई जाने वाली संस्कृति भिन्न हो सकती है, लेकिन हम सब एक हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने एकता का जो संदेश दिया है उसमें उत्तर और दक्षिण भारत की संस्कृति एक है इसका बोध आज हो रहा है।

केंद्रीय वित्त मंत्री ने कहा कि मैंने तमिलनाडु में बचपन से ही कुछ चीजें अनुभव की हैं और जानी हैं, वो चीजे आज हमें काशी में भी देखने को मिल रही हैं। अतः हमारा कर्तव्य है कि हम इन सभी प्रमाणों को उजागर करें और उन्हें असत्य न बोलने का संकेत दें। उन्होंने कहा कि देश की एकता के लिए, अगर हम सब साथ में हैं यह देश प्रगति करेगा और हर व्यक्ति का विकास होगा।

बीएचयू के कुलपति सुधीर कुमार जैनने मुख्यातिथि को स्मृति चिन्ह किया भेंट

एकेडमिक कार्यक्रम का विषय "मंदिर वास्तुकला और ज्ञान के अन्य विरासत रूपों" रखा गया था, जिसमें बीएचयू के कुलपति सुधीर कुमार जैन ने मुख्य अतिथि को पुष्प गुच्छ एवं स्मृति चिन्ह भेंट किया। कार्यक्रम में प्रोफेसर ज्ञानेश्वर चौबे ने शैक्षणिक सत्र में डीएनए की उपयोगिता को हेल्थकेयर और फॉरेंसिक में जोड़ते हुए बताया की वो डीएनए विधा ही थी जिसके द्वारा जॉर्जिया की महारानी केतेवन के हड्डियो की पहचान हो पाई और अजनाला के शहीदों की उत्पत्ति के बारे में पता चला। कार्यक्रम में तमिलनाडु से आए प्रतिनिधि भी शामिल थे।

स्वतंत्रता सेनानियों और समाज सुधारकों पर आधारित प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन

काशी तमिल संगमम में केंद्रीय संचार ब्यूरो, सूचना और प्रसारण मंत्रालय द्वारा लगाई गई चित्र प्रदर्शनी में आज रविवार को स्वतंत्रता सेनानियों और समाज सुधारकों पर आधारित प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।प्रदर्शनी में काशी हिंदू विश्वविद्यालय के महिला महाविद्यालय से आई हुई छात्राओं और स्वामी विवेकानंद एकादमी मिर्जापुर से आए छात्र -छात्राओ को स्वतंत्रता सेनानियों, समाज सुधारकों, कवि, रचनाकार और देश के महापुरुषों के जीवन में उनके बलिदान और योगदान पर चर्चा की गई।

प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में रोचक और ज्ञानवर्धक सवाल पूछे गए

प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में कांजीवरम साड़ी, बनारसी सिल्क साड़ी, गिरिजा देवी, भारत छोड़ो आंदोलन, मुंशी प्रेम चंद, चंपारणसत्याग्रह, सुभाष चंद्रबोस आदि पर रोचक और ज्ञानवर्धक सवाल पूछे गए विद्यार्थियों ने बड़े उत्साह के साथ सवालों का जवाब दिया।कार्यक्रम में महिला महाविद्यालय बीएचयू की श्रेया,कोमल,वैष्णवी, आयुषी, अंजली और स्वामी विवेकानंद एकादमी मिर्जापुर के शुभम, जहान्वी,रितिका, श्रेया सिंह और शुभम पटेल को तमिलनाडु के मदुरई से काशी तमिल संगमम में आए योग शिक्षक वी. राजारमन और बरेका वाराणसी प्रदर्शनी देखने आयीं। कल्याणी के कर कमलों द्वारा विजेताओं को पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम में कॉलेज के शिक्षक के साथ तमिलनाडु से अन्य गणमान्य रहे मौजूद

कार्यक्रम का संचालन क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी वाराणसी डॉ. लालजी और क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी आजमगढ़ तारिक अजीज ने किया। इस कार्यक्रम में कॉलेज के शिक्षक के साथ तमिलनाडु से अन्य गणमान्य व्यक्ति भी मौजूद रहे। प्रदर्शनी स्थल से न्यू इंडिया समाचार, किसान सर्वप्रथम आदि मुद्रित प्रचार साहित्य का भी वितरण किया गया।

तमिलनाडु से आए सातवें दल ने हनुमान घाट पर किया गंगा स्नान

काशी तमिल संगमम् में तमिलनाडु से आए सातवें दल ने रविवार की सुबह हनुमान घाट पर स्नान किया। उसके उपरांत हनुमान घाट स्थित प्राचीन मंदिरों में दर्शन पूजन किया। हनुमान घाट स्थित सुब्रमण्यम भारती के घर पर उन्हें ले जाया गया। जहां पहुंच कर अतिथियों ने खुशी जाहिर की। उसके उपरांत बीएचयू में तमिल से आए हेरिटेज ग्रुप के लोगों ने एकेडमिक कार्यक्रम में शामिल हुए।

हेरिटेज ग्रुप को सारनाथ पर्यटक क्षेत्र में कराया जाएगा भ्रमण

तमिलनाडु से आए हेरिटेज ग्रुप को सारनाथ पर्यटक क्षेत्र में भ्रमण कराया जायेगा। जहां पर वह भगवान बुद्ध से जुड़े विभिन्न मंदिरों एवं धरोहरों का दर्शन किए उसके उपरांत सारनाथ में स्थित म्यूजियम को भी घुमाया गया जहां पर अशोक स्तंभ स्थापित है। शाम के समय तमिलनाडु से आए हेरिटेज ग्रुप को काशी हिंदू विश्वविद्यालय स्थित कार्यक्रम स्थल पर होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम में सम्मिलित होंगे, जहां पर विभिन्न कलाओं का मंचन किया जाता है उत्तर और दक्षिण की संस्कृति का आदान-प्रदान होता है और एक बड़ी ही खूबसूरत शाम में लोग सांस्कृतिक और आधुनिक प्रस्तुतियों का दर्शन करते हैं।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story