×

Varanasi: डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक जब खुद ड्राइवर बनकर दौरे पर निकले, मची खलबली

Brijesh Pathak in Varanasi: पंडित दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल का औचक निरीक्षण करने के लिए डिप्टी सीएम बृजेश पाठक पहुंचे। डिप्टी सीएम ने कई विभागों में औचक निरीक्षण किया।

Network
Updated on: 30 April 2022 5:48 AM GMT
Deputy CM Brijesh Pathak
X

डिप्टी सीएम ब्रिजेश पाठक (फोटो-सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Brijesh Pathak in Varanasi: उत्तर प्रदेश में भाजपा की गठित दूसरी सरकार में डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक की कार्यशैली लोकतांत्रिक परम्पराओं के लिए एक मील का पत्थर साबित हो रही है। उन्होंने जिस तरह से स्वास्थ्य विभाग की चरमराई व्यवस्था को संभालने का बीडा उठाया है। उससे राज्य सरकार के दूसरे मंत्री भी सबक ले सकते हैं। वाराणसी पहुंचे बृजेश पाठक जब खुद कार चलाकर दौरे पर निकले तो पूरे जिले में हड़कंप मच गया।

उल्लेखनीय है कि हाल ही में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के 18 मंडलों में डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक और केशव प्रसाद मौर्य समेत सारे मंत्रियों को सप्ताह के तीन दिन जिलों में प्रवास करने की जिम्मेदारी सौंपी गई हैं। उसी के तहत ब्रजेश पाठक को वाराणसी मंडल का प्रभार दिया गया है।

डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने वाराणसी जिले के सभी विभागों के कार्यों की समीक्षा के बाद कहा कि हमारी प्राथमिकता में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की योजनाएं हैं। उन्हें समय से पूरा करना है ताकि लाभ आम जनता तक पहुंचे। सड़क, बिजली, पानी, स्कूल और अस्पताल समेत अन्य योजनाओं में कहीं कोई दिक्कत न हो।

वाराणसी प्रवास पर आए डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक को यहां से चंदौली जाना है। जहां पर वह नियामताबाद ब्लाक के तहत गोधना-मोहम्मदपुर गांव जाकर विकास कार्यो का जायजा लेंगे। इसके अलावा वह जौनपुर में जिलाधिकारी कार्यालय में अधिकारियों के साथ बैठक भी करेंगे। एक मई को उनका जौनपुर जानेका भी कार्यक्रम है।

इसके पहले जब उन्हें भाजपा सरकार के गठन के बाद स्वास्थ्य विभाग दिया गया तो इसकी शुरूआत में ही 31 मार्च को वह राजधानी लखनऊ के सिविल अस्पताल पहुंचे। जहां उन्होंने लापरवाह डाक्टरों और कर्मचारियों को जमकर लताड़ लगाई।

इसके बाद वह पांच अप्रैल को लखनऊ के किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में मरीज के तौर पर पहुंचे। जहां पर उन्होंने ओपीडी काउंटर पर पर्चा भी बनवाया। इस दौरान उन्होंने ट्रामा सेंटर, होल्डिंग एरिया और ओपीडी का निरीक्षण किया। कई जगह पर गंदगी मिलने के कारण मेडिकल स्टाफ को फटकार भी लगाई।

फिर उन्होंने गुपचुप सीतापुर पहुंचकर पीएससी सेंटर का निरीक्षण किया। यहां वह मरीज बनकर पहुंचे थें। पहले उन्होंने यहां अटेंडेंस रजिस्टर चेक किया। जिसमें एक-एक कर्मचारी के बारे में उन्होंने बारीकी से जांच-पड़ताल की।

निरीक्षण के दौरान उन्हें पीएचसी पर कई कमियां भी मिलीं। जिसपर उन्होंने सभी डाक्टर और कर्मचारियों को चेतावनी दी। उन्होंने कहा कि अगली बार नहीं छोड़ूंगा और कार्रवाई होगी। अभी चार दिन पहले ही डिप्टी सीएम बृजेश पाठक ने बाराबंकी पहुंचकर अस्पतालों का हाल जाना था। अव वह वाराणसी मंडल के तीन दिवसीय दौरे पर हैैं।



Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story