समाजवादी पार्टी में शामिल हो सकते हैं यशवंत सिन्हा, दिए ऐसे संकेत

यूपी की राजनीति में योगी सरकार के खिलाफ मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी 2022 के पहले पार्टी को मजबूत करने की कोशिशों में लगी हुई है।

Published by Deepak Raj Published: January 25, 2020 | 9:37 pm
Modified: January 27, 2020 | 11:33 am
बाप बेटे को लड़ा कर भाजपा कर रही है आर्थिक मंदी की बचावअर्थव्यवस्था पर 'यशवंत' वार से तिलमिलाई BJP, कांग्रेस खुश !

श्रीधर अग्निहोत्री

लखनऊ। यूपी की राजनीति में योगी सरकार के खिलाफ मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी 2022 के पहले पार्टी को मजबूत करने की कोशिशों में लगी हुई है। आए दिन दूसरी पार्टी से समाजवादी पार्टी में शामिल हो रहे नेताओं की रेस में एक नाम और तेजी से उभरा है। वह पूर्व केन्द्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा हैं।

ये भी पढ़ें-  बजट से पहले लगा तगड़ा झटका, सरकार के लिए आई ये बुरी रिपोर्ट

कहा जा रहा है कि सिन्हा जल्द ही समाजवादी पार्टी में शामिल होंगे। सिन्हा समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ सैफई में महोत्सव स्थल पर ध्वजारोहण करेंगे। पूर्व केन्द्रीय मंत्री यशवन्त सिन्हा यहां 155 फिट ऊंचा तिरंगा सैफई महोत्सव स्थल पर फहराएगें। इस अवसर पर पार्टी महासचिव प्रो0 रामगोपाल यादव, तथा तेज प्रताप यादव भी मौजूद रहेंगे।

पूर्व वित मंत्री यशवंत सिन्हा जा सकते है सपा में

1960 बैच के पूर्व आईएएस इस समय 82 साल के है। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व वित मंत्री पिछले कई वर्षो से पार्टी में उपेक्षित है और लगातार मोदी सरकार की नीतियों की आलोचना कर रहे हैं। हाल ही में उन्होंने सीएए एनआरसी और एनपीआर को लेकर भाजपा सरकार को कटघरे में खड़ा करने की हर संभव कोशिश की है।

yashwant-sinha

उनका कहना है कि देश में किसानों की समस्याओं के अलावा युवाओं की और बेरोजगारी की भी बड़ी समस्याएं हैं लेकिन मोदी सरकार जनता को इन मुद्दो से ध्यान भटकाने के लिए इस तरह के मुद्दे लाती रही है।

हाल ही में सिन्हा ने जामिया मिलिया इस्लामिया कालेज में भी पहुंचे थे जहां उन्होंने मोदी सरकार के बारे में कहा था कि इस सरकार ने पूरे देश को ही काश्मीर बना दिया है। यशवंत सिन्हा ने कहा कि सरकार में मौजूद लोगों ने दावा किया था कि वे लोग कश्मीर को भारत के दूसरे हिस्से जैसा बना देंगे। वह लगातार भाजपा सरकार को घेरने का कोई मौका नहीं छोड रहे हैं।