Top

दिव्यांग को निजी कार में ले जा रहे दरोगा से मारपीट, ग्रामीणों ने फाड़ी वर्दी

मैनपुरी के औंछा थाना क्षेत्र में धोखाधड़ी व चाल फरेव करके महिला को साथ ले जाने का आरोपी जब गांव में दिखाई दिया तो पीड़िता के परिजन आक्रोशित हो गए।

Praveen Pandey

Praveen PandeyReporter Praveen PandeyMonikaPublished By Monika

Published on 5 May 2021 2:27 PM GMT

villagers Fighting with mainpuri police
X

मैनपुरी पुलिस के साथ मारपीट (फोटो: सोशल मीडिया )

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मैनपुरी: मैनपुरी (Mainpuri) के औंछा थाना क्षेत्र में धोखाधड़ी (Fraud) व चाल फरेव करके महिला को साथ ले जाने का आरोपी जब गांव में दिखाई दिया तो पीड़िता के परिजन आक्रोशित (Victim's family got angry) हो गए। आरोपी की पिटाई की और पुलिस के हवाले कर दिया। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंचे दरोगा ने पीड़िता के दिव्यांग ससुर को निजी गाड़ी में खींचकर बैठाने से ग्रामीण भड़क गए। ग्रामीणों ने दरोगा से अभद्रता और हाथापाई कर दी। जिससे दरोगा की वर्दी भी फट गई। वहीं पुलिस से अभद्रता की बात पर थाना पुलिस इंकार कर रही है।

थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी एक व्यक्ति की पत्नी को कन्नौज के माधौनगर निवासी सूरज चाल फरेव करके अपने साथ ले गया था। पति ने थाने में शिकायत देकर जेवर आदि ले जाने का आरोप लगाया था। पुलिस ने महिला को बरनाहल क्षेत्र से बरामद करने के बाद परिजनों को सौंप दिया। ग्रामीणों के अनुसार चार दिन पूर्व पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया था। उसे दरोगा ने अपने एक खास व्यक्ति की सुपुदर्गी में दे दिया। इधर आरोपी को मंगलवार को गांव में देख पीड़ित के परिजन आक्रोशित हो गए, उसकी घेर कर पिटाई कर दी। उससे जेवर वापस मांगने लगे।

सूचना मिलने पर दरोगा मनोज पोनिया पहुंचे और महिला के दिव्यांग ससुर को खींच कर निजी गाड़ी में डाल लिया। दरोगा की कार्यशैली से ग्रामीण भड़क गए और उनके साथ हाथापाई कर दी। इंस्पेक्टर ऋषि कुमार का कहना है कि झगड़े की सूचना पर पुलिस गई थी। हाथापाई और वर्दी फाड़े जाने जैसी कोई घटना नहीं हुई है। पकड़े गए आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की गई है।

वीडियो किया वायरल

दरोगा द्वारा दिव्यांग को खींच कर निजी गाड़ी में बैठाने का एक वीडियो भी वायरल हुआ है। वहीं ग्रामीणों ने बताया कि जिस व्यक्ति के साथ आरोपी मौजूद था। वह दरोगा का खास है। जिस वजह से आरोपी को अपने साथ ही रखे हुए था।

Monika

Monika

Next Story