Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

प्रधान पर कार्रवाई न होने से खफा ग्रामीणों का प्रदर्शन, प्रशासन पर लगाया ये आरोप

मंगलवार को जिलाधिकारी कार्यालय के समक्ष ग्रामीणों ने अपना विरोध प्रदर्शन किया। ये मामला विकास खंड बिधूना की ग्राम पंचायत नवादा धाधू का है

Suman

SumanBy Suman

Published on 9 Sep 2020 6:32 AM GMT

प्रधान पर कार्रवाई न होने से खफा ग्रामीणों का प्रदर्शन, प्रशासन पर लगाया ये आरोप
X
मंगलवार को जिलाधिकारी कार्यालय के समक्ष ग्रामीणों ने अपना विरोध प्रदर्शन किया। ये मामला विकास खंड बिधूना की ग्राम पंचायत नवादा धाधू का है
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

औरैया: मंगलवार को जिलाधिकारी कार्यालय के समक्ष ग्रामीणों ने अपना विरोध प्रदर्शन किया। ये मामला विकास खंड बिधूना की ग्राम पंचायत नवादा धाधू का है जहां के दो दर्जन से अधिक ग्रामीणों ने मंगलवार को जिलाधिकारी कार्यालय के समक्ष पहुंचकर प्रधान पर कार्रवाई न किए जाने को लेकर विरोध प्रदर्शित किया। इस दौरान ग्रामीणों ने जिला प्रशासन पर प्रधान व सचिव का सहयोग किए जाने का भी आरोप लगाया।

यह पढ़ें...अभी-अभी कंगना पर बुल्डोजर: तोड़ दिया गया मकान, BMC ने की कार्रवाई

45 शौचालयों के पैसे का बंदरबांट

जिला मुख्यालय पर पहुंचे विकासखंड बिधूना की ग्राम पंचायत नवादा धांधू के दो दर्जन ग्रामीण जगमोहन सिंह, रामरतन, अहिरन, रामपाल, चंद्र पाल, सहित अन्य लोगों ने बताया की ग्राम पंचायत में शौचालय निर्माण में प्रधान व सचिव ने मिलकर अनियमितता करते हुए 45 शौचालयों के पैसे निकालकर बंदरबांट कर लिए।

उन्होंने यह भी बताया की प्रधान द्वारा शौचालयों का रुपया बांट लिया। इसके अलावा बनी सीसी सड़कें भी बेकार है। गलियों में पड़ी गिट्टी उखड़ने लगी है। इसमें प्रधान द्वारा भी धांधली की गई है।

अन्य मदों का पैसा भी प्रधान ने निकाल कर अपने उपयोग में लिया है। जिससे गांव में खराब पड़े हैंडपंप व नाली निर्माण एवं खरंजा निर्माण भी नहीं हो सका है। प्रधान ने वृक्षारोपण का पैसा भी निकाल लिया है लेकिन जमीनी हकीकत पर कोई भी कार्य नहीं हो सका है।

Untitled-1 सोशल मीडिया से

यह पढ़ें...NEET परीक्षा में दखल देने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार, कहा- टेस्टिंग एजेंसी करेगी फैसला

जिलाधिकारी से मामले की जांच

ग्रामीणों ने जिलाधिकारी से मामले की जांच किए जाने की मांग की है। वहीं ग्रामीणों ने प्रधान व सचिव पर बंदरबांट कर सरकारी धन के दुरुपयोग का भी आरोप लगाया है। इस संबंध में जब डीपीआरओ अष्ट कुमार त्रिपाठी से संपर्क करने का प्रयास किया गया तो उनसे संपर्क नहीं हो सका।

Suman

Suman

Next Story