Top

Sonbhadra News: ट्वीटर पर घंटों माथापच्ची, बदले गए खराब पंखे, रेणुकूट रेलवे स्टेशन का मामला

रेणुकूट निवासी नवनीत कुमार शर्मा ने ट्विटर पर रेलवे प्रशासन को ख़राब पंखों की जानकारी दी जिसके बाद रेणुकूट रेलवे स्टेशन के खराब पंखे बदले गए।

Kaushlendra Pandey

Kaushlendra PandeyReport Kaushlendra PandeyShashi kant gautamPublished By Shashi kant gautam

Published on 21 July 2021 11:46 AM GMT

The picture of Renukoot railway station in which the fans were told closed
X

रेणुकूट रेलवे स्टेशन की वह तस्वीर जिसमें पंखों को बताया गया बंद

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Sonbhadra News: सोनभद्र। रेलवे स्टेशन पर यात्रियों के लिए बेहतर इंतजाम और इसके नाम पर किराए के अधिभार में लगातार हो रही बढ़ोत्तरी की हकीकत जाननी हो तो सोनभद्र चले आइए। यहां के स्टेशनों की हालत न केवल आपको वास्तविकता से रूबरू कराएगी बल्कि पूर्व मध्य रेलवे को अच्छा खासा राजस्व और केंद्र-प्रदेश का खजाना भरने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के बावजूद, बरती जा रही उपेक्षा की कहानी भी बयां करती नजर आएगी।

ताजा मामला रेणुकूट रेलवे स्टेशन से जुड़ा है। यहां के स्टेशन पर लगे पंखे, पखवाड़े भर से भी अधिक समय से पहले खराब हालत में पड़े थे। इसके चलते यहां से यात्रा करने वालों को भारी उमस के बीच पसीने से तरबतर हालत में ट्रेन का इंतजार करना पड़ रहा था।रेणुकूट निवासी नवनीत कुमार शर्मा ने मंगलवार की दोपहर रेलवे स्टेशन पर बंद पड़े पंखों की तस्वीर ट्विटर पर अपलोड कर रेलवे प्रशासन को जानकारी दी।

ट्वीटर पर एक यात्री, कृपया जल्दी कोई उपाय करें

कहा कि यहां पर यात्रा करने वाले यात्री पंखा न चलने के कारण उमस से बहुत परेशान हैं। कृपया जल्दी कोई उपाय करें, लेकिन कोई पहल सामने नहीं आई। तब दोपहर दो बजे रेणुकूट के ही अभिषेक भारती ने नवनीत के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए डीआरएम धनबाद आशीष बंसल सहित अन्य का ध्यान आकृष्ट कराया तब डीआरएम ने इस मामले को सीनियर डिविजनल इंजीनियर को संजीदगी से देखने के लिए कहा।




रात 11 बजे पंखों को किया गया दुरुस्त

शाम सात बजे सीनियर डिविजनल इंजीनियर ने जानकारी दी कि तेज बारिश के दौरान बूंद टपकने के कारण पंखे जल गए थे जिन्हें बदल दिया गया है। अब रेणुकूट रेलवे स्टेशन के सभी पंखे अच्छी स्थिति में काम कर रहे हैं। उसके एक घंटे बाद अभिषेक ने फिर से रिट्वीट किया कि मैं रेणुकूट रेलवे स्टेशन पहुंचा हुआ हूं। यहां के पंखे वैसे ही खराब हालत में पड़े हुए हैं। मैंने इसकी तस्वीर भी अपलोड की हुई है। रात 11 बजे जाकर पंखों को दुरुस्त हालत में चलने की वीडियो अपलोड हुई तब जाकर मामले का पटाक्षेप हुआ।




कई रेलवे स्टेशनों पर बेहतर यात्री सुविधाएं नहीं है मयस्सर

सोनभद्र में मिर्जापुर की सीमा से सटे करमा से लेकर चोपन रेलवे जंक्शन से पहले तक का हिस्सा उत्तर मध्य रेलवे में आता है। इसके बाद चोपन जंक्शन रेलवे स्टेशन से लेकर शेष एरिया पूर्व मध्य रेलवे के क्षेत्राधिकार में है। रेणुकूट रेलवे स्टेशन चोपन और शक्ति नगर के मध्य स्थित होने के साथ ही सोनभद्र होते हुए पूर्व मध्य रेलवे के एरिया से जो भी ट्रेनें गुजरती हैं उन्हें रेणुकूट से होकर गुजरना पड़ता है। इस नाते इस स्टेशन को यात्रा के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। रेणुकूट के अलावा पावर हब अनपरा, जिला मुख्यालय स्थित सोनभद्र रेलवे स्टेशन की बात करें तो यहां भी यात्री सुविधाओं की स्थिति खराब है।



अनपरा में जहां एक बेहतर प्लेटफार्म तक मुहैया नहीं है। वही सोनभद्र स्टेशन पर एक नंबर प्लेटफार्म परसों पूर्व की स्थिति में है इसके चलते ट्रेन के अधिकांश डिब्बे प्लेटफार्म से बाहर खड़े होते हैं जिससे यात्रियों को उतरने में काफी परेशानी होती है राबर्टसगंज में यात्रियों के लिए सेठ आदि के भी इंतजाम नदारद हैं बारिश के समय भीगती हालत में ट्रेन पकड़ना मजबूरी है। इसी तरह ओबरा के पास स्थित बिल्ली रेलवे स्टेशन को जंक्शन का दर्जा हासिल है लेकिन यहां पहुंचने वाले रास्ते की हालत छोड़िए, स्टेशन की दशा भी सबसे खराब हालत वाली पैसेंजर ट्रेन के ठहराव वाले, हालत जैसी है।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story