×

Sonbhadra News: भीषण गर्मी-उमस से लोगों का हाल-बेहाल, जारी है ताबड़तोड़ बिजली कटौती, पावर सेक्टर में हायतौबा

Sonbhadra News: रात ही नहीं दिन में भी कई-कई घंटे बिजली कटौती हो रही है। इससे लोग जहां सोशल साइटों से लेकर बिजली दफ्तर पहुंचकर एतराज जताने लगे हैं।

Kaushlendra Pandey

Kaushlendra PandeyReport Kaushlendra PandeyVidushi MishraPublished By Vidushi Mishra

Published on 8 July 2021 4:36 AM GMT

The scorching sun during the day and the heavy humidity at night have made life miserable.
X

भीषण गर्मी (फोटो-सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Sonbhadra News: दिन में चिलचिलाती धूप और रात में भारी उमस ने जनजीवन बेहाल कर दिया है। इसके चलते प्रदेश में बिजली की खपत लगातार रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच रही है। बुधवार की रात्रि एक बजे बिजली की मांग 24577 पर पहुंच गई। वही देर शाम के पीक आवर में बिजली की उपलब्धता और मांग में 1060 मेगावाट के आए अंतर ने पावर सेक्टर में हड़कंप मचा कर रख दिया।

इसके चलते सिस्टम कंट्रोल को जहां महंगी बिजली खरीदने का क्रम जारी रखना पड़ा। देर शाम और अर्धरात्रि के वक्त प्रदेश के कई शहरों और जिला मुख्यालयों में आधे से एक घंटे तक कटौती करनी पड़ी।

नार्दन रीजन लोड डिस्पैच सेंटर और स्टेट लोड डिस्पैच सेंटर से मिली जानकारी के मुताबिक लगातार दूसरे दिन बिजली की न्यूनतम खपत भी रिकॉर्ड ऊंचाई बनाए रही। बृहस्पतिवार की सुबह 6.10 बजे मिनिमम डिमांड 17179 के उच्च स्तर पर जा पहुंची।

उधर, 27 जून से ही बंद चल रही अनपरा परियोजना की बंद चल रही 500 मेगावाट वाली चौथी इकाई के उत्पादन पर आ जाने से पावर सेक्टर को बड़ी राहत मिली। पीक आवर के समय राज्य सेक्टर की तापीय परियोजनाओं से 3200 मेगावाट, लैंको अनपरा से 1100 मेगावाट बिजली मिलती रही।

शेष जरूरत को एनटीपीसी, जल विद्युत परियोजनाओं, द्विपक्षीय करार से जुड़ी परियोजनाओं और केंद्रीय पूल से बिजली लेकर पूरी की गई। इसके बाद उपलब्धता और मांग में आए अंतर को आपात कटौती से पूरा किया गया।

बिजली कटौती और उमस ने कर दिया है बेहाल

बता दें कि रात ही नहीं दिन में भी कई-कई घंटे बिजली कटौती हो रही है। इससे लोग जहां सोशल साइटों से लेकर बिजली दफ्तर पहुंचकर एतराज जताने लगे हैं। वहीं कई जगह बढ़ता आक्रोश कानून व्यवस्था के लिए भी चुनौती बनने लगा है।

सोनभद्र में जिला मुख्यालय, ओबरा की कॉलोनी से बाहर वाली एरिया, चोपन, दुद्धी, घोरावल सहित पूरे जिले में कुछ-कुछ घंटे के अंतराल पर हो रही कटौती ने लोगों का बुरा हाल कर दिया है। वहीं बिजली रहने की दशा में भी भारी उमस के चलते पंखा कूलर बेमतलब साबित हो रहे हैं। तीखी धूप अलग लोगों को परेशान किए हुए है।

उछाल मार रहा पारा, अभी राहत कि नहीं दिख रही उम्मीद

मानसून की बेरुखी और तेज धूप के चलते पारा भी उछाल मार रहा है। बुधवार को अधिकतम पारा 32 डिग्री रिकॉर्ड किया गया इसके चलते हीटवेव की स्थिति बनी रही। रात में भी 28 डिग्री के इर्द-गिर्द पारा रहने से गर्मी पूरी रात लोगों को परेशानी में डाले रही।

मौसम विभाग के लोगों का मानना है कि अभी कुछ दिन ऐसी ही स्थिति देखने को मिलती रहेगी। -बढ़ रहा चिड़चिड़ापन, स्वास्थ्य पर भी विपरीत असरः बारी उमर और अर्धरात्रि रात्रि के समय हो रही बिजली कटौती का सीधा असर लोगों के स्वास्थ्य पर पड़ रहा है। तमाम लोगों के सामने नींद पूरी ना होने की समस्या आ गई है।

मनोचिकित्सक डॉ. संजय कुमार सिंह बताते हैं कि इससे लोगों में चिड़चिड़ापन की समस्या बढ़ रही है। अधिकांश लोग सिरदर्द, शरीर में सुस्ती भारीपन की शिकायत लेकर डॉक्टरों के यहां पहुंच रहे हैं। बताया कि यह स्थिति हाई ब्लड प्रेशर और मधुमेह रोगियों के लिए नुकसान देह है। उनको लेकर सावधानी बरतते रहने की जरूरत है।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story