×

Sonbhadra News: राशन कार्ड निरस्त करने का हुआ फैसला, जानें कहीं आपका नाम भी तो नहीं शामिल

Sonbhadra News: सोनभद्र जिले में मानक के विपरीत जारी हुए पात्र गृहस्थी राशन कार्डों को निरस्त करने की तैयारी शुरू कर दी गई है।

Kaushlendra Pandey
Updated on: 2021-08-27T11:06:15+05:30
Sonbhadra News: राशन कार्ड निरस्त करने का हुआ फैसला, जानें कहीं आपका नाम भी तो नहीं शामिल
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Sonbhadra News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सोनभद्र (Sonbhadra) जिले में मानक के विपरीत जारी हुए पात्र गृहस्थी राशन कार्डों को निरस्त करने की तैयारी शुरू कर दी गई है। फिलहाल क्रय केंद्रों पर तीन लाख और इससे अधिक की उपज बेचने वाले ऐसे किसान, जो पात्र गृहस्थी कार्ड का लाभ ले रहे हैं। उनकी सूची तैयार की गई है। शासन स्तर से किए गए चिन्हांकन में जिले में ऐसे 939 राशनकार्ड धारक पाए गए हैं। जिनको लेकर जिला पूर्ति अधिकारी गौरी शंकर शुक्ला ने जिले के सभी खंड विकास अधिकारियों को पत्र जारी कर रिपोर्ट तलब कर ली है। रिपोर्ट मिलते ही चिन्हित राशन कार्डों को निरस्त करने का काम शुरू कर दिया जाएगा।

आपको बता दें कि पात्र गृहस्थी कार्ड के लिए ग्रामीण क्षेत्र में ऐसे परिवार जिनकी वार्षिक आय दो लाख रुपये है, को पात्र गृहस्थी कार्ड के लिए पात्र माना गया है। नगरीय क्षेत्र में वार्षिक आय तीन लाख रुपये निर्धारित है। बताते चलें कि मानक के विपरीत कई लोगों को राशन कार्ड जारी होने की शिकायत लंबे समय से बनी हुई है।

परियोजना क्षेत्रों और सरकारी कॉलोनियों में राशन कार्ड जारी होने की बात उठती रहती है

खासकर परियोजना क्षेत्रों और सरकारी कॉलोनियों में नौकरीपेशा एवं उनके परिवार वालों को भी राशन कार्ड जारी हो जाने की बात जब तब उठती रहती है। बताते हैं कि शिकायतों को दृष्टिगत रखते हुए शासन स्तर से सरकारी क्रय केंद्रों पर अपनी उपज बेचने वाले किसानों की सूची से मिलान किया गया तो जिले के 939 ऐसे किसान पाए गए जिन्होंने तीन लाख से अधिक का उपज बेचा और पात्र गृहस्थी राशन कार्ड का भी लाभ उठा रहे हैं।

राशन कार्ड की तस्वीर (फोटो:सोशल मीडिया)

बता दें कि शासन स्तर से ऐसे लाभार्थियों का सत्यापन कर राशन कार्ड निरस्त करने के निर्देश दिए गए हैं। इसके क्रम में जिला पूर्ति अधिकारी के तरफ से सभी खंड विकास अधिकारियों को पत्र जारी कर एक सप्ताह के भीतर सत्यापन रिपोर्ट भेजने के लिए कहा गया है।

कार्रवाई में आने वालों की ब्लॉकवार यह स्थिति है

घोरावल ब्लॉक में 314, चतरा ब्लाक में 171, चोपन ब्लाक में 41, दुद्धी ब्लाक में 87,नगवा ब्लाक में 48, बभनी ब्लाक में 23, म्योरपुर ब्लॉक में 10, राबर्ट्सगंज ब्लॉक में 212 ऐसे किसानों को चिन्हित किया गया है। जिन्होंने पात्र राशन कार्ड धारक होते हुए भी तीन लाख या इससे अधिक की उपज क्रय केंद्रों पर बेची है। उधर जिला पूर्ति अधिकारी गौरी शंकर शुक्ला का कहना है कि शासन से आए निर्देश के क्रम में ब्लॉकवार प्रकरणों का चिन्हांकन कर खंड विकास अधिकारियों से सत्यापन रिपोर्ट तलब कर दी गई है। जैसे ही रिपोर्ट आती है, उसके अनुरूप कार्रवाई शुरू कर दी जाएगी।

Divyanshu Rao

Divyanshu Rao

Next Story