×

संत सम्मेलन में समान नागरिक संहिता व जनसंख्या नियंत्रण की संतों की हुंकार, योगी के पक्ष में मतदान की अपील भी की

प्रयागराज में विश्व हिंदू परिषद द्वारा आयोजित संत सम्मेलन में संतों ने आगामी विधानसभा चुनाव में योगी आदित्यनाथ के पक्ष में बढ़-चढ़कर मतदान करने की बात कही है।

Bishwa Maurya
Published By Bishwa MauryaWritten By Syed Raza
Updated on: 3 Feb 2022 5:05 PM GMT
संत सम्मेलन में समान नागरिक संहिता व जनसंख्या नियंत्रण की संतों की हुंकार, योगी के पक्ष में मतदान की अपील भी की
X

विश्व हिंदू परिषद के शिविर में आयोजित संत सम्मेलन

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

प्रयागराज। संगम की धरती पर लगे माघ मेले में विश्व हिंदू परिषद (Vishwa Hindu Parishad) के शिविर में आयोजित हुए संत सम्मेलन में संतों ने एक बार फिर से उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) को मुख्यमंत्री बनाने को लेकर हुंकार भरी है। देश के कोने कोने से आए संतों ने संत सम्मेलन में देश में समान नागरिक संहिता और जनसंख्या नियंत्रण कानून (population control law) लागू किए जाने की भी केंद्र और प्रदेश सरकार से मांग की है। इसके साथ ही यूपी समेत पांच राज्यों में हो रहे चुनाव में मतदान का प्रतिशत बढ़ाने के लिए भी साधु संतों ने चर्चा की है।

संत सम्मेलन में संतों ने कहा है कि संतों का यह दायित्व है कि वह अपने अनुयायियों और लोगों के बीच जाकर जागरूक करें कि मतदान में हिंदुओं का मत प्रतिशत बढ़े। जिससे एक बार फिर से हिंदुत्व की रक्षा करने वाली पांचों राज्यों में सरकार बने। संत सम्मेलन में आए संतो ने कहा है कि उन्हें अभी केंद्र में नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और प्रदेश में सीएम योगी की सरकार चाहिए। संत सम्मेलन में विश्व हिंदू परिषद की ओर से देश में चलाए जा रहे अन्य मुद्दों पर भी चर्चा की गई। जिसमें प्रमुख रूप से समाज में सामाजिक समरसता कैसे बढ़े, धर्मांतरण रोकना, गौ हत्या बंद हो और गंगा की अविरलता और निर्मलता को लेकर भी संतों ने विचार विमर्श किया और समाज का मार्गदर्शन करने की बात कही।

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के वरिष्ठ सदस्य स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती की अध्यक्षता में संत सम्मेलन आयोजित हुआ। संत सम्मेलन के बाद मीडिया से मुखातिब स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती (Swami Vasudevananda Saraswati) ने कहा है कि भारत धर्म प्रधान देश है और भारत की धार्मिकता ही भारतीयता है। उन्होंने कहा है कि भारतीयता की रक्षा के लिए भी मौजूदा समय में पांचों राज्यों में बीजेपी (BJP) सरकार की वापसी होना अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने कहा है कि सभी लोग अपने मत का प्रयोग करें। स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती ने कहा है कि हिंदू समाज चुनाव में बैठा रहता है और अपने मत का प्रयोग नहीं करता है। उन्हें चाहिए कि सब लोग मतदान करें। स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती ने कहा है कि इस संत सम्मेलन में मथुरा पर बात नहीं हुई। लेकिन मथुरा भी अयोध्या और काशी की तरह संतों के एजेंडे में है और आगे इस पर भी बात होगी। उन्होंने कहा है कि देश में जल्द समान नागरिक संहिता लागू होनी चाहिए और धर्मांतरण व लव जेहाद को रोकने के लिए भी प्रयास होने चाहिए।

उन्होंने कहा है कि जिस तरह से तेजी से जनसंख्या बढ़ रही है इसके लिए भी कानून बनाना पड़ेगा। स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती ने कहा है कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कड़ा परिश्रम करके हिंदुत्व की रक्षा की है। इसलिए पूरा संत समाज चाहता है कि दोबारा योगी आदित्यनाथ ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने। उन्होंने कहा है कि संतो ने न केवल सीएम योगी आदित्यनाथ को आशीर्वाद दिया है बल्कि पूरी जनता को आशीर्वाद दिया है,भारतीयता को आशीर्वाद दिया है।

उन्होंने कहा है कि भारतीयता की रक्षा के लिए भी योगी आदित्यनाथ का दोबारा मुख्यमंत्री बनना जरूरी है। विश्व हिंदू परिषद के परेड स्थित शिविर में आयोजित हुए इस संत सम्मेलन में अखिल भारतीय नाथ संप्रदाय के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष महंत बालक नाथ योगी (Mahant Balak Nath Yogi) भी शामिल हुए। उन्होंने भी यूपी समेत पांचों राज्यों में बीजेपी की सरकार बनाने का आह्वान किया। इस संत सम्मेलन में माघ मेले में आए संतो के साथ ही देश के कोने-कोने से आए संतो ने बड़ी संख्या में शिरकत की। संत सम्मेलन में विहिप के संरक्षक दिनेश जी और केंद्रीय संत संपर्क प्रमुख अशोक तिवारी के साथ ही विहिप प्रांत संगठन मंत्री मुकेश जी भी मौजूद रहे।

Bishwa Maurya

Bishwa Maurya

Next Story