Top

विश्वनाथ त्रिपाठी को भारत-भारती, योगेश मिश्र को मधु लिमये सम्मान

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 1 Aug 2016 11:26 PM GMT

विश्वनाथ त्रिपाठी को भारत-भारती, योगेश मिश्र को मधु लिमये सम्मान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊः यूपी हिंदी संस्थान ने साल 2015 के लिए नामचीन साहित्यकार डॉ. विश्वनाथ त्रिपाठी को भारत भारती सम्मान देने का फैसला किया है। असगर वजाहत को लोहिया साहित्य सम्मान दिया जाएगा। लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार योगेश मिश्र को मधु लिमये साहित्य सम्मान देने का ऐलान किया गया है। जबकि डॉ शेरजंग गर्ग को हिन्दी गौरव सम्मान से नवाजा जाएगा।

इनका भी होगा सम्मान

-गंगा प्रसाद विमल को महात्मा गांधी साहित्य सम्मान, डॉ. रमानाथ त्रिपाठी को पंडित दीनदयाल उपाध्याय साहित्य सम्मान मिलेगा।

-मैनपुरी के डॉ. दीन मुहम्मद दीन को अवंतीबाई साहित्य सम्मान और हिन्दी प्रचार सभा हैदराबाद को राजर्षि पुरुषोत्तमदास टंडन सम्मान दिया जाएगा।

साहित्य भूषण सम्मान

-लखनऊ के रवींद्र वर्मा, सीतापुर के रमाकांत पांडेय, इटावा के दिनेश पालीवाल, आजमगढ़ के राजाराम सिंह को मिलेगा।

-बरेली की डॉ. महाश्वेता चतुर्वेदी, दिल्ली के संजीव, लखनऊ के दामोदर दीक्षित, गाजियाबाद के विजय किशोर मानव को दिया जाएगा

-सहारनपुर के राजेंद्र राजन, लखनऊ के डॉ. सुधाकर अदीब को भी साहित्य भूषण सम्मान मिलेगा।

अलग-अलग क्षेत्रों में भूषण सम्मान

-लखनऊ के योगेश मिश्र को मधु लिमये साहित्य सम्मान।

-लखनऊ के नंद किशोर खन्ना को कला भूषण सम्मान।

-मुरादाबाद के डॉ. रामानंद शर्मा को विद्या भूषण सम्मान।

-लखनऊ के कालीशंकर को विज्ञान भूषण सम्मान।

-दिल्ली की शीला झुनझुनवाला को पत्रकारिता भूषण सम्मान।

-न्यूयॉर्क के मेजर शेर बहादुर सिंह को प्रवासी भारतीय हिन्दी भूषण सम्मान।

-लखनऊ के बाबूलाल शर्मा प्रेम को बाल साहित्य भारती सम्मान।

-फिरोजाबाद के अरविंद तिवारी को पंडित श्रीनारायण चतुर्वेदी साहित्य सम्मान।

-इलाहाबाद को शैलेंद्र कुमार अवस्थी को विधि भूषण सम्मान।

-भोपाल के कैलाश मड़बैया को लोक भूषण सम्मान।

सौहार्द सम्मान

ओम प्रकाश गासो (पंजाबी), प्रो. विश्वास पाटिल (मराठी), थिंडुजम श्याम किशोर सिंह (मणिपुरी), प्रो. स्मरप्रिया (उड़िया), प्रो. मीनाक्षी जोशी (गुजराती), एसएम सुब्रहमण्यम (तमिल), डॉ. माधवी एस भंडारी (कन्नड़), डॉ. प्रत्यूष गुलेरी (डोंगरी), महाराजकृष्ण शाह (कश्मीरी), एहतराम इस्लाम (उर्दू), जीएल अग्रवाल (असमिया), गुंटूर रजनीप्रभा (तेलुगु), डॉ. जे. रामचंद्रन नायर (मलयालम), डॉ. ऊषा किरन खान (मैथिली) और डॉ. प्रभुनाथ द्विवेदी (संस्कृत) को सौहार्द सम्मान के लिए चुना गया है।

अन्य सम्मान

हिन्दी विदेश प्रसार सम्मान मॉरीशस के रामदेव धुरंधर और अमेरिका के आलोक मिश्र को दिया जाएगा, जबकि विश्वविद्यालय स्तरीय सम्मान लखनऊ के डॉ. अनिल कुमार त्रिपाठी और वाराणसी के प्रो. वशिष्ठ अनूप को देने का ऐलान किया गया है।

फाइल फोटोः साहित्यकार विश्वनाथ त्रिपाठी (बाएं) और योगेश मिश्र (दाएं)

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story