Top

वृंदावन की विधवाओं ने मोदी को माना भाई, PM के लिए सुंदर राखियां बनाईं

By

Published on 17 Aug 2016 7:32 PM GMT

वृंदावन की विधवाओं ने मोदी को माना भाई, PM के लिए सुंदर राखियां बनाईं
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

वृंदावनः कान्हा की नगरी के आश्रय सदनों में जिंदगी गुजारने वाली सैकड़ों विधवाओं ने पीएम नरेंद्र मोदी को अपना भाई माना है। उन्होंने मोदी के लिए 1001 राखियां बनाई हैं। इन्हें अब प्रधानमंत्री को भेजा जाएगा।

राखी पीएम को भेजी जाएंगी ये राखियां

निराश्रित हैं मोदी की ये बहनें

वृंदावन के आश्रय सदनों में उम्रदराज विधवाएं रहती हैं। पति के गुजर जाने के बाद इन्हें परिवार ने बेसहारा छोड़ दिया। दिन भर भगवान कृष्ण के भजन-पूजन में ये रमी रहती हैं। सुबह से लेकर शाम, हर दिन इनका एक जैसा होता है। न कोई खुशी और न कोई उत्सव। ऐसे में इस बार इन महिलाओं ने राखी मनाने का फैसला किया और पीएम मोदी की कलाई के लिए सुंदर राखियां तैयार कीं।

राखी सुलभ इंटरनेशनल के बिंदेश्वरी पाठक को राखी बांधी गई

मोदी से चाहती हैं रक्षा का वचन

इन निराश्रित महिलाओं के मुताबिक उन्हें कुछ नहीं, बस मोदी से रक्षा का वचन चाहिए। महिलाओं ने बुधवार को साधु-संतों की कलाइयों पर भी राखियां बांधीं। सुलभ इंटरनेशनल के बिंदेश्वरी पाठक ने भी महिलाओं से राखी बंधवाई और उनके साथ खुशियों के कुछ पल बांटे। इन निराश्रित विधवाओं को उम्मीद है कि उनका प्रधानमंत्री भाई राखी की लाज रखेगा और उनकी जिंदगी को बेहतर बनाने के लिए कोई कदम उठाएगा।

राखी राखी बंधवाकर खुश दिखे बिंदेश्वरी पाठक

Next Story