Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

जलनिगम की लापरवाही: बूंद-बूंद पानी को तरसते इस गांव के वासिंदे

एई जल निगम सुमित नारायण का कहना है कि-"हमारी योजना सुचार रूप से चल रही है सभी लोग टोटिया लगाएं, जहां पानी नहीं पहुंचेगा वहां पर कार्य किया जाएगा"

Shivakant Shukla

Shivakant ShuklaBy Shivakant Shukla

Published on 10 Nov 2019 3:09 PM GMT

जलनिगम की लापरवाही: बूंद-बूंद पानी को तरसते इस गांव के वासिंदे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अमित कुमार शुक्ला

हमीरपुर: जिले में जलनिगम की लापरवाही के चलते पेयजल संकट गहरा चुका है। पेयजल संकट के निदान हेतु हाल ही में जल निगम द्वारा धौहल,बंगरा गांव में ही मेंटीनेंस पर करोड़ों रुपये खर्च कर दिए बावजूद गांव में पीने के पानी का संकट बना हुआ है।

ये भी पढ़ें—हुई ताबड़तोड़ गिरफ्तारी: फैसले के बाद माहौल खराब करने की कोशिश

केंद्र और प्रदेश सरकार पेयजल की किल्लत को लेकर सख्त है लेकिन सरीला ब्लाक के बंगरा,धौहल बुजुर्ग गांव पर प्रशासन द्वारा कोई सख्त रवैया नही अपनाया गया है। फलस्वरूप भीषण पेयजल संकट के बाद भी जल निगम दो गांव पर ही करोड़ों रुपये मेंटिनेंस पर खर्च कर कागजों में ही समस्याओं का निस्तारण करने में लगा है।

जमीनी हकीकत कुछ और है

पेयजल संकट को लेकर तमाम दावे जो कागजों में अंकित है, पर जमीनी हकीकत कुछ और है। पेयजल संकट को लेकर जल निगम का रवैया यही रहा। तो भीषण पेयजल किल्लत से मुक्ति मिलना मात्र सपना होगा।वही गांव का निरीक्षण कर बीडियो ने भी माना कि गांव मे पानी नही पहुंच रहा।

ये भी पढ़ें—करतारपुर में खतरा! आतंकी कर सकते हैं हमले के लिए धार्मिक स्थल का इस्तेमाल

ग्रामीणों का आरोप है कि योजना सुचारु रुप से नही चल रही इसके बाद भी जल निगम के अधिकारिओं के साथ ग्राम प्रधान मिली भगत कर योजना ग्राम पंचायत पर स्थानांतरित कि जा रही है जबकी गांव मे जर्जर पाइप लाइन पड़ी हुई है| नालियों में ही पाइप लाइन बिछा दी गई है जिससे नालियों का गंदा पानी सप्लाई में पहुँच रहा है ऐसी स्थित मे योजना का स्थानांतरण नही किया जाना चाहिये।

ये भी पढ़ें—धमकी! DHFL में फंसी रकम की गारंटी ले सरकार, नहीं तो 12 के बाद आंदोलन

ग्रामीण सुनील कुमार का कहना है कि-गांव में जो मेंन पाइप लाइन मटकी कुआ पास नाले के नीचे ही बिछा दी गई और लाइन में लीकेज होने के चलते पाइप लाइन पर गंदे नाले का पानी चला जाता है जिससे पानी दूषित हो जाता है।

गांव में पीने के पानी का संकट है

ग्रामीण कैलाश नारायण द्विवेदी का कहना है कि गांव में पीने के पानी का भीषण संकट है नया नलकूप भी लगाया गया बावजूद जलनिगम की लापरवाली के चलते जर्जर लाइन को ठीक नही किया इसलिए गांव में पीने के पानी का संकट है जल निगम के कर्मचारी योजना को गांव में जर्जर लाइन और योजना को सुचारूरूप से चलाए बिना ही स्थानांतरित करना चाहते है योजना सुचारूरूप से चलने के बाद ही हैंडओवर की जाए मजबुरन ग्रामीण अनसन पर बैठेंगे।

ग्रामीण छुट्टन महाराज का कहना है कि मेरे घर के सामने से पानी की टंकी की लाइन निकली है पहले पानी आता था लेकिन 2 वर्ष से एक बुंन्द पानी नही आया आस पास कोई हैंड पम्प नही दो सौ मीटर दूर मटकी कुआ से पानी लाने को मजबूर है| कई बार शिकायत करी लेकिन अभी तक कोई सुनाई नही हुई कल जेई बीडीओ साहब आये थे तो बोल रहे थे कि आपके यहाँ पानी नही आएगा।

क्या कहते हैं जिम्मेदार अधिकारी?

वहीं इस मामले पर मुख्य विकास अधिकारी रामकुमार सिंह ने बताया कि- धौहल गांव में जलनिगम द्वारा संचालित की जा रही पेयजल की योजना सुचारूरूप से चलने के पश्चात ही स्थानांतरित की जाएगा।

खंड विकास अधिकारी सरीला राम सिंह अहिरवार ने बताया कि-"मुझे निर्देश मिला था कि धौहल बुजुर्ग,बंगरा पेयजल योजना ग्राम पंचायत मे हैंडओवर होनी है पिछली बार जो टीमें बनाई गई थी उसी आख्या के आधार पर गांव मे पहुंच कर उन्हीं पॉइंट को फिर से देखा और पाया गया कि गांव मे सभी जगह पानी नहीं पहुंच रहा है"

एई जल निगम सुमित नारायण का कहना है कि-"हमारी योजना सुचार रूप से चल रही है सभी लोग टोटिया लगाएं, जहां पानी नहीं पहुंचेगा वहां पर कार्य किया जाएगा"

Shivakant Shukla

Shivakant Shukla

Next Story