Top

भतीजी को चाची ने कुएं में फेंका, लेने गई थी सरकारी हैंडपंप से पानी

By

Published on 11 May 2016 7:11 AM GMT

भतीजी को चाची ने कुएं में फेंका, लेने गई थी सरकारी हैंडपंप से पानी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बुंदेलखंडः महोबा में पानी के लिए रिश्ते भी तार-तार हो रहे है। श्रीनगर थाना क्षेत्र के पिपरामाफ में सरकारी हैंडपंप पर पानी भरने के विवाद में चाची ने 8 साल की भतीजी को सूखे कुएं में फेंक दिया। कुएं में गिरते ही लड़की बेहोश हो गई। होश आने पर उसने शोर मचाया तब ग्रामीणों ने उसे कुएं से बाहर निकाला और इलाज के लिए जिला हॉस्पिटल में भर्ती कराया। वहां डॉक्टरों ने उसे झांसी मेडिकल के लिए रेफर कर दिया है।

क्या है मामला?

-घनश्याम प्रजापति की 8 साल की बेटी क्रांति सरकारी हैंडपंप से पानी भर रही थी।

-वहां घनश्याम का भाई किशन और उसकी पत्नी भी पानी भरने पहुंच गए।

-उसने क्रांति की बाल्टी हटा कर अपनी बाल्टी लगा दी।

यह भी पढ़ें...सियासत करने वाले देखें! लीक पानी लेने पर महोबा के किसान को भेजा जेल

-इस पर क्रांति ने चाची से पानी भर लेने के लिए कहा तो वह उससे लड़ने लगी।

-क्रांति ने कहा कि ये सरकारी हैंडपंप है तो इस पर चाचा किशन आक्रोशित हो गया।

-पत्नी से क्रांति को कुएं में फेंकने के लिए कहने लगा।

-पत्नी ने क्रांति को कुएं में धकेल दिया और वहां से भाग गए।

-कुएं में गिरकर क्रांति बिहोश हो गई जब उसे होश आया तो उसने शोर मचाया।

-कुएं से लड़की की आवाज सुनकर ग्रामीण इकट्ठा हो गए।

-उसे कुएं से निकाल कर,घटना की सूचना पुलिस को दी।

-क्रांति को पुलिस इलाज के लिए जिला हॉस्पिटल लेकर आई।

-वहां उसका इलाज किया जा रहा है।

क्या कहती है पीड़िता?

-क्रांति ने कहा कि वह हैंडपंप से पानी भरने गई थी।

-उसके सगे चाचा के कहने पर चाची ने उसे कुएं में फेंक दिया।

-क्रांति के सीने में गहरी चोटें आने पर डॉक्टर ने उसे झांसी मेडिकल रिफर कर दिया है।

यह भी पढ़ें...वैगनों में भरा जा रहा पानी, महोबा जाएगा या नहीं कंफ्यूजन बरकरार

क्या कहते हैं परिजन?

-घनश्याम और मां राजकुमारी ने कहा कि पानी को लेकर गांव में रोजाना झगडे होते रहते है।

-पानी की बड़ी समस्या है लेकिन आज तो इस पानी ने मेरी बच्ची को ही घायल कर दिया।

-मेरे भाई भाभी ने ही उसे पानी के विवाद में कुएं में मरने के लिए फेंक दिया।

-इस मामले में पुलिस हमारी सुनवाई नहीं कर रही।

-पुलिस कप्तान से भी हमने शिकायत की लेकिन अभी तक केस दर्ज नहीं किया है।

-मामला पानी से जुड़ा होने के चलते पुलिस अधिकारी कुछ भी बोलने से बच रहे है।

Next Story