×

बड़ा सवाल! कौन बनेगा यूपी का अगला DGP, कोई ठाकुर या ब्राहमण

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 22 Sep 2017 10:40 AM GMT

बड़ा सवाल! कौन बनेगा यूपी का अगला DGP, कोई ठाकुर या ब्राहमण
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ : यूपी पुलिस के मुखिया की रेस में डीजी विजिलेंस हितेश चंद्र अवस्थी भी शामिल हो गए हैं। जातीय समीकरण दुरुस्त करने की कोशिश में जुटी योगी सरकार 1985 बैच के हितेश चंद्र अवस्थी को यूपी का डीजी बना सकती हैं। डीजी की रेस में यूपी के सब से सीनियर आईपीएस प्रवीण सिंह से लेकर डीजी रैंक में सब से जूनियर भावेश कुमार सिंह और डीजी रूल्स एन्ड मैनुवल प्रमोद कुमार तिवारी शामिल हैं।

ये भी देखें:सनी को आता गुस्सा, ऋतु की लगाई जानिए क्लास, जानिए क्यों?

यूपी पुलिस का मुखिया कौन होगा? सूबे भर में आईपीएस अफसरों के अलावा पुलिस महकमे में दखल रखने वालों के सामने सब से बड़ा सवाल यही है। डीजीपी सुलखान सिंह इसी माह रिटायर हो रहे हैं। उन की जगह कौन लेगा इस को लेकर ज़ोर आज़माइश शुरू हो गई है। इस रेस में सब से सीनियर डीजी रैंक के अफसर के साथ सब से जूनियर डीजी भी शामिल हैं।

सीनियारिटी पर हुआ फैसला तो प्रवीण सिंह होंगे डीजी

यूपी की नई नवेली योगी सरकार ने एस जावीद अहमद को हटा कर प्रदेश के सीनियर आईपीएस अफसर सुलखान सिंह को यूपी पुलिस का मुखिया बनाया था। 1980 बैच के आईपीएस अफसर सुलखान सिंह का कार्यकाल इसी माह ख़त्म हो रहा है। अब अगर योगी सरकार सीनियारिटी को ही पैमाना बना कर यूपी पुलिस के नए मुखिया की तलाश करती हैं। तो 1982 बैच के प्रवीण सिंह डीजी यूपी होंगे। प्रवीण सिंह डीजी फायर सर्विस हैं। और 3 मार्च 2014 को प्रमोट होकर डीजी बने थे। प्रवीण सिंह का कार्यकाल जून 2018 तक होगा।

ये भी देखें:गोरक्षा के नाम पर हिंसा: SC- दोषियों पर हो कार्रवाई, पीड़ितों को दें मुआवजा

समीकरण साधने जुटी सरकार तो हितेश चंद्र अवस्थी की लगेगी लाटरी

यूपी जातीय समीकरण को लेकर योगी सरकार पसोपेश में हैं। इसी समीकरण को साधने के लिए यूपी पुलिस के मुखिया के तौर पर ब्राह्मण चेहरे का चयन कर सकती हैं। इस नज़रिये से अगर डीजी का चुनाव होता है तो 1985 बैच के हितेश चंद्र अवस्थी के डीजी पुलिस का मुखिया बनने की संभावना अधिक है। हितेश अवस्थी सीनियारटी लिस्ट में 11 नंबर पर हैं। लेकिन यूपी काडर में डीजी रैंक के अफसरों में सबसे सीनियर ब्राह्मण चेहरा हैं। 1 फरवरी 2016 को प्रमोट हुए हितेश अवस्थी डीजी विजिलेंस हैं। हितेश अवस्थी जून 2021 में रिटायर होंगे।

पार्टी काडर की चली तो पी के तिवारी होंगे मुखिया

यूपी में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी के काडर की चली तो डीजी रूल्स एन्ड मैनुवल प्रमोद कुमार तिवारी यूपी पुलिस के मुखिया होंगे। 1986 बैच के पी के तिवारी 8 अगस्त 2016 को प्रमोट हो कर डीजी बने हैं। प्रमोद कुमार तिवारी का कार्यकाल जुलाई 2019 तक का होगा।

ये भी देखें:हत्या के दो मामलों में ‘बलात्कारी बाबा’ के खिलाफ आज फिर होगी सुनवाई

योगी की चली तो भावेश सिंह होंगे यूपी पुलिस के मुखिया

यूपी पुलिस के मुखिया की रेस में सब से चर्चित नाम भावेश कुमार सिंह का है। यूपी में डीजी रैंक पर सब से जूनियर भावेश कुमार सिंह डीजी इंटेलिजेंस हैं। आईजी गोरखपुर समेत कई महत्वपूर्ण ज़िलों के पुलिस मुखिया रहे भावेश कुमार सिंह 1987 बैच के आईपीएस अफसर हैं। 1 अगस्त 2017 को प्रमोट होकर डीजी बने भावेश कुमार सिंह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सब से भरोसेमंद अफसरों में शुमार किये जाते हैं। उन का कार्यकाल जनवरी 2020 तक होगा।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story