मेडिकल जांच के बिना अब नही होगा बॉर्डर पार, लगा सख्त पहरा

बागपत जनपद में भी लॉक डाउन के मद्देनजर हरियाणा दिल्ली राजस्थान से आने वाले लोगों को उनके घरों तक भेजने के लिए बसे लगाई गई है। बसों में लोगो को बैठाने से पहले उनकी चिकित्सक जांच कर रहे है।

पारस जैन

लखनऊ : बागपत जनपद में भी लॉक डाउन के मद्देनजर हरियाणा दिल्ली राजस्थान से आने वाले लोगों को उनके घरों तक भेजने के लिए बसे लगाई गई है। बसों में लोगो को बैठाने से पहले उनकी चिकित्सक जांच कर रहे है। इसके अलावा सभी बॉर्डर पर सख्त पहरा भी बैठा दिया गया है। एक एक की जांच करके ही उन्हें एंट्री दी जा रही है। सभी लोगो के लिए भोजन की व्यवस्था भी कराई गई है । लेकिन अब यूपी हरियाणा दिल्ली बॉर्डर पर बागपत पुलिस का सख्त पहरा लग चुका है जो व्यक्ति मेडिकल जांच में सन्दिग्ध पाया जाएगा उसे अब अस्पताल में आइसोलाइट किया जाएगा।

ये भी पढ़ें…93 साल में ऐसे जीती कोरोना की जंग, अब साथ है ये बुजुर्ग जोड़ा

कई सौ किलोमीटर पैदल चलकर

आपको बता दे कि देशभर में लोग डाउन लगा हुआ है जिसके चलते हरियाणा, राजस्थान और दिल्ली में नौकरी करने वाले हजारों मजदूर अपने गंतव्य की ओर लौट रहे हैं। लेकिन इस दौरान उन्हें बड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। कई सौ किलोमीटर पैदल चलने के बाद बागपत में भी हजारों की संख्या में यह लोग दर-दर भटक रहे हैं। लंबा सफर कर वह बागपत तक पहुँच रहे है। बागपत के निवाड़ा चेक पोस्ट पर इनके लिए बसों की व्यवस्था की गई है।

यहीं प्रशासन की ओर से चिकित्सको की टीम भी तैनात की गई है। यह टीम एक एक की गहनता से जांच कर रही है। बच्चो तक की जांच की जा रही है। यहां आने वालों को बैठाया जा रहा है। जब बसे आती है तो उनकी जांच कर उन्हें उसमे सवार किया जाता है। साथ ही उन्हें खाने पे पैकेट भी दिए जा रहे है

ये भी पढ़ें… चली दनादन लाठियाँ: धरने पर बैठे थे लोग, पुलिस ने की कार्यवाही

हालांकि कुछ यात्रियों का कहना है कि यहां तक पहुंचने में उन्हें भूखे प्यासे रहना पड़ा है। यहां से प्रशासन उन्हें उनके गंतव्य तक छोड़ रहा है। साथ ही बागपत की तीनों तहसीलों में आश्रय स्थल भी बनाए गए हैं। उनमें रहने व खाने की समुचित व्यवस्था की गई है। देखा जाए तो बॉर्डर को पूरी तरह से सील भी कर दिया गया है और सख्त पहरा बैठाया गया है।