आनंदीबेन की पहल से राजभवन में जगी महिलाओं को लिए ये अलख

लखनऊ। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की प्रेरणा से राजभवन परिसर में आवासित परिवार की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाये जाने हेतु ‘स्वयं सहायता समूह’ के गठन के संबंध में आज एक बैठक का आयोजन किया गया।

इसे भी पढ़ें-

मॉरीसस के राष्ट्रपति से जब मिली आनंदी बेन पटेल, तो कही ये बात

बैठक में अपर मुख्य सचिव राज्यपाल हेमन्त राव, विशेष सचिव डॉ. अशोक चन्द्र, विशेष सचिव एवं वित्त नियंत्रक साधना श्रीवास्तव, राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन की प्रोजेक्ट डायरेक्टर निधि बाजपेयी, डिस्ट्रिक्ट मिशन मैनेजर अम्बेश सिंह, ईश्वर चाइल्ड फाउंडेशन की सपना उपाध्याय सहित राजभवन में आवासित परिवार की महिलाएं उपस्थित थीं।

राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन की प्रोजेक्ट डायरेक्टर निधि बाजपेयी ने महिलाओं से सिलाई, मोमबत्ती बनाना, कम्प्यूटर प्रशिक्षण, पेन्टिग इत्यादि पर चर्चा करते हुए स्वयं सहायता समूह की कार्यपद्धति के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि महिलाओं को प्रशिक्षण प्राप्त करने के पश्चात् कुटीर उद्योग के माध्यम से रोजगार मिल सकता है तथा वे आत्मनिर्भर बन सकती हैं।

इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव हेमन्त राव ने महिलाओं को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि आप अपनी रूचि के कार्यक्षेत्र का चयन कर प्रशिक्षण प्राप्त करें। प्रशिक्षण के उपरांत स्वयं सहायता समूह से जुड़कर कुटीर रोजगार के माध्यम से आत्मनिर्भर बनें। उन्होंने कहा कि स्वयं सहायता समूह के गठन एवं रोजगार प्रारम्भ करने के लिये सरकार की ओर से आर्थिक मदद प्रदान की जायेगी। राज्यपाल आनंदीबेन गुजरात से लेकर लखनऊ तक महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सतत प्रयत्नशील रही हैं।