काशी में गूंजेंगी गीत रामाणय की स्वलहरियां, CM योगी और देवेंद्र फडनवीस करेंगे शिरकत

उत्तर प्रदेश सरकार और महाराष्ट्र सरकार के बीच सांस्कृतिक आदान-प्रदान के निमित्त दो दिवसीय गीत रामायण का आयोजन किया गया है। इसका शुभारंभ राज्यपाल राम नाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस करेंगे।

वाराणसी: उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र के बीच रिश्ता काफी पुराना है। मायानगरी मुंबई ने यूपी के रहने वाले लाखों लोगों को रोजगार दिया है तो वहीं यूपी के कई शहरों में मराठा समुदाय से जुड़े हजारों लोग रहते हैं। हाल के सालों में दोनों प्रदेश सांस्कृतिक रुप से भी एक दूसरे के करीब आए हैं। रिश्तों की इसी गर्मजोशी को बढ़ाने के लिए यूपी और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री गुरुवार को वाराणसी पहुंच रहे हैं। मौका है गीत रामायण समारोह का।

यह भी पढ़ें…..AFC ASIAN CUP 2019 : भारत का मैच आज, UAE को पहली बार हराने पर नजर

क्या है गीत रामायण?
उत्तर प्रदेश सरकार और महाराष्ट्र सरकार के बीच सांस्कृतिक आदान-प्रदान के निमित्त दो दिवसीय गीत रामायण का आयोजन किया गया है। इसका शुभारंभ राज्यपाल राम नाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस करेंगे। अब सवाल है कि गीत रामायण आखिर है क्या? दरअसल इस साल महाराष्ट्र के बड़े साहित्यकार स्वर्गीय जीडी माडगुलकर और गायक स्वर्गीय सुधीर फड़के का जन्मशताब्दी वर्ष है। यही गीत रामायण के रचयिता है।

महाराष्ट्र के इन दोनों दिग्गजों को स्वरांजलि देने के लिए यूपी सरकार ने गीत रामायण कार्यक्रम का आयोजन किया है। इस मौके पर जीडी माडगुलरक के बेटे आनंद माडगुलकर और सुधीर फड़के के बेटे श्रीधर फड़के गीत रामायण की भावपूर्ण प्रस्तुति देंगे। वाराणसी के अलावा आगरा और मेरठ में गीत रामाणय कार्यक्रम की प्रस्तुति होगी।

यह भी पढ़ें…..गोरखनाथ मंदिर: मकर संक्रांति मेले की सुरक्षा करेंगे 700 से ज्यादा सुरक्षाकर्मी

काशी और मराठा का है गहरा संबंध
दरअसल काशी और मराठा का गहरा संबंध है। दोनों के बीच सांस्कृति तौर पर भी रिश्ते रहे हैं। गंगा तट पर बने कई घाट मराठा राजाओं ने बनवाए हैं। यही नहीं पक्के महाल में मराठा समुदाय से जुड़े एक लोगों की पूरी बस्ती ही है। यही कारण है कि कार्यक्रम के लिए बनारस को चुना गया। कार्यक्रम को कामयाब बनाने के लिए जिला प्रशासन की पूरी मशीनरी लगी हुई है। खुद कमिश्नर और आईजी रेंज ने कार्यक्रम स्थल का दौरा कर निरीक्षण किया।