Top

VIDEO: योगी ने सलमा के बयान को सराहा, कहा-नमाज की क्रियाएं भी हैं योग

By

Published on 24 May 2016 1:48 PM GMT

VIDEO: योगी ने सलमा के बयान को सराहा, कहा-नमाज की क्रियाएं भी हैं योग
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गोरखपुर: सांसद योगी आदित्‍यनाथ ने उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी की पत्नी सलमा अंसारी के ओम पर दिए बयान को सही ठहराया है। उन्होंने कहा कुछ नासमझ लोग बेवजह इसे सांप्रदायिक रंग देने का प्रयास कर रहे हैं।

क्या कहा योगी आदित्‍यनाथ ने ?

योगी आदित्‍यनाथ ने कहा, 'सलमा अंसारी जी का बयान स्वागत योग्य है। योग और 'ॐ' को विवादित बनाना उनके नासमझी को ही प्रदर्शित करता है। वे इसे अनावश्यक सांप्रदायिक मसला बनाने का प्रयास कर रहे हैं।'

योगी ने बताया 'ॐ' का मतलब

सांसद ने बताया, ओम-ओमकार इस सृष्टी की प्रथम धुनि है। तीन अक्षरों से मिलकर 'अ', 'ऊ' और 'म' से बना है। इससे हमारे शरीर में स्थित चक्रों और अन्तः श्रावी ग्रन्थियों पर प्रभाव पड़ता है। ओमकार का उच्चारण स्वास्थ्य की दृष्टि से प्रणाली की शुद्धता की एक उत्तम क्रिया है।

पीएम के प्रयासों की सराहना की

सांसद योगी आदित्यनाथ ने योग को बढ़ावा देने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा, भारत के इस प्राचीन विधा को अंतर्राष्ट्रीय मान्यता प्राप्त हुई है। 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाया जा रहा है।

नमाज पढ़ने में भी होती हैं योग क्रियाएं

योगी ने बताया, हमारा प्रत्येक कार्य जो संयमबद्ध हो अपने आप में योग है। उसी तरह नमाज पढ़ने के दौरान जो पांच क्रियाएं होती हैं वह अपने आप में योग है। लेकिन समस्या यह है कि लोग इसे समझना ही नहीं चाहते हैं। कुछ लोग इसे सांप्रदायिक चश्मे से देखते हैं। तो देखें वो इसके लिए स्वतंत्र हैं। आंख रहते हुए कोई अंधा होने का ढोंग करे तो उसका कोई इलाज नहीं है।

बजरंग दल के ट्रेनिंग को बताया सही

वहीं बजरंग दल की ओर से हथियारों का प्रशिक्षण दिए जाने के सवाल पर योगी ने कहा,इसमें क्या बुराई है। मैं कहता हूं कि देश के प्रत्येक नागरिक को सैन्य ट्रेनिंग दी जानी चाहिए। समाज और राष्ट्र की रक्षा के लिए यह जरूरी है।

Next Story