Top

सीएम योगी बोले- टीकाकरण कोरोना से बचाव का सबसे अच्छा माध्यम

प्रदेश में व्यापक स्तर पर कोरोना टेस्ट किए जा रहे हैं। अब तक 4 करोड़ 36 लाख से अधिक टेस्ट किए जा चुके हैं।

Shreedhar Agnihotri

Shreedhar AgnihotriWritten By Shreedhar AgnihotriShwetaPublished By Shweta

Published on 13 May 2021 4:33 PM GMT

योगी
X

योगी (फाइल फोटो सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: प्रदेश में व्यापक स्तर पर कोरोना टेस्ट (Corona test) किए जा रहे हैं। अब तक 4 करोड़ 36 लाख से अधिक टेस्ट किए जा चुके हैं। टीकाकरण कोरोना से बचाव का सबसे अच्छा माध्यम है। अब तक 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को एक करोड़ 43 लाख टीके लगाये जा चुके हैं। 18 से 45 वर्ष उम्र के लोगों को 2,65,745 टीके लगे हैं।

बता दें कि अलीगढ़ में मीडिया प्रतिनिधियों से वार्ता करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने कहा कि पिछले 12 दिनों के अन्दर प्रदेश में कोरोना के एक्टिव मामलों की संख्या में 1 लाख 6 हजार की कमी आयी है। अलीगढ़ मण्डल में एक्टिव केस की संख्या अब कम होती जा रही है। पिछले एक सप्ताह में यहां पर लगभग 200 से अधिक एक्टिव केस कम हुए हैं। पाॅजिटिविटी रेट में निरन्तर गिरावट आ रही है। मण्डल में यह पहले 20 प्रतिशत के आसपास थी, अब घटकर 5 प्रतिशत के आसपास है। इस पाॅजिटिविटी रेट को और भी कम करने को कहा गया गया है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अलीगढ़ स्थित एएमयू सभागार में आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक के बाद ग्राम गोकुलेशपुरम पहुंचकर कोरोना संक्रमित व्यक्ति कुलदीप आर्य से संवाद स्थापित कर उनका हालचाल जाना। उन्होंने मेडिकल किट मिलने के सम्बन्ध में भी जानकारी प्राप्त की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि गांवों में बाहर से आने वाले प्रत्येक व्यक्ति की जांच अवश्य करायी जाए, इसके बाद ही उसे घर जाने दिया जाए। ऐसा करने से पूरा गांव सुरक्षित रहेगा।

इसके पूर्व, मुख्यमंत्री योगी ने अलीगढ़ पहुंचकर कलेक्ट्रेट स्थित इण्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कण्ट्रोल सेण्टर ( आईसीसीसी ) का निरीक्षण किया। उन्होंने प्रभारी सहित उपस्थित स्टाफ से सीधा संवाद स्थापित करते हुए आईसीसीसी द्वारा संचालित विभिन्न गतिविधियों की जानकारी प्राप्त की । समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि कि गांवों को संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा निगरानी समितियां एवं आरआरटी के माध्यम से विशेष जांच अभियान संचालित किया जा रहा है। अभियान के प्रभावी और त्वरित संचालन के लिए उन्होंने निगरानी समितियों एवं आरआरटी की संख्या में कार्य के अनुरूप वृद्धि करने को कहा ।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा यह सुनिश्चित किया जाए कि निजी चिकित्सालय एवं निजी एम्बुलेंस द्वारा निर्धारित दर से अधिक शुल्क न लिया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रत्येक जनपद में पिछले 24 घण्टे के अन्दर सामने आये कोरोना वायरस के नये मामलों, संक्रमण से स्वस्थ हुए मरीजों और सक्रिय केस की प्रतिदिन समीक्षा की जाए। उन्होंने काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग को और प्रभावी बनाने पर बल देते हुए कहा कि इससे हम संक्रमित व्यक्तियों की जल्द पहचान कर सकेंगे, जो कोरोना की चेन तोड़ने में कारगर सिद्ध होगा।योगी आदित्यनाथ ने कहा कि होम आइसोलेशन में रह रहे संक्रमित व्यक्तियों के साथ आईसीसीसी के माध्यम से नियमित संवाद स्थापित करते हुए उनके स्वास्थ्य की जानकारी प्राप्त की जाए और उन्हें मेडिकल परामर्श दिया जाए। प्रत्येक कोविड हाॅस्पिटल द्वारा दिन में कम से कम एक बार मरीज के स्वास्थ्य एवं उपचार की जानकारी उसके परिजनों को अवश्य दी जाए।

Shweta

Shweta

Next Story