×

Lucknow: मंत्री एके शर्मा के कंधों पर बड़ा दारोमदार, स्मार्ट सिटी योजना का सपना करेंगे साकार

Lucknow News: मंत्री एके शर्मा ने यूपी के नगर विकास विभाग की जिम्मेदारी संभाली है। पहले दिन से राजधानी लखनऊ सहित सभी नगर निगमों और नगर निकायों के कायाकल्प में लगे हैं।

Rahul Singh Rajpoot
Updated on: 19 April 2022 2:31 PM GMT
Yogi Cabinet Minister AK Sharma handed over responsibility of urban development of UP
X

मंत्री एके शर्मा के कंधों पर बड़ा दारोमदार। 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Yogi Cabinet Minister AK Sharma: नौकरशाह से सफेदपोश बने यूपी के नगर विकास और ऊर्जा मंत्री किसी पहचान के मोहजात नहीं हैं। पूर्वांचल से लेकर दिल्ली और गुजरात तक उनके नाम की चर्चा होती रही है। एके शर्मा (AK Sharma) जब से यूपी के नगर विकास विभाग की जिम्मेदारी संभाले हैं, पहले दिन से राजधानी लखनऊ सहित सभी नगर निगमों और नगर निकायों के कायाकल्प में लगे हैं।

उन्होंने शहरों और निकायों की साफ सफाई और सौंदर्यीकरण के लिए मिशन कायाकल्प अभियान (Mission Kayakalp Abhiyan) शुरू किया है, जिसके लिए समय सीमा 60 दिन की रखी गई है। मिशन कायाकल्प का असर पहले हफ्ते में ही नजर आने लगा है। लखनऊ नगर निगम (Lucknow Municipal Corporation) में सुबह पांच बजे से 8 तक सफाई कार्य खत्म करने के निर्देश हैं। शाम को फिर से सफाई का कार्य हो रहा है, जिससे लखनऊ को स्वच्छ और स्वस्थ बनाया जा सके।


योगी सरकार में कद्दावर मंत्री हैं एके शर्मा

अरविंद कुमार शर्मा (AK Sharma) को योगी कैबिनेट (Yogi Cabinet) में बड़ी जिम्मेदारी सौंपी गई है। जिससे आप उनके कद को आसानी से समझ सकते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के बेहद करीबी अफसर रहे एके शर्मा उन्हीं के कहने पर वीआरएस लेकर राजनीति में उतरें और अब उनके पास नगर विकास, शहरी समग्र विकास, नगरीय रोजगार एवं गरीबी उन्मूलन और ऊर्जा, अतिरिक्त ऊर्जा श्रोत विभाग की बड़ी जिम्मेदारी उनके पास है।


इतनी बड़ी जिम्मेदारी मिलने के बाद अब एके शर्मा भी पीएम मोदी (PM Modi) और सीएम योगी (CM Yogi) के भरोसे पर खरा उतरने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। वह सफाई व्यवस्था को देखने के लिए कभी सुबह पांच बजे निकल जाते हैं तो कभी हवाई चप्पल में ही बिजली विभाग के दफ्तरों का निरीक्षण करने पहुंच जाते हैं। उन्होंने अपने विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों से पूरा सहयोग मांगा है। इतने बड़े विभागों के मंत्री होने के बाद भी वह सफाई कर्मचारियों को जहां खुद नमस्कार कर उनका हौसला बढ़ाते हैं। वहीं उनसे सुबह 5 बजे से काम भी लेते हैं। उनका ये कार्य करने का तरीका अलग भले ही लेकिन उसके रिजल्ट शुरुआती दिनों में खासकर राजधानी में तो दिखाई देना लगा है।


मऊ जिले हैं निवासी

अरविंद कुमार शर्मा (Arvind Kumar Sharma) का जन्म 11 अप्रैल 1962 को मऊ जिले के काझा गांव के निवासी हैं। एके शर्मा भूमिहार ब्राह्मण समुदाय से आते हैं। उन्होंने पॉलिटिकल साइंस, दर्शनशास्त्र और अर्थशास्त्र में फर्स्ट क्लास से ग्रेजुएशन किया है। उन्होंने पॉलिटिकल साइंस में मास्टर डिग्री हासिल की है। ऑस्ट्रेलिया से मास्टर ऑफ पब्लिक पॉलिसी और अमेरिका से स्ट्रक्चरिंग टैरिफ की ट्रेनिंग भी ली है। वह गुजरात कैडर के 1988 बैच के आईएएस अफसर रहे। जनवरी 2021 में उन्होंने वीआरएस लेकर भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की थी।


इसके बाद बीजेपी ने उन्हें एमएलसी और संगठन में भी जिम्मेदारी सौंपी। इससे पहले वह लंबे समय तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ काम किया। एके शर्मा वर्ष 2001 से लेकर 2013 तक तत्कालीन गुजरात के सीएम नरेंद्र मोदी के साथ सीएम कार्यालय में रहे। 2014 में नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद उनके साथ पीएमओ आ गए। वह पीएमओ में संयुक्त सचिव के पद पर रहे। उसके बाद प्रमोशन पाकर वह सचिव बने।

टाटा नैनो लाने में निभाई अहम भूमिका

गुजरात में टाटा नैनो को लाने का श्रेय अरविंद कुमार शर्मा (Arvind Kumar Sharma) को जाता है। पहले टाटा नैनो का यह प्रोजेक्ट पश्चिम बंगाल में लगना था, लेकिन वहां भारी विरोध की वजह से इसे गुजरात लाया गया। उस वक्त नरेंद्र मोदी मुख्यमंत्री थे और अरविंद कुमार शर्मा (Arvind Kumar Sharma) सीएम कार्यालय में तैनात थे। इस प्रोजेक्ट को बंगाल से गुजरात लाने में एके शर्मा (Arvind Kumar Sharma) ने ही अहम भूमिका निभाई थी।


ऐसे बढ़ा एके शर्मा का कद

जनवरी 2021 में रिटायरमेंट लेने के बाद अरविंद कुमार शर्मा (Arvind Kumar Sharma) लखनऊ आ गए। उनके एमएलसी बनते ही यह खबरें तौरने लगी कि अब एके शर्मा मंत्री बनेंगे। लेकिन ऐसे नहीं हुआ। योगी सरकार 2.0 में अरविंद कुमार ताकतवर बनकर उभरे उन्हें भारी भरकम नगर विकास और ऊर्जा विभाग का जिम्मेदारी सौंपी गई है। अब उनके जिम्मे पीएम मोदी (PM Modi) के ड्रीम प्रोजेक्ट स्मार्ट सिटी योजना (Smart City Planning) को धरातल पर उतारने की है. क्योंकि केंद्र सरकार (Central Government) की इस योजना पर वैसा काम नहीं हो पाया जैसा प्लान बनाया गया था। अब पीएम मोदी काफी विचार विमर्श के बाद अपने भरोसेमंद एके शर्मा को नगरों के विकास की जिम्मेदारी सौंपी है। उसी भरोसे पर खरा उतरने के लिए एके शर्मा दिन-रात उस पर कार्य कर रहे हैं।

देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story