×

कच्ची शराब कहीं एक साजिश तो नही, पूर्व में भी हो चुका है ऐसा: योगी

इस पूरे घटना क्रम मेजो भी दोषी होगा उसे बक्सा नही जाएगा, लेकिन अगर इसके पीछे आजमगढ़ हरदोई कानपुर बाराबंकी अन्य जगहों पर साजिश हुई तो उन लोगो पर शक्ति कार्यवाही होगी, और इस जहरीली शराब बनाने वालों पर कार्यवाही भी करने के निर्देश दिए है।

Shivakant Shukla

Shivakant ShuklaBy Shivakant Shukla

Published on 9 Feb 2019 4:42 PM GMT

कच्ची शराब कहीं एक साजिश तो नही, पूर्व में भी हो चुका है ऐसा: योगी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने दो दिवसीय दौरे पर गोरखपुर पहुंचे इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने सर्किट हाउस में बने नवनिर्मित एनेक्सी भवन का लोकार्पण किया उसके बाद भारतीय स्टेट बैंक के प्रशासनिक भवन का उद्घाटन किया।

मीडिया से मुखातिब होते हुए मुख्यमंत्री ने कुशीनगर सहारनपुर में हुई कच्ची शराब पीने से लोगों की मौत पर समाजवादी पार्टी को घेरते हुए कहा, कि ये एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। हरिद्वार के पास सहारनपुर, मेरठ से जुड़े हुए उत्तर प्रदेश के कुछ निवासी गए थे, वहां पर किसी एक कार्यक्रम में गए थे, उत्तराखंड के हरिद्वार का वो गांव था, उस भोज में जब वो गए थे, कच्ची शराब भोज में परोसी गई थी। वो कच्ची शराब मिलावटी थी, जहरीली थी, कैसी थी ये सब जांच के बाद सामने आएगा, उससे भारी संख्या में उत्तराखंड में भी उत्तर प्रदेश में भी सहरानपुर और अन्य जनपदों में भी मौते हुई है, हम इसकी जांच भी करवा रहे है।

ये भी पढ़ें— सामूहिक विवाह कार्यक्रम में भाजपा व अपना दल का खुल कर सामने आया आपसी कलह

कच्ची शराब बनाने का एक रैकेट वहां कार्यरत था उत्तराखंड के मुख्यमंत्री से मैन चर्चा की है, कि इसके बारे में हमे थोड़ा जानकारी उपलब्ध हो जाती या किसी ने कोई इनमें शरारत की है, क्योकि इस प्रकार की शरारत पूर्व भी ऐसी हुई है, दोषियों के खिलाफ कार्यवाही भी करेंगे क्योकि आजमगढ़ में जब इन तरह की घटना हुई थी, तो समाजवादी पार्टी के एक नेता उसमे लिप्त पाया गया था|

ये भी पढ़ें— उन्नाव रेप पीड़िता के पिता को फर्जी केस में फंसाने के मामले में कोर्ट ने लिया संज्ञान

हरदोई में इस प्रकार के घटना की तैयारी हो रही थी, तो उसमें भी समाजवादी पार्टी का प्रत्याशी पकड़ा गया था, कानपुर में जहरीली बाराबंकी में समाजवादी पार्टी के नेता पकड़े गए थे, तो स्वभाविक रूप से ये एक खड़यंत्र है या नही इसको लेकर उत्तराखंड से मैने जानकारी मांगी है, उसे शेयर करने की बात मृतक परिवारों के प्रति सभी से हमारी सवेदना है, और प्रदेश की हमाए सरकार की तरफ से 2 - 2 लाख की सहायता और जिनका इलाज अस्पताल में चल रहा है, उन्हें 50 हजार की सहायता हमने अपने राज्य सरकार की तरफ से की है, प्रशासन को सभी जगह हमने एलर्ट कर दिया है, कि उन सभी को सुविधाएं दे, जिससे लोगो को बचाया जा सके|

ये भी पढ़ें— UPSIDC के चीफ इंजीनियर प्रोजेक्ट अरूण मिश्रा के खिलाफ जारी रहेगी विभागीय जांच: कोर्ट

इस प्रकार किसी भी कृत्य को रोकने के लिए प्रभावी कार्यवाही करने के पहले भी निर्देश दिए गए थे, उस सब के बावजूद कुशीनगर और सहरानपुर में घटना घटित हुई तो वहां के जिला अधिकारी आबकारी इंस्पेक्टर और सबंधित थाना के जो भी थाना अध्यक्ष सब इंस्पेक्टर बीट के सभी हल्का सिपाहियों की जवाबदेही भी तय हुई है, इस पूरे घटना क्रम मेजो भी दोषी होगा उसे बक्सा नही जाएगा, लेकिन अगर इसके पीछे आजमगढ़ हरदोई कानपुर बाराबंकी अन्य जगहों पर साजिश हुई तो उन लोगो पर शक्ति कार्यवाही होगी, और इस जहरीली शराब बनाने वालों पर कार्यवाही भी करने के निर्देश दिए है।

Shivakant Shukla

Shivakant Shukla

Next Story