×

सड़क दुर्घटनाओं में युवा वर्ग सबसे अधिक प्रभावितः परिवहन आयुक्त

राज्य स्तरीय भाषण प्रतियोगिता में गाजियाबाद के प्रेसीडियम स्कूल की छात्रा साक्षी द्विवेदी प्रथम बदायूं के द्रौपदी देवी सरस्वती विद्यामंदिर के छात्र तरूण कुमार द्वितीय व अलीगढ़ के मिंटो सर्किल हाईस्कूल के विद्यार्थी सूफियान आफताब तीसरे स्थान पर रहे

राम केवी

राम केवीBy राम केवी

Published on 22 Jan 2020 4:05 PM GMT

सड़क दुर्घटनाओं में युवा वर्ग सबसे अधिक प्रभावितः परिवहन आयुक्त
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के परिवहन आयुक्त धीरज साहू ने कहा कि सड़क दुर्घटनाओं में सबसे अधिक युवा वर्ग प्रभावित हो रहा है। छात्र सड़क सुरक्षा से भली-भांति परिचित हों, उनके अन्दर इसके प्रति जागरूकता पैदा हो। इस सड़क सुरक्षा का संदेश है कि छात्र-छात्राएं अपने-अपने स्कूलों, आस-पड़ोस तथा रिश्तेदारों में सड़क सुरक्षा के बारे में जागरूकता फैलाएं।

श्री साहू ने यह विचार आज लोक निर्माण मुख्यालय के विश्वेश्वरैया प्रेक्षागृह में सड़क सुरक्षा पर राज्य स्तरीय भाषण प्रतियोगिता के समापन समारोह में व्यक्त किए।

उन्होंने कहा कि विगत वर्ष की भांति इस वर्ष भी परिवहन विभाग ने प्रदेश के सभी जनपदों में शिक्षा विभाग के सहयोग से छात्रों में यातायात नियमों एवं सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूकता उत्पन्न करने के लिए कक्षा 9 से 12 तक के विद्यार्थियों के बीच भाषण प्रतियोगिता का आयोजन मण्डल स्तर पर कराया गया।

सड़क दुर्घटनाओं

तीन टापर छात्र

मण्डल स्तर प्रथम तीन विजेता छात्रों की राज्य स्तर पर प्रतियोगिता कराई गई। इसमें गाजियाबाद के प्रेसीडियम स्कूल की छात्रा साक्षी द्विवेदी प्रथम स्थान पर रहीं, जबकि बदायूं के द्रौपदी देवी सरस्वती विद्यामंदिर के छात्र तरूण कुमार ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। इनके अलावा अलीगढ़ के मिंटो सर्किल हाईस्कूल के विद्यार्थी सूफियान आफताब तीसरा स्थान प्राप्त करने में कामयाब रहे।

परिवहन आयुक्त ने बताया कि राज्य स्तरीय भाषण प्रतियोगिता में सभी 18 मण्डलों एवं गाजियाबाद संभाग को शामिल करते हुए 19 संभागों के मण्डल/संभाग स्तर पर भाषण प्रतियोगिता में कुल 56 छात्रों ने प्रतिभाग किया।

भाषण प्रतियोगिता के निर्णय हेतु निर्णायक मंडल का गठन किया गया था, जिसमें विशेष सचिव परिवहन डा. अखिलेश मिश्रा, सहायक निदेशक राष्ट्रीय मा. शिक्षा अभियान, प्रतिभा मिश्रा, पुलिस अधीक्षक यातायात, निजाम हसन तथा विशेष कार्याधिकारी स्वास्थ्य, डा. नामिता वर्मा को सदस्य बनाया गया था।

धीरज साहू ने बताया कि प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले छात्रों को क्रमशः 51 हजार, 31 हजार तथा 21 हजार का नकद पुरस्कार एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

सात अन्य विजेता छात्रों को सांत्वना पुरस्कार

इनमें शामली के सत्य नारायण इंटर कालेज के छात्र देवांश आत्रेय, दिल्ली पब्लिक स्कूल मेरठ की अननी तोमर, बागपत के वैद्यान्तिक इंटर नेशनल स्कूल की छात्रा कनिका यादव, अलीगढ़ के जनता इंटर कालेज के यश शर्मा, गोरखपुर के महाराणा प्रताप इंटर कालेज के अंकित विश्वकर्मा, फतेहपुर के महर्षि विद्या मंदिर के छात्र आकाश सिंह तथा इटावा के संत विवेकानन्द हाईस्कूल के अमन भदौरिया शामिल हैं।

कार्यक्रम में विशेष सचिव परिवहन अखिलेश कुमार मिश्रा, अपर परिवहन आयुक्त गंगाफल, सहायक परिवहन आयुक्त पीएस सत्यार्थी, एआरटीओ लखनऊ संजय तिवारी, संजीव गुप्ता सहित विभिन्न विद्यालयों की छात्र-छात्राएं, एन.सी.सी. कैडेड, सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधि, सड़क सुरक्षा से जुड़े हुए एनजीओ तथा पुलिस, स्वास्थ्य, लोक निर्माण तथा शिक्षा विभाग के प्रतिनिधि मौजूद थे।

राम केवी

राम केवी

Next Story