×

राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस: शत प्रतिशत बच्चों को कृमि नाशक दवा खिलाने की तैयारी

राज्य में राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस शनिवार (10 फरवरी) को मनाया जाएगा। इस अवसर पर एक वर्ष से 19 वर्ष तक के लगभग 8 लाख बच्चों को पेट के कीड़े मारने की दवा खिलाई जाएगी। पूरे राज्य में इस कार्यक्रम को अभियान के रूप में चलाया जाएगा, ताकि कोई भी बच्चा इससे वंचित न रहे। देहरादून में कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए जिलाधिकारी एस.ए मुरूगेषन ने सम्बन्धित अधिकारियों के साथ बैठक की।

priyankajoshi
Published on: 8 Feb 2018 8:05 AM GMT
राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस: शत प्रतिशत बच्चों को कृमि नाशक दवा खिलाने की तैयारी
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

देहरादून: राज्य में राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस शनिवार (10 फरवरी) को मनाया जाएगा। इस अवसर पर एक वर्ष से 19 वर्ष तक के लगभग 8 लाख बच्चों को पेट के कीड़े मारने की दवा खिलाई जाएगी।

पूरे राज्य में इस कार्यक्रम को अभियान के रूप में चलाया जाएगा, ताकि कोई भी बच्चा इससे वंचित न रहे। देहरादून में कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए जिलाधिकारी एस.ए मुरूगेषन ने सम्बन्धित अधिकारियों के साथ बैठक की।

जिले में 10 फरवरी, 12 फरवरी और 15 फरवरी को बच्चों को एल्बेंडाजोल की दवाईयां दी जाएगी जिसमें जिले के सभी सरकारी/गैर सरकारी एवं सहायता प्राप्त विद्यालयों, अल्पसंख्यक शिक्षण संस्थानों, बालिका निकेतनों एवं समाज कल्याण विद्यालयों के साथ ही आंगनवाड़ी केन्द्रों में अध्ययनरत बच्चों को भी शामिल किया जाएगा।

इस अभियान का व्यापक प्रचार-प्रसार कराने को कहा गया है, जिससे कोई भी बच्चा इस दवाई से वंचित न रहे इसके लिए यह ध्यान ऱखा जा रहा है कि यदि प्राईवेट स्कूलों में 10 फरवरी को अवकाश हो तो ऐसे स्कूलों में 12 फरवरी को बच्चों को दवा दी जाए तथा यदि किसी कारण कोई भी बच्चा दवा खाने से वंचित रह जाता है तो ऐसे बच्चों को 15 फरवरी को अनिवार्य रूप से दवा दी जाएगी।

सभी अभिभावकों से भी अपील की जा रही है कि वे अपने बच्चे को 10 फरवरी 2018 को राष्ट्रीय कृमि दिवस के अवसर पर स्कूल अवश्य भेजें। इस गोली का स्वाद स्वादिष्ट है ताकि बच्चें आराम से इसे खा सके।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story