×

Uttarakhand Mausam: भारी भूस्खलन से गंगोत्री हाईवे क्षतिग्रस्त, मंडराया रहा खतरा, सामने आई ये तस्वीर

Uttarakhand Mausam: गंगोत्री हाईवे पर चुंगी बड़ेगी में मंगलवार को भारी भूस्खलन हुआ।

Network

NetworkNewstrack NetworkDivyanshu RaoPublished By Divyanshu Rao

Published on 4 Aug 2021 4:03 AM GMT

Uttarakhand Mausam
X
भूस्खलन और सड़क निर्माण की तस्वीर (फोटो:न्यूज़ट्रैक)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Uttarakhand Mausam: गंगोत्री हाईवे पर चुंगी बड़ेगी में मंगलवार को भारी भूस्खलन हुआ। इस भूस्खलन से गंगोत्री हाईवे क्षतिगस्त हो गया। इस भूस्खलन के बाद 50 मीटर के हिस्से समेत निर्माणधीन सड़क सुरक्षा पर भी खतरे के बादल मड़राने लगे हैं। जिसके बाद जिला प्रशासन ने सतर्कता बरतते हुए यातायात को मनेरा बाईपास से डायवर्ट कर दिया है।

गंगोत्री में हुए भूस्खलन की तस्वीर (फोटो:सोशल मीडिया)

तो वहीं बीते कुछ दिनों से मनेरा बाईपास रोड के पास एक बड़ा भूस्खलन जोने में सक्रिय होने से स्थानीय लोगों को सफर करने के लिए काफी परेशिनियों और भय का सामना करना पड़ रहा है। वहीं एनएचडीसीआईएल के अधिकारियों ने सड़क सुरक्ष गैलरी पर किसी के खतरे होने से इंकार किया है।

भूस्खलन की आवाज से मनेरा में भगदड़ मच गई

मिली जानकारी के मुताबित जिला मुख्यालय के समीप चुंगी बड़ेगी में मंगलवार को दोपहर 1 बजे गंगोत्री हाईवे के नीचे चट्टान का एक बड़ा हिस्सा भरभराकर भागीरथी में जा गिरा। बिल्कुल आचनक हुए इस भूस्खलन की तेज आवाज से नदी पार मनेरा में भगदड़ मच गई। भूस्खलन के दौरान मनेरा पर मौजूद कुछ लोगों ने घटना का वीडियो बना लिया।

भूस्खलन का वीडियो सोशल मीडिया पर हुआ वायरल

जिसके बाद वीडियो व भूस्खलन की जानकारी सोशल मीडिया पर वायरल होने लगी। जिसपर एसडीएम देवेंद्र नेगी, जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल और राष्ट्रीय राजमार्ग एंव अवसंरचना विकास निगम लिमिटेड (एनएचडीसीआईएल) के परियोजना प्रबंधक संदीप पाटिल भी मौके पर पहुंचे। जिसके बाद उन्होंने खतरे का आशंका को देखते हुए तत्काल यातायात मनेरा बाईपास को डायवर्ट कराया।

भूस्खलन के बाद फैले मलवे की तस्वीर (फोटो:सोशल मीडिया)

बाईपास रोड पर एक बड़ा भूस्खलन जोन सक्रिय

मिली जानकारी के मुताबित कुछ दिनों से बाईपास रोड पर भी एक बड़ा भूस्खलन जोन सक्रिय है। जिस पर रात दिन निरंतर बोल्डर गिर रहे हैं। इस स्थान पर एक पेड़ भी गिरने की अवस्था में हैं। वहीं भूस्खलन से सड़क पर पानी, मलबा और पत्थर फैले होने इस सब के बीच फिर से हर समय भूस्खलन होने का खतरा लगातार बना हुआ है।

हाईवे पर सड़क निर्माण की तस्वीर (फोटो:सोशल मीडिया)


घटना के बाद आपदा प्रबंधन अधिकारी मौके पर पहुंचे

घटना के बाद मौके पर पहुंचे जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल ने कहा कि भूस्खलन और किसी खतरे की आशंका को देखते हुए यातायात के रूट को बदल दिया गया है। उन्होंन कहा कि बाईपास रोड पर भी भूस्खलन पर जेसीबी तैनात करने की बात कहीं है।

संदीप पाटिल ने कहा भूस्खलन में हाईवे ढह गया

एनएचडीसीआईएल के परियोजना प्रबंधक लेफ्टिनेंट कर्नल संदीप पाटिल ने कहा कि हाईवे वे के नीचे का हिस्सा भूस्खलन में ढह गया है। उन्होंने कहा कि हमें अपने निर्माण कार्य पर भरोसा है। उन्होंने आगे कहा कि पूरी गैलरी पाइलों नींव को मजबूत करने के लिए लगाए जाने वाले पाइप के ऊपर बनाई जा रही है।

भूस्खलन के दौरान हाईवे के ढह जाने की तस्वीर (फोटो:सोशल मीडिया)

कुल 890 पाइल सात मीटर गहराई तक डाले गए हैं। इन पाइलों में हजारों बोरी सीमेंट लगाया गया है। संदीप पाटिल ने कहा सड़क के नीचे ढहे कच्चे भाग की जगह रिटर्निंग वॉल लगाकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। सुरक्षा गैलरी के निर्माण के बीच ही रिटर्निंग वॉल का काम किया जाएगा।

भूस्खलन के बाद बाधित हुआ यातायात (फोटो:सोशल मीडिया)

युमनोत्री पर मलवा आने से यातायात बाधित

वहीं युमनोत्री हाईवे पर मलवा और बोल्डर आने से खादी के पास हाईवे बाधित हो गया है। जिसके कारण होईवे के पास दोनों तरफ बड़ी संख्या में वाहन फंसे रहे हैं। बारिश होने से वाहनों की आवाजाही पर भी खतरे खतरे से कम नहीं है।

Divyanshu Rao

Divyanshu Rao

Next Story