×

Bihar Madhubani Madhepura: धान के बाद गेहूं की फसल भी बर्बाद, क्या करे किसान

गेहूं की फसल में हो रही समस्याओं को लेकर Newstrack ने अलग-अलग जगहों से जमीनी हकीकत को सामने रखा है। सभी क्षेत्रों में देखा जाए तो गेहूं क्वालिटी खराब होने के पीछे कई कारण हैं।

Sandeep Kashyap
Updated on: 25 April 2022 12:04 PM GMT
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Bihar Madhubani बिहार कृषि प्रधान जिला मधुबनी के अंदर किसान निराश है जब हमने इसके पीछे के कारण को समझने की कोशिश की तो पता चला इस बार के गेहूं की फसल के क्वालिटी में गिरावट आ गई है, साथ ही डुप्लीकेट खाद की वजह से गेहूं की बाली में दाने नहीं है, जिससे किसानों को काफी नुकसान हुआ है। इसी कड़ी में हमने क्षेत्र के कुछ किसानों से बात की और समस्याओं को सरकार तक पहुंचाने की कोशिश की। गेहूं की फसल में हो रही समस्याओं को लेकर Newstrack ने मधुबनी जिले के अलग-अलग जगहों से जमीनी हकीकत को आपके सामने रखा है। जिले के सभी क्षेत्रों में देखा जाए तो गेहूं क्वालिटी खराब होने के पीछे कई कारण हैं। बाढ़ आने की वजह से धान की खेती तो हो ही नहीं पाती साथ ही बाढ़ का पानी देर से सूखने की वजह से गेहूं की खेती का समय आगे निकल जाता है जिससे गेहूं की खेती को हवा का सामना करना पड़ता है और हवा में सूखकर दाने छोटे हो जाते हैं। साथ ही डुप्लीकेट खाद की वजह से किसान अपना लागत भी नहीं निकाल पा रहे हैं। किसानों की मांग है कि नीतीश सरकार को इस संबंध में ध्यान देना चाहिए।

Ramkrishna Vajpei

Ramkrishna Vajpei

Next Story