×

डाॅ नूरी को सलाम-10 रुपये में मरीजों का इलाज, देश की नई 'मदर टेरेसा'

डॉक्टर नूरी अपने क्लीनिक में सिर्फ दस रुपये में मरीजों को देखती हैं। कडापा के लोग नूरी को प्यार से 'मदर टेरेसा'बुलाते है

Apoorva chandel

Apoorva chandelBy Apoorva chandel

Published on 1 April 2021 11:34 AM GMT

डाॅ नूरी को सलाम-10 रुपये में मरीजों का इलाज, देश की नई मदर टेरेसा
X

नूरी परवीन (फोटो-सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली:कोरोना जैसी महामारी के बीच भले ही कई डॉक्टरों ने अपनी फीस बढ़ा दी हो और लेकिन दुनिया में कई ऐसे भी डॉक्टर भी है जो लोगों का कम पैसों में इलाज करते है और मानवता की मिसाल पेश करते हैं। ऐसी ही मानवता की मिसाल पेश करने वाली डॉक्टर है नूरी, जो सिर्फ दस रुपये में मरीजों को देखती हैं। आइये जानते है डॉक्टर नूरी के बारें में।

मानवता की मिसाल

हमारे समाज में कई ऐसे लोग है जो अपने प्रोफेशन को कमाई का जरिया न बनाकर लोगों की मदद करते हैं। उन्हीं में से एक है डॉक्टर नूरी। जो आंध्र प्रदेश के शहर कडापा में रहती हैं। डॉक्टर नूरी अपने क्लीनिक में सिर्फ दस रुपये में मरीजों को देखती हैं। वहीं अगर मरीज उनके क्लीनिक में भर्ती होते है तो उनसे प्रतिदिन के हिसाब से 50 रुपये लिए जाते है।

पढ़ाई के बाद खोला क्लीनिक

डॉक्टर नूरी के एक मध्यमवर्गीय परिवार से ताल्लुक रखती है। इन्होंने कडापा के ही फातिमा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस से अपनी एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी की और उसके बाद कडापा की गरीब बस्ती में अपना क्लीनिक खोल दिया। नूरी के माता-पिता का कहना है कि नूरी ने जब क्लीनिक खोला तो उन्होंने अपने माता-पिता से कहा कि वह यहीं रहकर गरीबों की सेवा करना चाहती हैं। जिसे जानकर उन्हें अपनी बेटी पर बेहद गर्व हुआ। वहीं कडापा के लोग नूरी को उनके इस समाज सेवा की वजह से उन्हें प्यार से मदर टेरेसा बुलाते है।

खून में बसी समाज सेवा

बता दें कि नूरी को समाज सेवा खून में ही मिली है। नूरी के माता-पिता ने भी तीन अनाथ बच्चों को गोद लिया है और उनकी परवरिश भी की है। बचपन से ही माता-पिता को ऐसा करते देख नूरी के मन में भी समाज सेवा करने की इच्छा जाग्रत हुई।

Apoorva chandel

Apoorva chandel

Next Story