Top

अमेरिका : हर साल गोलीबारी में लगभग 1,300 बच्चों की मौत

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 20 Jun 2017 11:56 AM GMT

अमेरिका : हर साल गोलीबारी में लगभग 1,300 बच्चों की मौत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

वॉशिंगटन : अमेरिका में हर साल गोलीबारी से लगभग 1,300 बच्चों की मौत होती है। एक अध्ययन में यह बात सामने आई है। सोमवार को जर्नल पेडिएट्रिक्स में प्रकाशित एक अध्ययन में बताया गया कि एक से 17 साल उम्र तक के ज्यादातर अमेरिकी बच्चों की मौत बंदूक से हुई है।

उल्लेखनीय है कि अमेरिका में औसत तीन बच्चों की गोली लगने से हत्या हुई और अन्य लोगों की 15.8 बच्चों की अस्पताल के आपातकालीन विभाग में इलाज के दौरान मौत हुई।

नेशनल सर्वे ऑफ चिल्ड्रन्स एक्सपोजर ने संकेत दिया है कि पिछले साल 17 वर्ष तक के 4.2 प्रतिशत बच्चे गोलीबारी में मारे गए।

अध्ययन में खुलासा हुआ है कि गोलीबारी से लड़के, बड़े बच्चे और अल्पसंख्यक बच्चे बंदूक के जरिए हिंसा में अनुपातहीन रूप से पीड़ित होते हैं। अध्ययन के मुताबिक, बंदूक से मौत की दर में अफ्रीकी मूल के अमेरिकी बच्चों की दर सबसे अधिक है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story