Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

Y-Factor: एक नहीं कई फनकार पैदा कर उस्ताद Ghulam Mustafa Khan ने दिखाया अपना हुनर

उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में जन्म लेने वाले उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान ने अपने संगीत जीवन की शुरुआत 8 साल की उम्र में...

Newstrack

NewstrackNewstrack Network Newstrack

Published on 28 April 2021 1:20 PM GMT

X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Y.Factor (Yogesh Mishra): मशहूर गायिका आशा भोंसले, मन्ना डे , कमल बारोट, रानू मुख़र्जी, गीता दत्त, ए आर रहमान, सना , सागरिका, अलीशा चिनॉय, शिल्पा राव, कल्पना के नाम का ज़िक्र आज उनके लिए नहीं हो रहा है। बल्कि इन सबके गुरू गुलाम मुस्तफ़ा खान के नाते हो रहा है।

उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में जन्म लेने वाले उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान ने अपने संगीत जीवन की शुरुआत 8 साल की उम्र में बदायूं के जन्माष्टमी मेले से की थी।अपने ताऊ स्टार्ट फिदा हुसैन और उस्ताद निसार खान से संगीत सीखने वाले उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान ने बाद में बॉलीवुड की कई मशहूर हस्तियों को सुर साधने में मदद की।

लता मंगेशकर ने अपने एक इंटरव्यू में बताया है कि उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान से उन्होंने कॉन्फिडेंस के साथ गाने का हुनर सीखा। गजल गायक हरिहरन बॉलीवुड के मशहूर गायक सोनू निगम और शान ने उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान को अपना गुरु माना। सोनू निगम ने एक बार कहा कि उन्होंने जब उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान से गंडा बंधवा कर संगीत की तालीम ली तो उन्हें मालूम हुआ कि संगीत साधना असल में कैसी होती है ।

उनके जीवन में उस्ताद से संगीत सीखने के बाद जबरदस्त बदलाव आया। एक कार्यक्रम में गायक शान ने भी कहा कि उनके पिता का निधन बचपन में हो गया था । लेकिन जब वह उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान से मिले।उनसे संगीत की तालीम ली ।तो उन्हें हमेशा यह एहसास बना रहा कि उन्हें उस्ताद के रूप में दूसरा पिता मिल गया है।

उस्ताद गुलाम मुस्तफा खान का जन्म बदायूं में 3 मार्च ,1931 को हुआ। उनके पिता भी अपने समय के मशहूर गायक थे ।उनका पूरा परिवार गाने बजाने में शामिल था ।उनकी मां उस्ताद इनायत अली खान की बेटी थी , जो नवाब वाजिद अली शाह के प्रमुख दरबारी संगीतकार थे। उन्होंने अपने शुरुआती शिक्षा अपने ताऊ उस्ताद फिदा हुसैन खान से हासिल की, जो बड़ौदा राजघराने के मशहूर गायक थे।

Admin 2

Admin 2

Next Story