रिश्तों की डोर होगी मजबूत, जब त्योहारों के सीजन में करेंगे ये सारे काम, परिवार में बढ़ेगा प्यार

अभी त्योहारों का सीजन चल रहा है। सभी लोग इसकी तैयारी में जूट गए है। परिवार के सभी साथ मिलकर त्योहार मनाएं तो खुशियां बढ़ जाती हैं। परिवार में प्रेम, सुख-शांति और समृद्धि बनी रहे, इसके लिए जानेंगे आसान उपाय।  

जयपुर : अभी त्योहारों का सीजन चल रहा है। सभी लोग इसकी तैयारी में जूट गए है। परिवार के सभी साथ मिलकर त्योहार मनाएं तो खुशियां बढ़ जाती हैं। परिवार में प्रेम, सुख-शांति और समृद्धि बनी रहे, परिवार में प्रेम होगा तो जीवन सुखी रहेगा। हर कोई चाहता है कि उसका परिवार एकजुट रहे और खुशियों से भरपूर रहे। कभी कभी परिस्थितियां ऐसी बन जाती हैं कि परिवार में छोटी-छोटी बातों पर आए दिन अनबन होती है। ऐसे में घर की परेशानियां, काम पर भी असर डालने लगती हैं। वास्तु में कुछ आसान उपाय हैं जिनकी मदद से  परिवार में नई खुशियां ला सकते हैं। इसके लिए जानेंगे आसान उपाय।

*घर के  मुख्य द्वार पर सिंदूर से स्वास्तिक या ऊं की आकृति बनाएं। मुख्य द्वार पर तुलसी या केले का पौधा लगाएं। दरवाजे पर नेमप्लेट अवश्य लगाएं। इससे सौभाग्य में वृद्धि होती है। सुबह और शाम कुछ समय के लिए घर के दरवाजे खुला रखें। शाम के समय मुख्य द्वार पर दीपक जलाएं। शाम होते ही मुख्य द्वार पर रोशनी का प्रबंध करें।

यह पढ़ें…यहां मरने आते हैं लोग! बस दो ही हफ्ते में हो जाती है मौत

*घर के मुख्य द्वार को आम के पत्तों से सजाएं। ड्राइंगरूम में फूलों का गुलदस्‍ता रखें। घर में कर्पूर जलाना चाहिए। इसका धुआं वास्तुदोष दूर करता है। घर के किसी भी कोने या मध्य में जूते-चप्पल न रखें। बेडरूम में धार्मिक आस्‍था से जुड़ी वस्‍तुएं न रखें। तिजोरी में कुबेर यंत्र या श्रीयंत्र रखना चाहिए।

*घर के बुजुर्गों की सेवा करें। उन्हें आदर सम्मान दें। घर में सदैव सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बना रहे, इसका प्रयास करें। घर के ड्राइंग रूम में भगवान विष्णु या भगवान श्रीकृष्ण का चित्र लगाएं। ऐसा करने से बिगड़े संबंधों में सुधार आता है। घर की बैठक में शंख या सीप से बने पर्दे लगाने से पारिवारिक मतभेद दूर होते हैं।

यह पढ़ें…25 अक्टूबर को है धनतेरस, इस दिन ऐसे करें मां लक्ष्मी को प्रसन्न

*घर में पुराना कबाड़ और बेकार की चीजें कलह पैदा करते हैं। बेड के नीचे तो कबाड़ बिल्कुल नहीं रखें। घर के हर कमरे में फिटकरी का टुकड़ा रख दें। इससे सकारात्मक ऊर्जा का संचार होगा और वास्तु दोष दूर होंगे। गेंदे के फूल पर रोजाना कुमकुम लगाकर तुलसी पर अर्पित करें। ऐसा करने से परिजनों के बीच तनाव कम होता है।

*भगवान श्रीराम-माता सीता की पूजा करें। घर में जब भी खाना बने तो पहली रोटी गाय के लिए और अंतिम रोटी कुत्ते के लिए अवश्य निकालें। पति-पत्नी साथ मिलकर किसी भी व्रत को करें। घर में सुंदर कांड का पाठ अवश्य कराएं। ऐसा करने से घर-परिवार विपदा से सदैव सुरक्षित रहता है।