मगंल या अमंगल, भूत, भविष्य व वर्तमान कैसा रहेगा केजरीवाल के लिए आगे 5 साल

रामलीला मैदान में 16 फरवरी को होने जा रहे मुख्यमंत्री पद के शपथ ग्रहण समारोह के लिए अरविंद केजरीवाल की तरफ से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भी न्यौता दिया गया है। आम आदमी पार्टी दिल्ली चुनाव में बड़ी जाती हासिल की है। यहां की 70 में से 62 सीटों पर जीतकर आम आदमी पार्टी तीसरी बार सरकार बनाने जा रही है।

Published by suman Published: February 15, 2020 | 10:57 pm
Modified: February 17, 2020 | 8:07 pm

नई दिल्ली : रामलीला मैदान में 16 फरवरी को होने जा रहे मुख्यमंत्री पद के शपथ ग्रहण समारोह के लिए अरविंद केजरीवाल की तरफ से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भी न्यौता दिया गया है। आम आदमी पार्टी दिल्ली चुनाव में बड़ी जाती हासिल की है। यहां की 70 में से 62 सीटों पर जीतकर आम आदमी पार्टी तीसरी बार सरकार बनाने जा रही है।

 

यह पढ़ें…जानिए केजरीवाल के शपथग्रहण समारोह में कौन-कौन होंगे शामिल

 

ज्योतिष के अनुसार अदिति शर्मा का कहना है कि , अरविंद केजरीवाल के लिए आने वाला 5 साल कैसा रहेगा। ये जानने के लिए  पुनमुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले सीएम की जन्म कुंडली में ग्रहों की स्थिति व उनकी जन्म राशि के अनुसार उनका आने वाला 5 साल कई अवरोधो व विवादों के बाद भी कीर्तिमान बनाने वाला रहेगा। इसके लिए अरविंद केजरीवाल की राशि और लग्न कुंडली में भावी ग्रहों की स्थिति पर नजर दौड़ाते हैं।

 

मंगल ही मंगल

अरविंद केजरीवाल का जन्म 16 अगस्त 1968 को  हिसार हरियाणा में हुआ था। इसके अनुसार उनकी राशि  मेष है। मेष का स्वामी मंगल है। मंगल सुख ऐश्वर्य दिलवाने वाला है। ज्योतिषीय गणना के अनुसार मंगल अपने ही  घर में है मंगल शनि के साथ केंद्र में है, जो राजयोग दिलवाने वाला है। मंगल के कारण अरविंद केजरीवाल के लिए सब मंगल ही मंगल होगा।

इस माह 16 को ली जा रही शपथ समारोह अरविंद केजरीवाल के लिए शुभफलदायी है। इस बार जनहित में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए जाएंगे। इस बार प्रमादी संवत्सर में विक्रमी संवत 2077 का चैत्र अमावस्या चंद्रमा भाग्य स्थान में सूर्य के साथ स्थित होगा।

सप्तम भाव में शनि का होगा। देश व दुनिया में हो रहे तनाव व परेशानियों की ओर संकेत हैं। ग्रहीय स्थिति आगामी  सालों में देश-दुनिया की विशेष परिस्थिति व घटनाक्रम की ओर इंगित  कर रही है। उनके ऐश्वर्य व सुख स्थानों में वृद्धि होगी। आने वाले साल में विरोधी पक्ष से टकराव  होने के संकेत है। साथ ही काम में सफलता मिलेगी। मार्च-अप्रैल अग्निकांड, दंगे-फसाद, संप्रदायिक हिंसा  के योग है। मई से जून में जनधन हानि व जुलाई से अगस्त तक किसी नेता के पदच्यूत होने व  मृत्यु की सूचना मिल सकती है।

 

यह पढ़ें…केजरीवाल के शपथ समारोह में शिक्षकों के निमंत्रण पर बवाल, BJP नेता ने कहा-

 

केजरीवाल के शपथ ग्रहण समारोह में नहीं शामिल होगा कोई भी CM, जानें क्या है वजह

5 साल की महादशा-अंतरदशा

मंगल व शनि के केंद्र में होने के कारण  संप्रदायिक व जातिय हिंस के भी संकेत मिल रहे है।केजरीवाल की कुंडली से पता चलता है कि उनको गुरू की महादशा है ।2021 तक अंतर चंद्रमा रहेगा। यह महिलाओं से संबंधित काम में सहयोग करेगा। 03.05.2021 के बाद बृहस्पति अंतर मंगल होंगे। इससे  काम  में ऊर्जा का संचार होगा। पर दिसंबर तक आते आते काम में अवरोध होंगे। 2022 अप्रैल में बृहस्पति अंतर राहू आएंगे। जो कि सीएम केजरीवाल के लिए अच्छा नहीं रहेगा। राजनीति में अनैतिकता बढ़ेगा। और राहू 2024 तक रहेगा।

 

जो राजनीति में महत्वपूर्ण निर्णय दिलाने वाला और प्रसिद्धि देने वाला होगा। सिंतबर से दिसंबर 2023 तक अंतर राहू व अंतर केतु की दशा होने  असमंजस की स्थिति बनी रहेगी। 2024  में ही बृहस्पति कई महत्वपूर्ण निर्णय दिलवाएगा।इस तरह अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में आप की यह सरकार तमाम अवरोधों , आलोचनाओं  व विवादों के बावजूद दिल्ली को विकास के पथ पर अग्रसर करने वाली रहेगी। साथ हीं कई कीर्तिमान बनाने वाली होगी।