26 सितंबर: इन राशियों को बुजुर्गों की सेवा से मिलेगा लाभ, जानिए पंचांग व राशिफल

माह –आश्विन,तिथि – द्वादशी ,पक्ष – कृष्ण,वार – गुरूवार,नक्षत्र – आश्लेषा,सूर्योदय – 06:11,सूर्यास्त – 18:13, राहुकाल – 13:42:44 से 15:13:03 तक, चौघड़िया शुभ – 06:15 से 07:44,चर – 10:43 से 12:12,लाभ – 12:12 से 13:42,अमृत – 13:42 से 15:11।

जयपुर माह –आश्विन,तिथि – द्वादशी ,पक्ष – कृष्ण,वार – गुरूवार,नक्षत्र – आश्लेषा,सूर्योदय – 06:11,सूर्यास्त – 18:13, राहुकाल – 13:42:44 से 15:13:03 तक, चौघड़िया शुभ – 06:15 से 07:44,चर – 10:43 से 12:12,लाभ – 12:12 से 13:42,अमृत – 13:42 से 15:11।

भूल कर भी न करें ये गलतियां, वरना हो सकता आपका रिश्ता

मेष गुरूवार को मन में आ रहे नकारात्मक विचार से दूर रहे। किसी के साथ मन-मुटाव हो सकता है। कार्यक्षेत्र में शुभ समाचारों की प्राप्ति होगी। बुजुर्गों की सेवा से शुभ फल मिलेगा। प्यार में पार्टनर का साथ मिलेगा। जीवनसाथी के साथ मधुरता का संबंध रहेगा। द्वादशी व त्रयोदशी तिथि का श्राद्ध करने के लिए उत्तम दिन है।

वृष  गुरूवार को नौकरी करने वालों के लिए दिन काफी अच्छा है। उन्हें आगे बढ़ने का अवसर मिलेगा। पारिवारिक सुख में कमी होगी, किसी रिश्तेदार या मित्र के साथ झगड़ा हो सकता है सावधान रहें।जातक अपने काम पर विशेष ध्यान रखें। द्वादशी व त्रयोदशी तिथि का श्राद्ध करने के लिए उत्तम दिन है।

मिथुन  गुरूवार को शरीर में आलस्य की वृद्धि होगी। स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहे। सार्वजनिक काम जीवनसाथी के साथ में हिस्सा लेंगे। जीवनसाथी के साथ तनाव की स्थिति रहेगी। खानपान पर ध्यान दे। द्वादशी व त्रयोदशी तिथि का श्राद्ध करने के लिए उत्तम दिन है।

कर्क गुरूवार को परिवार की तरफ से खुशी मिलेगी। मन में शांति रहेगी, आज के दिन शुरु काम का परिणाम अच्छा रहेगा। नौकरी में प्रमोशन की उम्मीद है। माता-पिता की सेवा करें, शुभ फल मिलेगा। कहीं  घूमने जा सकते हैं। द्वादशी व त्रयोदशी तिथि का श्राद्ध करने के लिए उत्तम दिन है।

बिजनेस ग्लोबल फोरम! पीएम मोदी ने कहा- निवेश चाहते हैं तो भारत आइए

सिंह  गुरूवार स्वभाव में गुस्सा अधिक रहेगा। जिसके कारण नुकसान होगा। आलस बढ़ेगा। सेहत का ध्यान रखें। भगवान की आराधना करें। प्रेम प्रसंग की बातें सुनाई देगी। बच्चों की तरफ से खुशखबरी देखने को मिलेगी। द्वादशी व त्रयोदशी तिथि का श्राद्ध करने के लिए उत्तम दिन है।

कन्या गुरूवार को जातक में नया जोश और उत्साह देखने को मिलेगा। परिवार का सहयोग अच्छे से प्राप्त होगा। पढ़ाई करने वालों के लिए दिन कुछ खास नहीं है। परीक्षा में परिणाम निराशाजनक होंगे। परिवार के साथ तालमेल बिठाकर चले। धार्मिक यात्रा पर जा सकते हैं। द्वादशी व त्रयोदशी तिथि का श्राद्ध करने के लिए उत्तम दिन है।

तुला गुरूवारको  काफी ज़्यादा परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। ऑफिस में हालात सही नहीं रहेंगे। स्वास्थ्य प्रति सचेत रहने की आवश्यकता है। आज मान-सम्मान घटेगा। बच्चो के लेकर माता-पिता बनें जातक परेशान रहेंगे। द्वादशी व त्रयोदशी तिथि का श्राद्ध करने के लिए उत्तम दिन है।

वृश्चिक गुरूवार को जातक अपनी मेहनत से काम को पूरा करने में दूसरों की मदद भी मिलेगी। शिक्षा के क्षेत्र में जातक योग्यताके अनुसार शुभ परिणाम मिलेंगे। परिवार के साथ अच्छा तालमेल बनाकर रखें। द्वादशी व त्रयोदशी तिथि का श्राद्ध करने के लिए उत्तम दिन है।

जानें पंडित दीनदयाल उपाध्याय से जुड़े रोचक तथ्य

धनु गुरूवार को व्यवहार में गुस्सा देखने को मिलेगा।किसी के साथ मनमुटाव के हालात पैदा हो सकते हैं।ऑफिस में नुकसान उठाना पड़ सकता है।बिजनेस को लेकर सावधान रहे। परिवार के साथ खुशी का माहौल रहेगा। भाई-बहन के साथ रिश्तों में मधुरता बनी रहेगी।

मकर  गुरूवार को  जातक सचेत रहने की आवश्यकता है कोई अनहोनी हो सकती है। किसी की बातों में आकर कोई काम न करें। नुकसान उठाना पड़ सकता है। बड़े बुजुर्गों की सेवा करने से शुभ फल प्राप्त होंगे। द्वादशी व त्रयोदशी तिथि का श्राद्ध करने के लिए उत्तम दिन है।

कुंभ गुरूवार को जातक के साथ कोई घटना घटेगी। जिसके लिए विपरित परिस्थितियां पैदा होगी। कार्यक्षेत्र में प्रत्येक कार्य में परेशानी आएंगी। परिवार के साथ अच्छा समय व्यतीत होगा। शादी के लिए बात पक्की होगी। द्वादशी व त्रयोदशी तिथि का श्राद्ध करने के लिए उत्तम दिन है।

मीन  गुरूवार घर परिवार से मिलने वाले सुख में कमी देखने को मिल सकती है।स्वभाव में जिद्दीपन देखने को मिलेगा। पिता के स्वास्थ्य को लेकर दिक्कतें आएगी। नौकरी में संघर्ष की स्थिति रहेगी। प्रेम संबंध प्रगाढ़ होंगे। द्वादशी व त्रयोदशी तिथि का श्राद्ध करने के लिए उत्तम दिन है।