ये धागा नहीं है आम, शनि की साढ़ेसाती में भी आता है बहुत काम, जानिए कैसें?

हिंदू धर्म में लाल धागे को हाथ में बांधने वाले कलावे के रूप में देखा जाता है। मान्यता के अनुसार, हाथ में बंधा हुआ कलावा (रक्षा, मौली) हमेशा रक्षा करता है और बुरे संकटों से बचाता है। लेकिन इसके अलावा आर्थिक समस्याओं से लेकर धन हानि, मान सम्मान और प्रतिष्ठा बनाए रखने में लाल धागे का उपाय विशेष रूप से कारगर है।

जयपुर: हिंदू धर्म में लाल धागे को हाथ में बांधने वाले कलावे के रूप में देखा जाता है। मान्यता के अनुसार, हाथ में बंधा हुआ कलावा (रक्षा, मौली) हमेशा रक्षा करता है और बुरे संकटों से बचाता है। लेकिन इसके अलावा आर्थिक समस्याओं से लेकर धन हानि, मान सम्मान और प्रतिष्ठा बनाए रखने में लाल धागे का उपाय विशेष रूप से कारगर है। इसके कुछ शास्त्रीय उपाय जिसकी मदद से आर्थिक समस्याओं के छुटकारा पाकर धन प्राप्ति दिलाता है।

*लाल धागे का ये उपाय इतना असरदार है कि ये शनिदेव की शाढेसाती से भी बचाता है।
*शनिवार के दिन अपनी शरीर की लंबाई जितनी मौली ले लें। इसके बाद उस धागे में एक आम का पत्ता लपेट लें।
*अब आपको करना ये है कि हाथ में इस पत्ते को लेकर जो भी मनोकामना हो उसे हाथ में लेकर बहते हुए पानी में प्रवाहित कर दें।

 

यह पढ़ें…पैसा, प्यार व सम्मान कुछ भी नहीं तो ये ज्योतिषीय उपाय आपके लिए होगा रामबाण

 


*यदि आप शनि की साढ़ेसाती से परेशान हैं तो पीपल के पेड़ पर जल चढ़ाने के बाद सरसों के तेल का दीपक जलाएं।

*इसके बाद पेड़ के तने को हाथ से छूकर उसे प्रणाम करते हुए इसकी सात बार परिक्रमा भी अवश्य करें। ऐसा लगातार करने से साढ़ेसाती से संबंधित जीवन की हर तरह की परेशानी खत्म करता है।

*यदि आपकी समस्या व्यवसाय से जुड़ी हुई है तो शनिवार के दिन बगैर नमक का भोजन ग्रहण करें। ऐसा करने से आपकी जॉब संबंधी समस्या समाप्त हो सकती है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App