फेवरेट कलर बताएंगे, आपके बच्चे का कैरेक्टर, जानिए कैसे?

:बच्चे के स्वभाव का अंदाजा लगाना पैरेंट्स के लिए भी मुश्किल हो जाता है, लेकिन उनके पसंदीदा रंग से उनकी पर्सनालिटी के बारे में लगा सकते है कि कब बच्चा खुश होते हैं तो कब दुखी। बच्चों का फेवरेट कलर उनके स्वभाव से जुड़े कई राज खोलता है।

Published by suman Published: February 4, 2020 | 7:01 am
Modified: February 4, 2020 | 7:14 am

जयपुर:बच्चे के स्वभाव का अंदाजा लगाना पैरेंट्स के लिए भी मुश्किल हो जाता है, लेकिन उनके पसंदीदा रंग से उनकी पर्सनालिटी के बारे में लगा सकते है कि कब बच्चा खुश होते हैं तो कब दुखी। बच्चों का फेवरेट कलर उनके स्वभाव से जुड़े कई राज खोलता है।

*जिन बच्चों को नीला यानी ब्लू कलर पसंद होता है वो न तो ज्यादा सीधे और न ही नटखट होते हैं। खेल से साथ यह पढ़ाई-लिखाई में भी उतनी ही रूचि रखते हैं। इन बच्चों की खासियत अपने काम पर फोक्स रहना है। अपनी इसी खासियत को दूसरों के सामने जाहिर करने में यह कभी पीछे नहीं रहते।

*लाल को कलर को पसंद करने वाले बच्चे स्वभाव से बहुत शरारती और आजाद ख्यालों वाले होते है। यह अपनी लाइफ में किसी भी तरह की रोक-टोक पसंद नहीं करते। तेज दिमाग व हर वक्त एक्टिव रहने वाले ये बच्चे किसी के सामने कोई भी बात बोलने से नहीं हिचकिचाते।

यह पढ़ें…वेलेनटाइन पर है पार्टनर की तलाश तो ये नंबर भरेगा आप के जीवन में ताउम्र प्यार

*पीला रंग पसंद करने वाले सादगी पसंद बच्चे होते हैं। यह साधारण व सरल जिंदगी जीने में विश्वास रखते है। दूसरा यह अपनी बात जल्दी किसी से शेयर नहीं करते और बिना बात के झूठ बोलने से बचते है।

*वैसे तो गुलाबी रंग किसी की भी पसंद बन सकता है लेकिन लड़कियों को यह कलर आम पसंद होता है। इस कलर के क्रेजी बच्चे भी किसी से आसानी से अपनी दिल की बात शेयर नहीं करते। दूसरा झूठ बोलना तो इन्हें बिल्कुल अच्छा नहीं लगता है। मासूमियत और प्रकृति से लगाव को दर्शाने वाले ये बच्चे दान आदि कार्यों में रुचि रखते हैं।

*इस कलर को पंसद करने वाले बच्चे होशियार, दिमागी व तेज स्वभाव के होते हैं। मगर इनकी एक कमी है कि यह अपनी बातें किसी से भी शेयर कर लेते है। जुबान के थोड़े कड़वे लेकिन दिल के काफी सच्चे होते है। वहीं, इस रंग को पसंद करने वाले बच्चे इरादों के पक्के होते है जो जिंदगी में करना चाहते है उसे कर के ही रहते हैं।

 

यह पढ़ें…पैरेंट्स की इन आदतों से बच्चों का नहीं होता है विकास, होते हैं डिप्रेशन के शिकार

 

*जिन बच्चों का फेवरेट कलर ग्रीन होता है वो अपने आकर्षक स्वभाव से किसी को भी अपना दीवाना बना लेते है। आत्मविश्वास से भरे ये बच्चे जीवन में बड़ी से बड़ी चुनौतियों का सामना करने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। खासियत यह है कि ये बच्चे हमेशा सकारात्मक सोच रखते है।