अपनी होने वाली पत्नी का जानना चाहते हैं स्वभाव तो देखे उसका मस्तक, जानेंगे सब हाल

सामुद्रिक शास्त्र एक ऐसा शास्त्र है जिसमें व्यक्ति के स्वभाव और चाल-चलन को उसके शरीर की भाव-भंगिमा से जाना जाता है। इस शास्त्र में वर्णन मिलता है कि यदि व्यक्ति शादी के लिए कोई लड़की ढूंढ रहा है तो उसे बिना जाने यह पता लगा सकता है कि वह कैसी चरित्र है।

जयपुर: सामुद्रिक शास्त्र एक ऐसा शास्त्र है जिसमें व्यक्ति के स्वभाव और चाल-चलन को उसके शरीर की भाव-भंगिमा से जाना जाता है। इस शास्त्र में वर्णन मिलता है कि यदि व्यक्ति शादी के लिए कोई लड़की ढूंढ रहा है तो उसे बिना जाने यह पता लगा सकता है कि वह कैसी चरित्र है। सामुद्रिक शास्त्र के आधार पर आप अपनी जीवन में शामिल होने वाली स्त्री के बारे में जिसके आने से  सौभाग्य बढता है। साथ ही, आपके जीवन में खुशियां ही खुशियां बिखेरती है।

4 सितंबर: इन राशियों के जातक हो सावधान, करें भरोसा, जानिए पंचांग व राशिफल

समुद्र शास्त्र के अनुसार जिस स्त्री का मस्तक गोलाकार और आंखें चंचल होती हैं। साथ ही, जिनके बाल बिल्कुल काले होते हैं। वे लड़कियां चेहरे से तो सुंदर होती ही है साथ ही साथ चरित्र से भी बेहद चरित्रवान होती हैं। इसके अलावे ऐसी लड़कियां मन से भी पवित्र होती हैं। इनकी आवाजों में कोयल की कूक सी मिठास होती है।

क्यों करते हैं गणेश विसर्जन, जानें इसके पीछे छिपा रहस्य

सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार, ऐसी लड़कियां जिस परिवार में जातीं हैं उस घर में सौभाग्य ही सौभाग्य होता है। ये अपनी मधुर बोली से सबको प्रसन्न कर देतीं हैं। इन्हें सजने और संवरने का बहुत शौक होता है। इस कारण से ऐसी लड़कियों को चित्रिणी की नाम भी दिया जाता हैं। भले ही इन्हें ज्यादा मेहनत का काम पसंद न हो, लेकिन अपनी बुद्धिमानी और समझ से ये हर काम को सरलता से करने की कोशिश करती हैं।