Top

बंगाल में डैमेज कंट्रोल में जुटीं ममता, बढ़ते हमलों के बाद इसलिए दिया ये नया नारा

जय श्रीराम के नारों पर नाराजगी में भाषण न देने वाली ममता पर जब इस मुद्दे को लेकर हमले होने लगे तो उन्होंने यह नया नारा उछाला है।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 28 Jan 2021 3:59 AM GMT

बंगाल में डैमेज कंट्रोल में जुटीं ममता, बढ़ते हमलों के बाद इसलिए दिया ये नया नारा
X
बंगाल में डैमेज कंट्रोल में जुटीं ममता, बढ़ते हमलों के बाद इसलिए दिया ये नया नारा (PC: social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: तृणमूल कांग्रेस की मुखिया और पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का पारा भले ही जय श्री राम के नारों से चढ़ जाता हो मगर अब वे खुद हरे कृष्णा, हरे राम का जाप करने लगी हैं। नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में जय श्रीराम के नारे पर चिढ़ी ममता बनर्जी ने रैली में खुद हरे कृष्णा हरे राम, विदाई जाओ बीजेपी वाम और हरे कृष्णा हरे-हरे, तृणमूल घोरे-घोरे के नारे लगाए।

ये भी पढ़ें:Realme का सस्ता मोबाइलः फीचर इतने जबर्दस्त, Phone Price बहुत कम

ध्रुवीकरण रोकने के लिए नई रणनीति

माना जा रहा है कि जय श्रीराम के नारों पर नाराजगी में भाषण न देने वाली ममता पर जब इस मुद्दे को लेकर हमले होने लगे तो उन्होंने यह नया नारा उछाला है। इसे ममता की डैमेज कंट्रोल की रणनीति माना जा रहा है। जानकारों का कहना है कि भाजपा के पक्ष में ध्रुवीकरण की आशंका से डरी ममता ने यह नई चाल चली है।

भाजपा पर बोला बड़ा हमला

हुगली जिले के पुरशुरा में एक चुनावी सभा के दौरान ममता का नया रूप देखने को मिला। कोलकाता में नेताजी की जयंती के समारोह में जय श्रीराम के नारे से नाराज ममता ने यहां पर भाजपा पर करारा हमला बोला।

उन्होंने साफ तौर पर कहा कि मैं भाजपा के सामने सिर झुकाने के बजाय अपना गला कटवाना पसंद करूंगी। उन्होंने जय श्रीराम के नारे का जवाब देते हुए हरे कृष्णा हरे राम का नारा बुलंद किया और इसके साथ विदा हो बीजेपी वाम भी जोड़ दिया। उन्होंने यह नारा भी लगाया-हरे कृष्णा हरे हरे,तृणमूल घोरे घोरे यानी हर घर में तृणमूल कांग्रेस की मौजूदगी हो।

mamata-didi mamata Banerjee (PC: social media)

मोदी की मौजूदगी में अपमान का आरोप

ममता ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में मेरा अपमान किया गया है। सच्चाई तो यह है कि भाजपा ने नेताजी और बंगाल का अपमान किया है।

उन्होंने कहा कि अगर समारोह में नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जय की गई होती तो मैं आपको सलाम करती मगर मुझे बंदूक के बल पर खामोश नहीं किया जा सकता। मुझे जवाबी हमला करना आता है।

लोगों को टीएमसी से जोड़ने की कोशिश

सियासी जानकारों का मानना है कि ममता बनर्जी ने बहुत सोच समझकर हरे कृष्णा, हरे राम का नारा बुलंद किया है। जय श्रीराम का नारा सुनने के बाद नेता जी के जयंती समारोह में भाषण न करने वाली ममता बनर्जी इस नए नारे के साथ लोगों को खुद से और तृणमूल कांग्रेस से जोड़ना चाहती हैं। इसके साथ ही वे इस नारे के साथ भाजपा और वामदलों पर भी निशाना साधना चाहती हैं।

नेता जी की जयंती समारोह में नाराजगी जताने के बाद ममता सोशल मीडिया पर लोगों के निशाने पर आ गई थीं। लोग ममता के इस फैसले की कड़ी आलोचना कर रहे थे। ऐसे में ममता ने नया नारा उछालकर डैमेज कंट्रोल की कोशिश की है।

बागियों पर भी साधा निशाना

तृणमूल कांग्रेस में हो रही लगातार बगावत से परेशान ममता बनर्जी ने पार्टी छोड़ने वाले नेताओं पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि जिन लोगों को तृणमूल का टिकट नहीं मिलने वाला है, ऐसे लोग पार्टी छोड़कर भाजपा में जा रहे हैं।

उन्होंने भाजपा को वॉशिंग मशीन बताते हुए कहा कि इस पार्टी में जाने वाले लोगों के हर पाप धुल जाते हैं। उन्होंने कहा कि टीवी वालों को डराकर भाजपा सिर्फ टीवी पर जीत रही है। उन्होंने कहा कि अगर कोई पैसा देता है तो पैसा ले लीजिए, चिकन और चावल खा लीजिए मगर भाजपा को वोट मत देना।

पहले भी भड़क चुकी हैं ममता

वैसे जय श्रीराम के नारे पर भड़कना ममता के लिए कोई नई बात नहीं है। वे पहले भी जय श्रीराम के नारे पर भड़कती रही हैं। 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान पश्चिम मेदिनीपुर जिले में चुनाव प्रचार के दौरान वे जय श्रीराम का नारा सुनकर भड़क गई थीं। नारा सुनकर ममता इतनी नाराज हो गई थीं कि उन्होंने गाड़ी से उतरकर नारा लगाने वालों को जमकर खरी-खोटी सुनाई और नारा लगाने वालों के खिलाफ पुलिस को कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश तक दे डाला।

नारा लगाने वालों को देख लेने की धमकी

इसके बाद नारा लगाने वाले कई भाजपा कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार भी किया गया था। बाद में उत्तर 24 परगना के भाटपाड़ा समेत कई और जगहों पर भी भाजपा कार्यकर्ताओं ने ममता को देखकर जय श्रीराम का नारा बुलंद किया था।

भाटपाड़ा में ममता ने अपना काफिला रोककर गाड़ी से उतरकर नारा लगाने वालों को देख लेने की धमकी दी थी। इस घटना पर वे इतना ज्यादा नाराज हो गई थीं कि उन्होंने सभी के सामने पुलिस अफसरों को जमकर डांटा फटकारा था।

BJP-TMC BJP-TMC (PC: social media)

ममता को लग सकते हैं और झटके

पश्चिम बंगाल विधानसभा में भाजपा की ओर से पेश की जा रही कड़ी चुनौती में फंसी ममता बनर्जी अब भाजपा को ललकारने में जुट गई हैं। जानकारों के मुताबिक यही कारण है कि उन्होंने बागियों को चेतावनी देना भी शुरू कर दिया है।

ये भी पढ़ें:53 यात्रियों की मौत: भयानक हादसे से दहला देश, ट्रक-बस की जोरदार भिड़ंत

हाल के दिनों में शुभेंदु अधिकारी सहित टीएमसी के कई नेताओं ने ममता को झटका दिया है। टीएमसी में लगातार हो रही बगावत से ममता की नाराजगी लगातार बढ़ती जा रही है मगर जानकारों के मुताबिक आने वाले दिनों में उन्हें और भी झटके लग सकते हैं।

रिपोर्ट- अंशुमान तिवारी

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story