Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

बुराड़ी जैसी घटना: बिहार में एक ही परिवार के 5 लोग फांसी पर लटके, मचा कोहराम

सुपौल जिले के राघोपुर थाना क्षेत्र में आर्थिक तंगी से परेशान एक ही परिवार के पांच लोगों ने अत्महत्या कर ली है, जिसमें माता, पिता और तीन बच्चे शामिल हैं

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 13 March 2021 4:52 AM GMT

बुराड़ी जैसी घटना: बिहार में एक ही परिवार के 5 लोग फांसी पर लटके, मचा कोहराम
X
बुराड़ी जैसी घटना: बिहार में एक ही परिवार के 5 लोग फांसी पर लटके, मचा कोहराम
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना: बिहार के सुपौल से दिल्ली के बुराड़ी जैसा मामला सामने आया है। सुपौल जिले के राघोपुर थाना क्षेत्र में आर्थिक तंगी से परेशान एक ही परिवार के पांच लोगों ने अत्महत्या कर ली है, जिसमें माता, पिता और तीन बच्चे शामिल हैं। एक साथ 5 लोगों के अत्महत्या से इलाके के लोग सकते में आ गए हैं।

घर से बदबू आने के बाद सामने आया मामला

घटना राघोपुर थाना के गद्दी गांव के वार्ड-12 की बताई जा रही है। यहां देर रात गांव के ही मिश्रीलाल साह के घर से तेज बदबू आने पर गांव वालों ने मुखिया को बताया। इसके बाद मुखिया ने रात को 9 बजे ग्रामीणों की मदद से मिश्री लाल के घर की खिड़की खोली तो सबकी आंखे फटी की फटी रह गईं। बताया जा रहा है कि मिश्रीलाल साह के परिवार वालों को पिछले शनिवार को देखा गया था।

ये भी पढ़ें: राजद ने बिगाड़ा नीतीश का खेल, जातीय समीकरण साधने की कोशिशों को झटका

परिवार के सभी सदस्य फंदे से लटके हुए मिले

बंद घर में एक साथ परिवार के सभी सदस्य फंदे से लटके हुए थे। गांव के मुखिया ने घटना की सूचना पुलिस को दी। मुखिया ने बताया कि कुछ ग्रामीण दिन में मेरे घर पर आए हुए थे, लेकिन मैं उस वक्त बाहर गया था। जब रात को 9 बजे लौटा तो ग्रामीणों ने घर से बदबू आने की बात कही। जब ग्रामीणों की मदद से खिड़की खोली गई तो परिवार के सभी सदस्यों का एक कतार में शव फंदे से लटका हुआ मिला।

आर्थिक तंगी बताई जा रही आत्महत्या की वजह

फिलहाल आर्थिक तंगी के कारण आत्महत्या बताई कजा रही है। ग्रामीणों के मुताबिक परिवार ने 5 से 6 दिन पहले आत्महत्या की होगी। जिस कारण गांव में बदबू आ रही है। स्थानीय लोगों की मानें तो पिछले 2 सालों से मृतक परिवार अपनी पुश्तेनी जमीन बेच कर गुजारा कर रहा था। बीच में कोयला बेचने का भी छोटा सा कारोबार किया था।

ये भी पढ़ें: ममता बनर्जी को कैसी लगी चोट? मुख्य सचिव ने सौंपी रिपोर्ट, EC ने और मांगी जानकारी

हाल के कुछ दिनों में ये परिवार ग्रामीणों से भी अलगथलग रह रहा था। शनिवार को आखिरी बार सभी को देखा गया था। इसके बाद घर से बदबू आयी तब पूरे मामले का पता चला। घटना की जानकारी मिलते ही रात को 12 बजे बीरपुर एएसपी, सुपौल पुलिस अधीक्षक मौके पर पहुंच गए और जांच शुरू की। पूरा गांव छावनी में तब्दील हो गया। मृतक के घर को पुलिस ने घेराबंदी में रखा और भागलपुर से FSL टीम को बुलाया। पुलिस अधीक्षक ग्रामीणों से बात कर जांच में जुटे हैं।

Newstrack

Newstrack

Next Story