Top

बिहार चुनाव: बागी तेवर दिखाने वालों पर भाजपा सख्त, नौ को दिखाया बाहर का रास्ता

भाजपा की ओर से पहले ही चेतावनी दी गई थी कि पार्टी के जो नेता दूसरे दलों के टिकट पर चुनाव मैदान में उतरे हैं, वे अपना नाम वापस ले लें। ऐसा न करने वाले नेताओं पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 13 Oct 2020 3:52 AM GMT

बिहार चुनाव: बागी तेवर दिखाने वालों पर भाजपा सख्त, नौ को दिखाया बाहर का रास्ता
X
भाजपा की ओर से पहले ही चेतावनी दी गई थी कि पार्टी के जो नेता दूसरे दलों के टिकट पर चुनाव मैदान में उतरे हैं, वे अपना नाम वापस ले लें।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अंशुमान तिवारी

पटना: भारतीय जनता पार्टी ने बिहार विधानसभा चुनाव में बागी तेवर दिखाने वाले पार्टी नेताओं पर कार्रवाई शुरू कर दी है। लोजपा व अन्य दलों के टिकट पर चुनाव मैदान में उतरने वाले नौ नेताओं को पार्टी ने निष्कासित कर दिया है। निष्कासित किए गए नेताओं में प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष राजेंद्र सिंह व पूर्व विधायक रामेश्वर चौरसिया भी शामिल हैं।

उधर भाजपा के सहयोगी दल जदयू ने बागी नेताओं पर की गई कार्रवाई का स्वागत किया है। जानकार सूत्रों का कहना है कि पार्टी की ओर से यह कार्रवाई इसलिए की गई है ताकि जदयू सहित अन्य सहयोगी दलों में किसी प्रकार की गलतफहमी न पैदा हो।

भाजपा ने पहले ही दे दी थी चेतावनी

भाजपा की ओर से पहले ही चेतावनी दी गई थी कि पार्टी के जो नेता दूसरे दलों के टिकट पर चुनाव मैदान में उतरे हैं, वे अपना नाम वापस ले लें। ऐसा न करने वाले नेताओं पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

ये भी पढ़ें...एक्शन में CM योगी: महिला सुरक्षा पर अहम बैठक, अधिकारियों को दिए ये सख्त निर्देश

सोमवार को पहले चरण के लिए नाम वापसी की तारीख समाप्त होने के बावजूद पार्टी के बागी नेताओं में से किसी ने भी अपना नाम वापस नहीं लिया। इसके बाद पार्टी की ओर से कड़ी कार्रवाई करते हुए सभी नेताओं को पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया गया है।

BJP

इन नेताओं पर गिरी गाज

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता व एमएलसी डॉक्टर संजय मयूख ने बताया कि इन नेताओं को निष्कासित करने का फैसला प्रदेश भाजपा अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल की सहमति से लिया गया है।

उन्होंने बताया कि जिन नौ बागी नेताओं के खिलाफ पार्टी की ओर से कार्रवाई की गई है उनमें राजेंद्र सिंह, रामेश्वर चौरसिया, उषा विद्यार्थी, रविंद्र यादव, श्वेता सिंह, इंदु कश्यप, अनिल कुमार, मृणाल शेखर और अजय प्रताप के नाम शामिल हैं।

ये भी पढ़ें...महाराष्ट्र से यूपी पहुंचा नशा कारोबार: NCB को भनक तक नहीं, लखनऊ में भंडाफोड़

गलतफहमी दूर करने की कोशिश

पार्टी से निष्कासित किए गए प्रदेश उपाध्यक्ष राजेंद्र सिंह लोजपा के टिकट पर दिनारा सीट से चुनाव मैदान में उतरे हैं जबकि रामेश्वर चौरसिया सासाराम से चुनाव मैदान में हैं। पार्टी सूत्रों का कहना है कि एनडीए उम्मीदवारों के खिलाफ चुनाव लड़ने वाले पार्टी के नेताओं के खिलाफ आगे भी सख्त कार्रवाई की जाएगी। माना जा रहा है कि पार्टी अपने नेताओं को लेकर जदयू के मन में किसी प्रकार की गलतफहमी नहीं पैदा होने देना चाहती।

BJP

अनुशासनहीनता नहीं होगी बर्दाश्त

पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल का कहना है कि निष्कासित किए गए बागी प्रत्याशी एनडीए के खिलाफ चुनाव लड़ रहे थे। उन्होंने कहा कि इससे एनडीए के साथ ही भाजपा की छवि भी धूमिल हो रही थी। पार्टी में अनुशासनहीनता को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पार्टी के इस कदम से बागी तेवर अपनाने वाले अन्य नेताओं में भी सख्त संदेश जाएगा।

ये भी पढ़ें...FATF की बैठक से पहले पाक की खुली पोल, अब ब्लैक लिस्ट में जाने का खतरा बढ़ा

जदयू ने किया कार्रवाई का स्वागत

उधर एनडीए में भाजपा के सहयोगी दल जदयू ने बागी नेताओं पर की गई इस कार्रवाई का स्वागत किया है। जदयू नेता आरसीपी सिंह ने कहा कि चार दलों ने मिलकर गठबंधन बनाया है और इसके बाहर जो लोग भी चुनाव लड़ रहे हैं, उनका कोई मतलब नहीं है।

जदयू के एक और नेता और मंत्री संजय झा ने भी भाजपा की ओर से की गई इस कार्रवाई को अच्छा कदम बताया है। उन्होंने कहा कि बागी नेता चुनाव मैदान में उतर कर भ्रम फैलाने की कोशिश कर रहे थे। भाजपा की ओर से की गई सख्त कार्रवाई से ऐसे लोगों में साफ संदेश जाएगा। उन्होंने दावा किया कि एनडीए गठबंधन को इस बार 2010 के विधानसभा चुनाव से भी ज्यादा सीटें मिलेंगी।

ये भी पढ़ें...GST काउंसिल की बैठक खत्‍म, इस बड़े मुद्दे पर नहीं बात, जानिए क्या है वजह

बिहार विधानसभा चुनाव में इस बार जदयू 115 सीटों पर चुनाव लड़ रही है जबकि भाजपा की ओर से 112 सीटों पर प्रत्याशी उतारे जा रहे हैं। जदयू ने अपने कोटे से जीतन राम मांझी की पार्टी हम को 7 सीटें दी हैं जबकि भाजपा ने अपने कोटे से मुकेश साहनी की वीआईपी को 9 सीटें दी हैं।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story