Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

जहरीले सांपों का कहर: इधर से उधर भाग रहे लोग, मौतों से मचा हडकंप

गोपालगंज के कई इलाकों में करीब ढाई महीने से बाढ़ का कहर जारी है। इस दौरान बाढ़ के पानी में कई विषैले सांप भी बहकर यहां आ गए हैं। इन सांपों की वजह से जिले में सर्पदंश की घटनाएं भी लगातार बढ़ी हैं।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 3 Oct 2020 8:21 AM GMT

जहरीले सांपों का कहर: इधर से उधर भाग रहे लोग, मौतों से मचा हडकंप
X
जहरीले सांपों का कहर: इधर से उधर भाग रहे लोग, मौतों से मचा हडकंप
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बिहार: मानसून आने पर हर साल बिहार को बाढ़ का प्रकोप झेलना पड़ता है। बाढ़ ख़त्म होने के बाद बीमारियां और सर्पदंश की घटनाएं बढ़ जाती हैं। गोपालगंज में पिछले दिनों ऐसी ही घटनाएं सामने आई हैं। बताया जा रहा है कि महज 6 दिनों करीब 36 सर्पदंश की घटनाए हुई हैं। जिसमे दो मासूम बच्चों समेत चार लोगों की मौत हो चुकी है। ये सरकारी आंकड़े हैं। सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड से लिए गए हैं। वहीं अगर गैरसरकारी आंकड़ों की बात करें तो जिले में एक हफ्ते में सर्पदंश के करीब 60 मामले सामने आए हैं।

विषैले सांप भी बहकर यहां आ गए हैं

बता दें कि गोपालगंज के कई इलाकों में करीब ढाई महीने से बाढ़ का कहर जारी है। इस दौरान बाढ़ के पानी में कई विषैले सांप भी बहकर यहां आ गए हैं। इन सांपों की वजह से जिले में सर्पदंश की घटनाएं भी लगातार बढ़ी हैं। बावजूद इसके गोपालगंज स्वास्थ्य विभाग सबक लेने के तैयार नहीं है। यहां सर्पदंश की दवा एंटीवेनम इंजेक्शन का अभाव है। पीएचसी ही नहीं सदर अस्पताल में भी सर्पदंश के इंजेक्शन का अभाव है।

bihar flood- snake in gopalganj-3

सर्पदंश की घटनाएं बढ़ी, स्वास्थ्य विभाग के पास नहीं है एंटीवेनम इंजेक्शन

इस इंजेक्शन के नहीं होने मरीजों की मुश्किल बढ़ी हुई है, कई बार उनकी मौत हो जाती है या फिर उन्हें महंगे दाम में बाजार से इंजेक्शन खरीदना पड़ता है। वहीं, जिला स्वास्थ्य विभाग की ओर से दावा किया गया था कि बाढ़ से पहले ही जिले में सर्पदंश की पर्याप्त दवा का स्टॉक कर लिया जाएगा।

ये भी देखें: युद्ध में उजड़े हजारों घर: तबाह हुए गांव के गांव, जान बचाने को मजबूर सभी

सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड के आंकड़ों के मुताबिक, 6 दिनों में 36 मरीजों को सांप काटने को लेकर यहां भर्ती कराया गया है। रोजाना करीब 6 मरीज सर्पदंश के शिकार हुए हैं।

bihar flood- snake in gopalganj-3

सर्पदंश से दो बच्चों समेत 4 की मौत

आंकड़ों से पता चला है कि एक सप्ताह में 60 लोग सर्पदंश के शिकार हुए हैं। जिसमें अलग-अलग थाना क्षेत्रों में दो बच्चों समेत 4 लोगों की मौत सर्पदंश से हुई हैं। फुलवरिया के सवन्हा में 8 वर्षीय एक बच्चे मौत हुई है। नगर थाना इलाके के हजियापुर में चन्दन कुमार, मोहम्मदपुर की ममता कुमारी और नगर थाना के बंजारी टोला की मीना देवी को सर्पदंश के बाद सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अस्पताल में एंटीवेनम इंजेक्शन की कमी को लेकर सीएस डॉ. टीएन सिंह से बात की गई तो उन्होंने कुछ भी बताने से इनकार कर दिया।

ये भी देखें: IPL में धमाल मचा रहा ये क्रिकेटर, कभी किट खरीदने को नहीं थे पैसे, ऐसी है कहानी

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story