Top

बिहार चुनाव का ऐलान: इस तारीख से पहले होंगे इलेक्शन, तैयारियां हुई तेज

चुनाव को लेकर आयोग ने बड़ी घोषणा की है। बिहार चुनाव के साथ देश की 64 विधानसभा सीटों और एक लोकसभा सीट पर उपचुनाव होगा। इस घोषणा में चुनाव आयोग ने कहा कि 29 नवंबर से पहले बिहार में विधानसभा चुनाव करा लिया जाएगा। 

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 4 Sep 2020 9:37 AM GMT

बिहार चुनाव का ऐलान: इस तारीख से पहले होंगे इलेक्शन, तैयारियां हुई तेज
X
चुनाव को लेकर आयोग ने बड़ी घोषणा की है। बिहार चुनाव के साथ देश की 64 विधानसभा सीटों और एक लोकसभा सीट पर उपचुनाव होगा। इससे संबंधित ऐलान चुनाव आयोग ने किया
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली। चुनाव को लेकर आयोग ने बड़ी घोषणा की है। बिहार चुनाव के साथ देश की 64 विधानसभा सीटों और एक लोकसभा सीट पर उपचुनाव होगा। इससे संबंधित ऐलान चुनाव आयोग ने किया है। इस घोषणा में चुनाव आयोग ने कहा कि 29 नवंबर से पहले बिहार में विधानसभा चुनाव करा लिया जाएगा।

ये भी पढ़ें... भारत को मिली जीत, पाकिस्तान को हथियार नहीं देगा रूस

29 नवंबर से पहले चुनाव

बिहार में विधानसभा चुनाव की तारीख का चुनाव आयोग ने ऐलान कर दिया है। ऐसे में बिहार में अब 29 नवंबर से पहले चुनाव हो जाएंगें। इस अलावा राज्य से आज की बड़ी खबर ये है कि बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी महागठबंधन का साथ छोड़कर एनडीए में वापस शामिल हो गए हैं।

बिहार की राजनीति में एक बार फिर गरमाहट आ गई है। पूर्व सीएम जीतनराम मांझी के एनडीए में आने से पहले ही भाजपा और एलजेपी के रिश्तों में कड़वाहट आ गई है। ऐसे में सामने आई रिपोर्ट के अनुसार, हम के दावे वाली सीटों से भाजपा की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

ये भी पढ़ें...सिपाही ने SSI को मारी गोली: छुट्टी को लेकर हुआ विवाद, दोनों अस्पताल में भर्ती

बिना शर्त एनडीए में शामिल हुए

इससे पहले ही राजद से जदयू में शामिल हुए विधायकों की सीटों पर प्रदेश की भाजपा अपनी आपत्ति दर्ज करा चुकी है। अब ‘हम’ के साथ भी पेंच फसता दिख रहा है। वैसे तो मांझी बिना शर्त एनडीए में शामिल हुए हैं लेकिन सूत्रों से मिली रिपोर्ट के अनुसार, ‘हम’ के नेता 7-8 सीटों पर अपनी मजबूत दावेदारी मान रहे हैं।

ऐसे में हम सेक्युलर के नेताओं के हिसाब से उनकी संभावित 7 सीटें और जदयू में राजद से आए 7 विधायकों की सीटें यानी कुल 14 सीटों में से कम से कम 10 पर भाजपा और लोजपा से अनबन की नौबत आ सकती है।

मांझी के एनडीए में आने से जदयू बेहद खुश है। पार्टी ने उनकी बेहद तारीफ भी की है। जेडीयू का कहना है कि इनके जैसे कामयाब नेता को कम कर नहीं आंका जा सकता है और यह भी कि उनके आने से एनडीए के सभी घटकों को फायदा होगा।

ये भी पढ़ें...कमलापतिजी को तब राजीव ने नहीं बख्शा था, प्रणव को तो निकाल ही दिया

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story