Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

बिहार विधानसभा में जमकर बवाल, विधायकों ने एक दूसरे पर चलाए लात घूंसे

दूसरी पाली में स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के बजट पर चर्चा की जा रही थी। तेजस्वी के शराबबंदी का मुद्दा उठाते ही सत्ता पक्ष की तरफ टोकाटोकी की जाने लगी। उप मुख्‍यमंत्री तारकशिोर प्रसाद ने कहा कि तेजस्‍वी यादव मुद्दे पर बात करें।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 13 March 2021 1:22 PM GMT

बिहार विधानसभा में जमकर बवाल, विधायकों ने एक दूसरे पर चलाए लात घूंसे
X
बिहार विधानसभा में धक्कामुक्की, हाथा पाई और गाली-गलौज सब कुछ हुआ है। विधायकों में धक्का-मुक्की की वजह से कुर्सियां भी टूट गईं।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना: बिहार विधानसभा में शुक्रवार को जमकर हंगामा हुआ। विधानसभा में धक्कामुक्की, हाथा पाई और गाली-गलौज सब कुछ हुआ। विधायकों में धक्का-मुक्की की वजह से कुर्सियां भी पलट गईं। यह बवाल मुजफ्फरपुर शराब मामले को लेकर हुआ।

भू-राजस्‍व मंत्री रामसूरत राय से इस्‍तीफे की मांग कर रहा विपक्ष ने सदन में जमकर बवाल काटा। हंगामे के बाद विपक्ष ने सदन से वॉकआउट कर दिया और राजभवन मार्च किया। शराब का मुद्दा अभी गरम था ही कि दूसरी पाली में भी नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने अचानक फिर से शराबबंदी का मामला उठा दिया और भू एवं राजस्‍व मंत्री रामसूरत राय की बात करने लगे।

दूसरी पाली में स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के बजट पर चर्चा की जा रही थी। तेजस्वी के शराबबंदी का मुद्दा उठाते ही सत्ता पक्ष की तरफ टोकाटोकी की जाने लगी। उप मुख्‍यमंत्री तारकशिोर प्रसाद ने कहा कि तेजस्‍वी यादव मुद्दे पर बात करें। इसपर तेजस्‍वी ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष का पद संवैधानिक होता है, लेकिन उप मुख्‍यमंत्री का पद संवैधानिक नहीं होता है। इसपर सत्‍ता रूढ़ पार्टी के विधायक भड़क गए।

ये भी पढ़ें...87 साल बाद जुड़ा कनेक्शन: भूकंप ने किया था ये हाल, अब दोबारा शुरू रेल नेटवर्क

Bihar

तेजप्रताप ने कहा कुछ ऐसा कि बवाल मच गया

बीजेपी के विधायक संजय सरावगी और मंत्री जनक राम ने तेजस्वी के बयान कड़ी आपत्ति दर्ज कराई। इसके बाद आरजेडी विधायक तेज प्रताप यादव ने सत्‍तारूढ़ दल के विधायकों की तरफ अंगुली दिखाकर कुछ ऐसी बात कही जिसके बाद बवाल मच गया। इसके बाद सत्ता पक्ष और विपक्ष के विधायक आमने-सामने आ गए। दोनों तरफ से गाली-गलौज होने लगी और आपस में भिड़ गए। इस बीच तेजस्‍वी अपना भाषण दिए जा रहे थे। उन्होंने कहा कि मुंह खोलते ही सत्‍ता पक्ष कांपने लगता है।

इसके बाद देखते ही देखते बवाल मच गया। बवाल इतना बढ़ गया कि मार्शल को बुलाना पड़ा और विधायकों को हटाया गया। बढ़ता बवाल देख विधानसभा अध्‍यक्ष विजय कुमार सिन्‍हा ने सदन की कार्यवाही स्‍थगित कर दी। इसके बाद भी विपक्ष के नेता नारेबाजी करते रहे। अध्‍यक्ष ने सख्‍त लहजे में कहा जो आज विधानसभा में हुआ वह नहीं होना चाहिए।

ये भी पढ़ें...किसान मांग रहा न्याय: 2 दिन पैदल चलकर पहुंचा DM ऑफिस, लगाई इंसाफ की गुहार

सत्‍ता पक्ष और विपक्ष को मर्यादा का ख्‍याल रखना चाहिए

विधानसभा अध्‍यक्ष ने कहा कि कार्यवाही में इस तरह की चीजें बर्दाश्‍त नहीं की जाएगी। उन्‍होंने नाराजगी जताते हुए कहा कि फिर कभी ऐसी नौबत आई तो कड़े कदम उठाए जाएंगे। सत्‍ता पक्ष और विपक्ष को मर्यादा का ख्‍याल रखना चाहिए। आज जो कुछ हुआ सदन उससे लज्जित हुआ है।

दोस्तों देश दुनिया की और को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story