अडानी ग्रुप को मिला मुंबई एयरपोर्ट के संचालन का भी अधिकार

अडानी समूह इस हिस्सेदारी के लिए 15,000 करोड़ रुपये का भुगतान कर सकता है। इतना ही नहीं मुंबई में बन रहे दूसरे हवाई अड्डे नवी मुंबई एयरपोर्ट का भी मालिकाना हक अडानी समूह को मिल सकता है, क्योंकि उसमें मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड MIAL की 74 फीसदी हिस्सेदारी है।

mumbai airport

अडानी ग्रुप को मिला मुंबई एयरपोर्ट के संचालन का भी अधिकार (फाइल फोटो)

अहमदाबाद: अडानी ग्रुप ने मुंबई एयरपोर्ट संचालन का अधिकार हासिल कर लिया है। कंपनी ने इसकी 74 फीसदी की हिस्सेदारी खरीद ली है। इसी के साथ अब अडानी समूह पीपीपी मॉडल के तहत देश के छह एयरपोर्टों का संचालन करने वाली देश की दूसरी बड़ी एयरपोर्ट ऑपरेटर हो गई है। इस ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी हैं।

GVK ADL एक होल्डिंग कंपनी है जिसके माध्यम से GVK Group की मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (“MIAL”) में 50.50% इक्विटी हिस्सेदारी है, जो नवी मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (“NMIAL”) में 74% इक्विटी हिस्सेदारी रखती है। अडानी समूह ने इस एयरपोर्ट के अन्य हिस्सेदारों एयरपोर्ट्स कंपनी साउथ अफ्रीका (ACSA) और बिडवेस्ट ग्रुप से भी उनकी क्रमश: 10 फीसदी और 13.5 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी है।

अडानी एयरपोर्ट होल्डिंग्स लिमिटेड (“एएएचएल”), अपने हवाई अड्डों के कारोबार के लिए अदानी समूह की प्रमुख होल्डिंग कंपनी (और अडानी एंटरप्राइजेज लिमिटेड (“एईएल”)) ने जीवीके एयरपोर्ट डेवलपर्स के ऋण का अधिग्रहण करने के लिए एक समझौता किया है।

gautam adani

जीवीके समूह व एएएचएल में सहमति

जीवीके समूह और एएएचएल ने सहमति व्यक्त की है कि एएएचएल जीवीके पावर और इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड द्वारा दी गई गारंटी को जारी करने के लिए जीवीके के साथ-साथ एक स्टैंड-स्टिल की पेशकश करेगा, जो उसके द्वारा अर्जित ऋण के संबंध में है।

अडानी समूह ACSA से 23.5% इक्विटी हिस्सेदारी और MIAL में बिडवेस्ट के अधिग्रहण को पूरा करने के लिए भी कदम उठाएगा जिसके लिए उसने CCI अनुमोदन प्राप्त किया है।

इसे भी पढ़ें  अडानी ग्रुप को एयरपोर्ट सौंपने पर सियासत गरमाई, केरल ने किया विरोध

जीवीकेएडीएल के ऋण के अधिग्रहण पर, अडानी समूह आवश्यक कस्टमरी और विनियामक अनुमोदन प्राप्त करने के लिए कदम उठाएगा, जैसा कि एमआईएएल में नियंत्रण हासिल करने के लिए आवश्यकता हो सकती है।

adani letter

अडानी समूह इस हिस्सेदारी के लिए 15,000 करोड़ रुपये का भुगतान कर सकता है। इतना ही नहीं मुंबई में बन रहे दूसरे हवाई अड्डे नवी मुंबई एयरपोर्ट का भी मालिकाना हक अडानी समूह को मिल सकता है, क्योंकि उसमें मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड MIAL की 74 फीसदी हिस्सेदारी है।

अडानी ग्रुप को अहमदाबाद, लखनऊ , मंगलौर, जयपुर, तिरुअनंतपुरम और गुवाहाटी एयरपोर्ट्स के संचालन का अधिकार मिला हुआ है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App