गई दर्जनों नौकरियां: हवा में उड़ने वाले आज रस्ते पर, ताबड़तोड़ हुई छंटनी

एयर इंडिया के दर्जनों पायलटों  की नौकरी चली गई है। पायलटों के अलावा कई क्रू मेंबर्स  के कॉन्‍ट्रैक्‍ट भी  कार्मिक विभाग  ने रिन्‍यू नहीं करके बाहर का रास्‍ता दिखा दिया है। पायलटों ने नौकरी चले जाने पर कार्मिक विभाग जिम्मेदार ठहराया और इस कार्रवाई अवैध बताया है । उन्‍होंने इस मुद्दे पर एयर इंडिया प्रबंधन से हस्‍तक्षेप की मांग की है।

Published by suman Published: August 15, 2020 | 7:08 pm
Modified: August 15, 2020 | 7:14 pm
air india

एक रात में दर्जनों पायलट्स की नौकरी छीनी, क्रू मेंबर्स को भी किया बाहर

नई दिल्ली एयर इंडिया के दर्जनों पायलटों  की नौकरी चली गई है। पायलटों के अलावा कई क्रू मेंबर्स  के कॉन्‍ट्रैक्‍ट भी  कार्मिक विभाग  ने रिन्‍यू नहीं करके बाहर का रास्‍ता दिखा दिया है। पायलटों ने नौकरी चले जाने पर कार्मिक विभाग जिम्मेदार ठहराया और इस कार्रवाई अवैध बताया है । उन्‍होंने इस मुद्दे पर एयर इंडिया प्रबंधन से हस्‍तक्षेप की मांग की है।

यह पढ़ें….मोदी की भौकाली कार: इससे लाल किले पहुंचे थे PM, बड़े से बड़े हथियार भी बेअसर

 

अवैध टर्मिनेशन लेटर

इंडियन कमर्शियल पायलट्स एसोसिएशन ने एयर इंडिया के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक राजीव बंसल कोएक पत्र लिखा है। आईसीपीए के पत्र में कहा गया है कि 50 पायलटों को कंपनी के सेवा नियमों के उल्लंघन को लेकर कार्मिक विभाग से अवैध टर्मिनेशन लेटर मिले हैं।

50 पायलटों की सेवाएं खत्म

संगठन ने एक ट्वीट में भी कहा है कि बिना उचित प्रक्रिया अपनाए रातों-रात 50 पायलटों की सेवाएं समाप्त कर दी गई हैं। इस महामारी के समय में राष्ट्र की सेवा करने वालों के लिए यह झटका है। इसके अलावा क्रू मेंबर्स के कॉन्‍ट्रैक्‍ट रिन्‍यू नहीं किए गए हैं, जो पांच साल का कार्यकाल पूरा कर चुके हैं।

 

air india

 

दक्षिणी क्षेत्र में 18 केबिन क्रू की सेवाएं समाप्त कर दी गईं हैं। पायलटों के संगठन ने ने एयर इंडिया के सीएमडी को लिखे पत्र में कहा है कि पिछले साल इस्‍तीफा देने के बाद 6 महीने के नोटिस पीरियड के बीच वापस ले चुके पायलटों को गुरुवार रात 10 बजे अचानक सेवामुक्त कर दिया गया।

यह पढ़ें….‘रेड अलर्ट’ हुआ जारी: 24 घंटे के अंदर मचेगी तबाही, विभाग ने दी जानकारी

 

पायलटो का आरोप

क्रू को उनके इस्तीफों की स्वीकृति और उसके बाद के नोटिस पीरियड के बारे में सूचित नहीं किया गया था। कार्यालय 13 अगस्त को बंद होने के बाद जाहिर है कि इन पायलटों की सेवाएं भी समाप्त हो गईं थीं। इसके बाद भी एक पायलट की 14 अगस्त को एआई 804/506 को संचालित करने की ड्यूटी लगाई गई। हालांकि, इन फ्लाइट्स को उड़ाने वाले पायलट 13 अगस्त के बाद तकनीकी रूप से एयर इंडिया के कर्मचारी नहीं थे।

आईसीपीए ने कहा है कि सेवाएं समाप्‍त होने वाद फ्लाइट ड्यूटी लगाना सुरक्षा को लेकर हास्यस्पाद और गंभीर उल्लंघन का मामला है।

 

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App