कोरोना ने दिया भारत को झटका, मूडीज ने घटाया GDP ग्रोथ रेट

अर्थव्यवस्था की मार झेल रहे भारत के लिए एक और आर्थिक झटका लगा है। मूडीज इनवेस्टर्स सर्विस ने वर्ष 2020 के लिए भारत की GDP ग्रोथ अनुमान 6.6 फीसदी से घटाकर 5.4 फीसदी कर दिया है।

आर्थिक सर्वे

आर्थिक सर्वे

नई दिल्ली: अर्थव्यवस्था की मार झेल रहे भारत के लिए एक और आर्थिक झटका लगा है। मूडीज इनवेस्टर्स सर्विस ने वर्ष 2020 के लिए भारत की GDP ग्रोथ अनुमान 6.6 फीसदी से घटाकर 5.4 फीसदी कर दिया है। साथ ही मूडीज ने 2021 में जीडीपी बढ़त का अनुमान भी 6.7 फीसदी से घटाकर 5.8 फीसदी कर दिया है। मूडीज ने माना कि भारत की इकॉनमी स्थिरता की ओर बढ़ रही है, लेकिन प्रक्रिया बहुत धीमी है।

ये भी पढ़ें:पाकिस्तान दुनिया भर में फैला रहा था ये बड़ा झूठ, भारत ने दिया करारा जवाब

बढ़ने के आसार कम…

मूडीज ने ग्लोबल आउटलुक जारी करते हुए बताया कि भारत की आर्थिक ग्रोथ बीते हुए दो सालों में काफी तेजी से कम हुई है और अभी इसके संभलने की संभावना भी कम ही है। 2019 की तीसरी तिमाही में भारत की जीडीपी ग्रोथ 5 फीसदी से नीचे गिरते हुए 4.5 फीसदी पर पहुंच गई थी, जो पिछले 11 सालों का सबसे निचला स्तर था। हालांकि जनवरी महीने में सर्विस और मैन्युफैक्चरिंग इंडेक्स में कुछ उछाल आया है।

चीन का अनुमान भी हुआ कम….

मूडीज ने भारत के साथ इस साल चीन की ग्रोथ रेट अनुमान को भी घटाकर 5.2 फीसदी और 2021 के लिए 2.4 फीसदी कर दिया है। मूडीज का मानना है कि साल 2020 में G-20 देशों की इकोनॉमी में 2.4 फीसदी बढ़त होने का अनुमान है।

कोरोना वायरस का असर….

मूडीज का मानना है कि कोरोना वायरस की वजह से वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुस्ती आई है। जिस वजह से भारत की GDP ग्रोथ में बढ़ोत्तरी की रफ्तार कम हो सकती है। मूडीज ने कहा, कि बजट 2020 में मांग में कमी के लिए ज्यादा कुछ नहीं किया गया।

ये भी पढ़ें:पकड़ी गई चीन-पाकिस्तान की चोरी: नेवी ने पकड़ा संदिग्ध जहाज, अब होगी कार्रवाई

मूडीज ने बताई वजह…

मूडीज ने बोला कि हाल के PMI जैसे आंकड़ों से यह पता चलता है कि भारतीय अर्थव्यवस्था में स्थिरता आई है और मौजूदा तिमाही में कुछ सुधार होने लगा है। लेकिन हमें लगता है कि अब सुधार पहले की उम्मीद से कम रफ्तार से होगा। इसलिए हमने अपना ग्रोथ अनुमान घटाया है।