Top

YES BANK ग्राहकों की बल्ले-बल्ले, जल्द खत्म होगा मोराटोरियम पीरियड

यस बैंक के संकट को रिजर्व बैंक और वित्त मंत्रालय ने जिस तरह संभाला उसकी तारीफ करनी चाहिए। पिछले सात कारोबारी सेशन में शेयर में 1000 पर्सेंट का उछाल आया है

Aradhya Tripathi

Aradhya TripathiBy Aradhya Tripathi

Published on 17 March 2020 11:35 AM GMT

YES BANK ग्राहकों की बल्ले-बल्ले, जल्द खत्म होगा मोराटोरियम पीरियड
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: यस बैंक के संकट को रिजर्व बैंक और वित्त मंत्रालय ने जिस तरह संभाला उसकी तारीफ करनी चाहिए। शायद यही वजह है कि महज सात कारोबारी सेशन में इसका शेयर अपने न्यूनतम स्तर के मुकाबले 1000 पर्सेंट चढ़ चुका है। 6 मार्च को इसके शेयर का भाव कारोबार के दौरान एक समय 5.65 रुपये तक पहुंच गया था। अभी इसका शेयर रोजाना उछाल मार रहा है और यह 57 रुपये के पार कारोबार कर रहा है। मूडीज ने भी यस बैंक के शेयर का आउटलुक पॉजिटिव कर दिया है।

एक महीने के अंदर होगा बैंक का पुनर्गठन

पांच मार्च को यस बैंक का शेयर 37 रुपये के करीब था। छह मार्च को इसमें 56 पर्सेंट की भारी गिरावट आई और यह 16 रुपये पर बंद हुआ। दरअसल पांच मार्च को ही रिजर्व बैंक ने यस बैंक के ग्राहकों के लिए एक महीने के मोराटोरियम पीरियड का एलान किया था। ग्राहक इस दौरान एक महीने में अधिकतम 50 हजार रुपये ही निकाल सकते हैं।

ये भी पढ़ें- CORONA IN INDIA: किस राज्य में हैं कितने मामले, यहां जानें राज्यवार पूरी लिस्ट

मामला गंभीर होता उससे पहले रिजर्व बैंक ने यस बैंक के बोर्ड को भंग कर दिया और अपना प्रतिनिधि बिठा दिया। उसके बाद से इसमें लगातार तेजी आने लगी। रिजर्व बैंक ने कहा कि एक महीने के भीतर बैंक का पुनर्गठन किया जाएगा, जिसके बाद सार्वजनिक क्षेत्र के देश के सबसे बड़े बैंक SBI ने कहा कि वह यस बैंक में 2450 करोड़ निवेश करेगा। यही वह घोषणा थी, जिसके बाद निवेशकों और जमाकर्ताओं का भरोसा लौटा।

SBI के आते निवेशकों की लगी लाइन

SBI के सामने आते ही यस बैंक में निवेश करने वालों की लाइन लग गई। एसबीआई 7250 करोड़ रुपये निवेश करेगा। HDFC और ICICI यस बैंक में 1000-1000 करोड़ रुपये निवेश करेगा। इसके अलावा ऐक्सिस बैंक 600 करोड़, कोटक महिंद्रा बैंक 500 करोड़, बंधन बैंक 300 करोड़, फेडरल बैंक 300 करोड़, आईडीएफसी बैंक 250 करोड़ निवेश करेगा।

ये भी पढ़ें- टोक्यो 2020: कुछ स्थानीय कार्यक्रमों के अलावा ओलंपिक टॉर्च रिले स्थगित

कल खत्म होगा मोराटोरियम पीरियड

SBI की स्कीम के मुताबिक, पुनर्गठन के बाद तमाम बैंक मिलकर यस बैंक में लिक्विडिटी बनाए रखने के लिए 30 हजार करोड़ रुपये का फंड जमा करेंगे ताकि बैंक का कामकाज आसानी से चल सके।

ऐसा इसलिए भी किया जा रहा है कि छोटे जमाकर्ताओं में सकारात्मक संदेश जाए और मोराटोरियम पीरियड के बाद वे बैंक से जमा पूंजी नहीं निकालें।

ये भी पढ़ें- कोरोना वायरसः BMC ने विशेष फंड को दी मंजूरी, नगर आयुक्त कर सकेंगे खर्च

इधर जमाकर्ताओं के लिए एक अच्छी खबर ये भी है कि 18 मार्च शाम 6 बजे के बाद मोराटोरियम पीरियड खत्म हो जाएगा।

Aradhya Tripathi

Aradhya Tripathi

Next Story